किशनगंज के कोचाधामन प्रखंड में विकास बेकाबू हो गया है, हल्दीखोरा पंचायत में सालों पहले बनी लाइब्रेरी की बिल्डिंग गोश्त के दुकान में तब्दील हो चुकी है।

किशनगंज के कोचाधामन प्रखंड अंतर्गत हल्दीखोरा पंचायत में एक दशक पहले बना लाइब्रेरी की बिल्डिंग गोश्त के दुकान में तब्दील हो चुकी है। स्थानीय ग्रामीणों ने बताया कि इस लाइब्रेरी की नींव पूर्व विधायक अख्तरुल इमान रखा था। लेकिन उनके हारने के बाद यह योजना ठन्डे बस्ते में चलेगी। अब तो हाल यह हैं कि इस अधूरी बिल्डिंग में लाइब्रेरी के नाम पर कुछ नहीं है। अब यहाँ गोश्त और चाय की दुकानें लगती है।

एक स्थानीय ग्रामीण अब्दुल कमर ने बिल्डिंग पर ही सवाल उठाते हुए कहा कि “बिल्डिंग तो लाइब्रेरी के नाम पर बना था लेकिन आज तक पता नहीं चला कि यह लाइब्रेरी है या मुसाफिरखाना?”

वही मोहम्मद हैदर आलम नामक स्थानीय युवक ने बताया कि “लाइब्रेरी के अधूरी बिल्डिंग को लेकर प्रशासन के सामने कई बार अपनी बात रखी लेकिन अब तक कोई सुनवाई नहीं हुई है। उन्होंने आगे बताया कि हमलोगों ने एक बार फेसबुक के माध्यम से ऑनलाइन मुहिम भीचलाया था लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ।”

जब लाइब्रेरी के बारे में हल्दीखोरा पंचायत के मुखिया हसनैन अहमद से बात की तो उन्होंने बताया कि “यह बिल्डिंग वर्षों से खण्डार पड़ी हुई है। जिस वजह से यहाँ के कुछ लोग दुकान लगाकर रोजगार कर रहे है।”