Main Media

Seemanchal News, Kishanganj News, Katihar News, Araria News, Purnea News in Hindi

Support Us

बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी को कैंसर, नहीं करेंगे चुनाव प्रचार

“मुझे किसी का अहंकार तोड़ना है”, भाजपा छोड़ कांग्रेस से जुड़े मुजफ्फरपुर सांसद अजय निषाद

Aurangabad Lok Sabha Seat: NDA के तीन बार के सांसद सुशील कुमार सिंह के सामने RJD के अभय कुशवाहा

Politics की अन्य ख़बरें

जन सुराज की इफ़्तार पार्टी में पहुंचे कांग्रेस नेता तारिक अनवर ने क्या कहा?

कार्यक्रम में पहुंचे तारिक अनवर ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि मौजूदा हालात में अल्पसंख्यक आबादी आज फिक्रमंद है। एक सभ्य समाज की पहचान इस बात से होती है कि उनके बीच जो अल्पसंख्यक लोग रहते हैं उनके साथ किस तरह का बर्ताव किया जाता है।

एक-दो सीटों पर मतभेद है, लेकिन उसका गठबंधन पर कोई असर नहीं होगा: तारिक अनवर

पूर्व कटिहार सांसद तारिक अनवर ने बिहार में इंडिया गठबंधन को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि बिहार में सीटों के बंटवारे को लेकर राजद और कांग्रेस के बीच अधिकतर सीटों पर सहमति बन गई है। एक, दो ऐसी सीट है जिसपर चर्चा जारी है, जल्द उस पर भी आपसी सहमति हो जाएगी।

दार्जिलिंग : भाजपा सांसद के खिलाफ भाजपा विधायक ने छेड़ी बगावत

दार्जिलिंग के वर्तमान राजनीतिक परिदृश्य में बीपी. बजगाईं ही वह प्रथम व्यक्ति हैं जिन्होंने सर्वप्रथम 'भूमिपुत्र' बनाम 'बाहरी' का नारा दिया। दार्जिलिंग जिला के पर्वतीय क्षेत्र कर्सियांग से भाजपा विधायक बी.पी. बजगाईं ने ही दार्जिलिंग के निवर्तमान भाजपा सांसद राजू बिष्ट को 'बाहरी' भी करार दिया।

“जदयू को कुछ और उम्मीदवार की जरूरत हो तो बताइएगा प्लीज़” – अपनी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष रमेश कुशवाहा के जदयू में जाने पर उपेंद्र कुशवाहा का कटाक्ष

आरएलएम के पूर्व बिहार प्रदेश अध्यक्ष का जदयू में जाने को लोकसभा चुनाव में सीट बंटवारे के समीकरण से जोड़ कर देखा जा रहा है। ऐसी खबरें हैं कि रमेश कुशवाहा की पत्नी विजयलक्ष्मी कुशवाहा को जदयू सिवान से सीट देने वाला है।

गया लोकसभा क्षेत्र में होगा जीतन राम मांझी बनाम कुमार सर्वजीत

पासवान जाति से आने वाले कुमार सर्वजीत गया के पूर्व सांसद राजेश कुमार के बेटे हैं। 1991 में सांसद बनने से पहले वह बोधगया से विधायक भी रहे। फिलहाल कुमार सर्वजीत बोध गया से विधायक हैं। वह तीसरी बार यहाँ से विधायक चुने गए हैं। पिछली महागठबंधन सरकार में वह कृषि मंत्री बनाये गए थे।

भाजपा ने पशुपति पारस की जगह चिराग पासवान को क्यों चुना

नीतीश कुमार और लोजपा के बीच लम्बे समय से अदावत रही है और इसकी शुरुआत नीतीश कुमार के मुख्यमंत्री बनते ही हुई थी। दरअसल, साल 2005 में मुख्यमंत्री बनते ही नीतीश कुमार ने महादलित योजना की शुरुआत की थी। इस योजना के तहत उन्होंने अनुसूचित जाति समूह में आने वाली 22 जातियों में से पासवान को छोड़कर बाकी 21 जातियों को महादलित का दर्जा दे दिया। महादलितों के विकास के लिए नीतीश कुमार ने एक महादलित आयोग का भी गठन किया।

“भू माफियाओं को बताऊंगा कानून का राज कैसा होता है” – बिहार राजस्व व भूमि सुधार मंत्री डॉ दिलीप जायसवाल

राजस्व व भूमि सुधार मंत्री ने यह भी कहा कि उनके मंत्री पद संभालते ही देश में आचार संहिता लगने से सीमाएं बंध गई हैं। जैसे ही यह खत्म होता है, पूरा बिहार देखेगा कि आपदा को अवसर में कैसे बदला जाता है।

बिहार सरकार के कैबिनेट विस्तार में किसको मिला कौन सा विभाग

उपमुख्यमंत्री सम्राट चौधरी के पास वित्त और वाणिज्य कर और विजय कुमार सिन्हा के पास पथ निर्माण, खान व भूतत्व और कला, संस्कृति व युवा तथा प्रेम कुमार के पास सहकारिता, पर्यावरण, वन व जलवायु परिवर्तन विभाग पहले से ही है।

कौन हैं बिहार के नये शिक्षा मंत्री सुनील कुमार

सुनील कुमार वर्तमान में गोपालगंज के भोरे से विधायक हैं। उनका संबंध एक राजनीतिक और प्रशासनिक बैकग्राउंड वाले परिवार से है। वह भारतीय पुलिस सेवा के वरिष्ठ अधिकारी थे और राजनीति में आने से पहले वह बिहार पुलिस के डायरेक्टर जेनरल रह चुके हैं।

कौन हैं बिहार सरकार के नए राजस्व एवं भूमि सुधार मंत्री डॉ. दिलीप जायसवाल?

MGM मेडिकल कॉलेज, किशनगंज के डायरेक्टर डॉ. दिलीप कुमार जायसवाल लगातार तीसरी बार पूर्णिया-सह-अररिया-सह किशनगंज स्थानीय प्राधिकार निर्वाचन क्षेत्र (Local Bodies, Purnia, Araria & Kishanganj) से एमएलसी हैं। 2022 के चुनाव में उन्होंने भारी मतों के अंतर से जीत दर्ज की है।

युवा वोटरों के लिये जदयू का ‘मेरा नेता मेरा अभिमान, बढ़ा है बढ़ेगा बिहार’ कैम्पेन शुरू

जनता दल यूनाइटेड के नेता और बिहार के पूर्व मंत्री अशोक चौधरी ने इस कैम्पेन की जानकारी देते हुए गुरुवार को पत्रकारों को बताया कि आगामी लोकसभा चुनाव हो या अगले साल होने वाला विधानसभा चुनाव, जो नए मतदाता हैं, उन्हें नहीं पता है कि इस सरकार के आने से पहले बिहार की हालत क्या थी।

बिहार में मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर सियासी हलचल तेज़, मांझी से मिले सम्राट चौधरी

गुरुवार को भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष और उप मुख्यमंत्री सम्राट चौधरी ने पहले मुख्यमंत्री आवास पहुंचकर सीएम नीतीश कुमार से मुलाकात की और उसके बाद हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के संरक्षक और पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी के आवास पहुंचकर उनसे मुलाकात की।

Latest Posts

Ground Report

मूल सुविधाओं से वंचित सहरसा का गाँव, वोटिंग का किया बहिष्कार

सुपौल: देश के पूर्व रेल मंत्री और बिहार के मुख्यमंत्री के गांव में विकास क्यों नहीं पहुंच पा रहा?

सुपौल पुल हादसे पर ग्राउंड रिपोर्ट – ‘पलटू राम का पुल भी पलट रहा है’

बीपी मंडल के गांव के दलितों तक कब पहुंचेगा सामाजिक न्याय?

सुपौल: घूरन गांव में अचानक क्यों तेज हो गई है तबाही की आग?