Main Media

Seemanchal News, Kishanganj News, Katihar News, Araria News, Purnea News in Hindi

Support Us

स्मार्ट मीटर बना साइबर ठगों के लिए ठगी का नया औजार

Main Media Logo PNG Reported By Main Media Desk |
Updated On :

बढ़ती महंगाई के बीच एक तरफ लोग जहाँ स्मार्ट प्रीपेड मीटर पर अधिक बिल आने से परेशान हैं, तो वहीं दूसरी तरफ साइबर क्राइम का गिरोह भी स्मार्ट मीटर को लेकर ठगी करने के लिए सक्रिय हो गया है। बिजली उपभोक्ताओं को स्मार्ट प्रीपेड मीटर का बिल अपडेट करने के नाम पर बैंक अकाउंट खाली कर चूना लगाया जा रहा है।

सीमांचल में इस गिरोह द्वारा इन दिनों उपभोक्ताओं को चूना लगाने की कोशिश की जा रही है। यह गिरोह बिजली उपभोक्ताओं के मोबाइल पर पहले रिचार्ज से संबंधित मैसेज भेजता है। साथ ही एक मोबाइल नम्बर से सम्पर्क करने को कहा जाता है। उस नम्बर पर बात करने पर बिजली बिल अपडेट करने का झांसा देकर TeamViewer QuickSupport app इंस्टॉल करने को कहा जाता है।

Also Read Story

विदेशों में काम की चाहत में ठगों के चंगुल में फंस रहे गरीब

गरीबों को रोजगार देने वाला मनरेगा कैसे बना भ्रष्टाचार का अड्डा

एएमयू किशनगंज की राह में कैसे भाजपा ने डाला रोड़ा

कोसी क्षेत्र में क्यों नहीं लग पा रहा अपराध पर अंकुश

स्कूलों में शुक्रवार को छुट्टी: आधी हकीकत, आधा फसाना

अररिया में हिरासत में मौतें, न्याय के इंतजार में पथराई आंखें

Watch: सचिव और मुखिया की मिलीभगत से पंचायत में लाखों का घोटाला

कटिहार में 16 साल की लड़की से ‘गैंगरेप’ और हत्या का सच क्या है?

अभियान किताब दान: पूर्णिया में गांव गांव लाइब्रेरी की हकीकत क्या है?

TeamViewer QuickSupport या AnyDesk Remote Desktop ऐसे app हैं, जिनके जरिए दूर से ही कोई किसी के फ़ोन को एक्सेस किया जा सकता है। इसके लिए बस एक ID सामने वाले को बताना है। इसी ID को ठग Customer ID बता कर उपभोक्ता से मांग लेता है।

फिर उसके बाद उसके फ़ोन में मौजूद banking app से पैसा निकाल लेता है या फिर उपभोक्ता के WhatsApp को इस्तेमाल कर के किसी और को ठगने की कोशिश करता है।

ऐसा ही एक नम्बर से पिछले दिनों किशनगंज के एक बिजली उपभोक्ता के नम्बर पर मैसेज आया। मैसेज में लिखा था- “प्रिय उपभोक्ता बिजली विभाग के तरफ से आज रात 9 बजे आपका बिजली कनेक्शन काट दिया जाएगा, क्यूंकि आपका पिछले महीना का बिल अपडेट नहीं किया गया है। कृपया तुरंत बिजली विभाग के अधिकारी से संपर्क करें।”

मैसेज देखते ही उपभोक्ता सीधे बिजली विभाग पहुंच गया। वहां बिजली विभाग के अधिकारी के समक्ष जालसाज व्यक्ति को उस नंबर से कॉल कर बातचीत की। जरा आप भी सुने बिजली उपभोक्ता ने किस तरह से उस जालसाज से बिजली विभाग के अधिकारियों के समक्ष बात चीत की।

ऐसा ही मैसेज एक व्यापारी राकेश कुमार चौधरी के पास भी आया। उन्होंने कुछ दिन पूर्व स्मार्ट मीटर लगाया था। उन्होंने सूझबूझ से काम लिया और ठगी का शिकार होने से बच गए।

मामले को लेकर किशनगंज बिजली विभाग के अधिकारी ने लोगों को जागरूक कर कहा कि ऐसे फेक कॉल और मैसेज से बचें। अगर बिजली से संबंधित किसी प्रकार का मैसेज आता है, तो बिजली विभाग के कार्यालय से संपर्क करें।


‘मीटर को ईंटा लेके हम फोड़ देंगे’ – स्मार्ट मीटर बना आम लोगों का सिरदर्द

सरकारी नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी, पीड़ितों ने एसपी से की शिकायत


सीमांचल की ज़मीनी ख़बरें सामने लाने में सहभागी बनें। ‘मैं मीडिया’ की सदस्यता लेने के लिए Become A Member बटन पर क्लिक करें।

Become A Member

This story has been done by collective effort of Main Media Team.

Related News

Exclusive: पुणे हादसा पर बिहारी मजदूरों ने किया सनसनीखेज खुलासा

लेटलतीफी से अररिया-गलगलिया रेल प्रोजेक्ट की लागत में चार गुना उछाल

ट्रक में तहखाना, 200 Km के एक लाख रुपए – Seemanchal से Northeast में गांजे की तस्करी का नेटवर्क

अररिया रेप: बहुत पहले से अपराध में लिप्त रहा है मेजर और उसका परिवार

Purnea University में VC रहते डॉ राजेश सिंह ने कीं भारी वित्तीय गड़बड़ियां!

Exclusive: शादी की आतिशबाजी को पाक की जीत से जोड़ने के पीछे बजरंग दल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latests Posts

आजादी से पहले बना पुस्तकालय खंडहर में तब्दील, सरकार अनजान

Ground Report

स्कूल जर्जर, छात्र जान हथेली पर लेकर पढ़ने को विवश

सुपौल: पारंपरिक झाड़ू बनाने के हुनर से बदली जिंदगी

गैस कनेक्शन अब भी दूर की कौड़ी, जिनके पास है, वे नहीं भर पा रहे सिलिंडर

ग्राउंड रिपोर्ट: बैजनाथपुर की बंद पड़ी पेपर मिल कोसी क्षेत्र में औद्योगीकरण की बदहाली की तस्वीर है

मीटर रीडिंग का काम निजी हाथों में सौंपने के खिलाफ आरआरएफ कर्मी