Main Media

Seemanchal News, Kishanganj News, Katihar News, Araria News, Purnea News in Hindi

Support Us

“2-4 नारियल कम बिकेगा, पर जान तो बची रहेगी”

नागालैंड में कटिहार के चार मजदूरों की मौत

Pune में स्लैब गिरने से Katihar के पांच मजदूरों की मौत

Migration की अन्य ख़बरें

कश्मीर में मजदूरों की हत्या: बेहतर जिंदगी, मकान का सपना रह गया अधूरा

महादलित समुदाय से आने वाले अररिया जिले के रानीगंज प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत बौसी के रहने वाले राजा की सरकारी उम्र 14 साल ही थी, लेकिन उनके रिश्तेदार उसकी उम्र 18-19 साल बताते हैं। मगर उसकी समझदारी बताती है कि वह 18-19 का ही रहा होगा, तभी तो वह रोटी, कपड़ा और मकान की चिंता में घुलता रहता था। वह झोपड़ी में नहीं रहना चाहता था। वो एक ठोस मकान बनाना चाहता था, इसलिए अच्छी कमाई की चाहत उसे घर से 2000 किलोमीटर दूर कश्मीर ले गई थी। वहां 17 अक्टूबर को चरमपंथियों ने उसकी हत्या कर दी।

अररिया का मज़दूर जम्मू से लापता, पुलिस का चक्कर लगा रहे पिता

अररिया जिले के नगर थाना क्षेत्र की कमलदाहा पंचायत का निवासी 23 वर्षीय मो. अब्बास अपने पिता और बड़े भाई के साथ दो महीने पहले कश्मीर गया था। 15 अक्टूबर को तीनों गांव लौट रहे थे, तभी जम्मू स्टेशन पर अब्बास लापता हो गया।

अररिया: मजदूरी करने गये थे जम्मू-कश्मीर, अब परिवार को लाश का इंतजार

पिछले 16 दिनों में गैर-कश्मीरी नागरिकों पर हमले की ये तीसरी वारदात थी। इससे पहले 5 अक्टूबर को बिहार के भागलपुर के रहने वाले एक व्यक्ति को गोली मार दी गई थी। वे श्रीनगर में गोलगप्पा बेचते थे। इसके बाद 16 अक्टूबर की शाम अलग-अगल जगहों पर आतंकियों ने बिहार के बांका और उत्तर प्रदेश के रहने वाले दो व्यक्तियों की हत्या कर दी थी।

जिस गाँव से मोदी ने रोज़गार योजना शुरू की, वहाँ के ज़्यादातर मज़दूर पलायन कर गए

PM मोदी ने बिहार के जिस गाँव से गरीब कल्याण योजना की शुरुआत की थी, वहाँ के ज़्यादातर मज़दूर वापस पलायन कर चुके हैं। CM नीतीश ने जिस मज़दूर से 24 मई को बात की थी, वो आज तक बेरोज़गार है।

अरबिना खातून के परिवार को राजद ने किया 5 लाख का आर्थिक मदद

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव द्वारा मामले पर संज्ञान लेते हुए तुरंत आर्थिक मदद देने का ऐलान करने के बाद कटिहार के राजद नेताओं ने पीड़िता के घर पहुंचकर नकद 5 लाख रुपये दिये हैं।

लुधियाना से वापस आ रही 45 वर्षीय उषा देवी की श्रमिक स्पेशल ट्रेन में मौत

श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में मौत के मामले थमने का नाम नहीं ले रहा है। ताजा मामला अररिया रेलवे स्टेशन का है, जहां श्रमिक एक्सप्रेस से एक महिला के शव को उतारा गया है।

22 वर्षीय अरबिना को छोड़ गया था पति, माँ-बाप और बच्चों के लिए करती थी मज़दूरी

गुजरात से चल कर मुज़फ़्फ़रपुर पहुंचने वाली श्रमिक एक्सप्रेस ट्रेन में एक महिला प्रवासी मज़दूर का शव मिला। मामले से सम्बंधित एक वीडियो सोशल साइट्स पर तेजी के साथ वायरल हो गया - प्लेटफार्म पर शव को यूँ ही रख दिया गया है और मासूम बेटा हक़ीकत से बेखबर अपने माँ के शव को ढके चादर से खेल रहा है।

मां बाप को ठेला में बिठा Varanasi से Araria आ गया 11 साल का तबारक

पिछले दिनों मां बाप को बिठाकर ठेला चलाते एक बच्चे का वीडियो वायरल हुआ। 11 साल का बच्चा और रिक्शे पर मॉं बाप आत्मनिर्भर भारत का हृदयविदारक दृष्य pic.twitter.com/gClc6suf3J — Imran Pratapgarhi (@ShayarImran) May 14, 2020 दरअसल, ये मासूम बच्चा अररिया के जोकीहाट प्रखंड अंतर्गत चिरह पंचायत स्थित उदाहाट का रहने वाला है। ये वाराणसी […]

क्वारंटीन सेंटर में अपने घरों से खाना मंगवाने को मज़बूर हैं मज़दूर, कमरों में बिजली भी नहीं

बिहार के किशनगंज ज़िला के एक क्वारंटीन सेंटर में मूलभूत सुविधाओं की कमी से मज़दूर परेशान हैं।

प्रवासी मज़दूरों से ‘आत्मानिर्भरता’ चुराए हैं मोदी जी, copyright लगना चाहिए

आत्मनिर्भरता प्रवासी मजदूर का गहना है, उस पर उनका कॉपीराइट है। लेकिन प्रधानमंत्री ने उसे भी चुरा लिया और ग्लैमर के पुट के साथ आत्मनिर्भरता की नई परिभाषा दे दी।

क्वारंटीन सेंटर से दीवार फांद कर भाग रहे मज़दूर की ट्रैन के चपेट में आने से मौत

बिहार के कटिहार ज़िले में क्वारंटीन सेंटर से दीवार फांद कर भाग रहे एक मजदूर की रेल ट्रैक पार करने के दौरान रेलगाड़ी के चपेट में आने से मौत हो गयी है। बरारी थाना क्षेत्र के सुखासन पंचायत के जेएनसी उच्च विद्यालय सेमापुर में बाहर से आए मजदूरों को क्वारंटीन के लिए रखा गया था। […]

Latests Posts

Ground Report

जर्जर भवन में जान हथेली पर रखकर पढ़ते हैं कदवा के नौनिहाल

ग्राउंड रिपोर्ट: इस दलित बस्ती के आधे लोगों को सरकारी राशन का इंतजार

डीलरों की हड़ताल से राशन लाभुकों को नहीं मिल रहा अनाज

बिहार में क्यों हो रही खाद की किल्लत?

किशनगंज: पक्की सड़क के अभाव में नारकीय जीवन जी रहे बरचौंदी के लोग