Main Media

Seemanchal News, Kishanganj News, Katihar News, Araria News, Purnea News in Hindi

Support Us

पूर्णिया : महानंदा नदी के कटाव से सहमे लोग, प्रशासन से कर रहे रोकथाम की मांग

महादलित बिनटोला में रह रहे कई परिवार लगातार हो रहे कटाव से चिंतित हैं। एक स्थानीय युवक ने बताया कि एक-डेढ़ महीने पहले अंचलाधिकारी ने कटावस्थल का निरीक्षण करने के बाद कहा था कि जल्द ही इसकी रोकथाम को लेकर काम शुरू किया जायेगा, लेकिन इतने दिन गुज़रने के बाद भी कुछ नहीं हुआ।

Syed Tahseen Ali is a reporter from Purnea district Reported By Syed Tahseen Ali |
Published On :

बिहार के पूर्णिया स्थित बायसी प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत पुरानागंज पंचायत के भीखनपुर महादलित बिनटोला में महानंदा नदी से भीषण कटाव हो रहा हैं। कटाव से कई लोगों के घर नदी में समा गए हैं। अगर कटाव लगातार जारी रहा तो पुरानागंज और सुगवा महानंदपुर पंचायत में रह रहे अधिकतर परिवारों का घर कटकर नदी में विलीन हो जाएगा।

महादलित बिनटोला में रह रहे कई परिवार लगातार हो रहे कटाव से चिंतित हैं। एक स्थानीय युवक ने बताया कि एक-डेढ़ महीने पहले अंचलाधिकारी ने कटावस्थल का निरीक्षण करने के बाद कहा था कि जल्द ही इसकी रोकथाम को लेकर काम शुरू किया जायेगा, लेकिन इतने दिन गुज़रने के बाद भी कुछ नहीं हुआ।

नदी के तेज कटाव से लोग खौफज़दा हैं और जनप्रतिनिधि और प्रशासन लोगों की समस्याओं से बेख़बर हैं। एक अन्य स्थानीय युवक ने बताया कि उनलोगों ने सभी स्तर के पदाधिकारियों को पत्र के माध्यम से इस समस्या से अवगत कराया है, लेकिन प्रशासन की ओर से कुछ भी प्रयास नहीं हो रहा है।


सुगवा महानंदपुर पंचायत के मुखिया प्रतिनिधि राशिद रजा ने बताया कि बिहार सरकार के जल संसाधन विभाग को नदी कटाव को लेकर कई बार सूचना दी गई, लेकिन विभाग के अधिकारी देखने तक नहीं आये। वह बताते हैं कि लोगों का घर कट रहा है, लोग दर दर की ठोकरें खा रहे हैं, लेकिन इसकी परवाह प्रशासन को नहीं है।

लोगों को लगा था कि आगामी लोकसभा चुनाव को देखते हुए शायद कटाव की रोकथाम के लिये कुछ न कुछ उपाय निकाला जायेगा, लेकिन ऐसा लगता है कि क्षेत्र के विधायक और सांसद को इन समस्याओं से कोई मतलब नहीं है। जनप्रतिनिधियों की उदासीनता को देखते हुए अब स्थानीय लोग आन्दोलन की राह पर निकलना चाह रहे हैं।

Also Read Story

बिहार: मई में बढ़ेगी लू लगने की घटना, अप्रैल में किशनगंज रहा सबसे कम गर्म

बारसोई में ईंट भट्ठा के प्रदूषण से ग्रामीण परेशान

बिहार इलेक्ट्रिक वाहन नीति 2023: इलेक्ट्रिक वाहन खरीदने पर सरकार कितनी छूट देगी, जान लीजिए

बारिश ने बढ़ाई ठंड, खराब मौसम को लेकर अगले तीन दिनों के लिये अलर्ट जारी

बूढी काकी नदी में दिखा डालफिन

‘हमारी किस्मत हराएल कोसी धार में, हम त मारे छी मुक्का आपन कपार में’

कटिहार के कदवा में महानंदा नदी में समाया कई परिवारों का आशियाना

डूबता बचपन-बढ़ता पानी, हर साल सीमांचल की यही कहानी

Bihar Floods: सड़क कटने से परेशान, रस्सी के सहारे बायसी

लोगों ने कहा कि आनेवाले चुनाव में वे लोग वोटिंग का बहिष्कार करेंगे और किसी भी उम्मीदवार को गांव में चुनाव प्रचार के लिये घुसने नहीं देंगे। उन्होंने प्रशासन को अल्टीमेटम देते हुए कहा कि अगर कटाव की रोकथाम के लिये कुछ कदम नहीं उठाए गये तो वे लोग राष्ट्रीय राजमार्ग-31 को जाम कर देंगे।

सीमांचल की ज़मीनी ख़बरें सामने लाने में सहभागी बनें। ‘मैं मीडिया’ की सदस्यता लेने के लिए Support Us बटन पर क्लिक करें।

Support Us

सैयद तहसीन अली को 10 साल की पत्रकारिता का अनुभव है। बीते 5 साल से पुर्णिया और आसपास के इलाकों की ख़बरें कर रहे हैं। तहसीन ने नई दिल्ली स्थित जामिया मिल्लिया इस्लामिया से पत्रकारिता की पढ़ाई की है।

Related News

भारी बारिश से अररिया नगर परिषद में जनजीवन अस्त व्यस्त

जलवायु परिवर्तन से सीमांचल के जिले सबसे अधिक प्रभावित क्यों

सीमांचल में हीट वेव का प्रकोप, मौसम विभाग की चेतावनी

पेट्रोल पंपों पर प्रदूषण जाँच केन्द्र का आदेश महज दिखावा

सुपौल शहर की गजना नदी अपने अस्तित्व की तलाश में

महानंदा बेसिन की नदियों पर तटबंध के खिलाफ क्यों हैं स्थानीय लोग

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest Posts

Ground Report

किशनगंज के इस गांव में बढ़ रही दिव्यांग बच्चों की तादाद

बिहार-बंगाल सीमा पर वर्षों से पुल का इंतज़ार, चचरी भरोसे रायगंज-बारसोई

अररिया में पुल न बनने पर ग्रामीण बोले, “सांसद कहते हैं अल्पसंख्यकों के गांव का पुल नहीं बनाएंगे”

किशनगंज: दशकों से पुल के इंतज़ार में जन प्रतिनिधियों से मायूस ग्रामीण

मूल सुविधाओं से वंचित सहरसा का गाँव, वोटिंग का किया बहिष्कार