Main Media

Seemanchal News, Kishanganj News, Katihar News, Araria News, Purnea News in Hindi

Support Us

Dr. Ejaz Ali Interview: कब तक आरक्षण से वंचित रहेंगी मुसलमानों की दलित जातियां?

पेशे से सर्जन डॉ. एजाज़ अली आल इंडिया यूनाइटेड मुस्लिम मोर्चा के संस्थापक हैं और 2008 से 2010 के बीच जदयू कोटे से राज्यसभा सांसद भी रहे हैं। हमने उनके पटना स्थित आवास पर एक इंटरव्यू किया, जिसमें दलित मुस्लिम, अनुच्छेद 341, नीतीश कुमार, लालू यादव, बिहार जातीय गणना और पूर्व सांसद व पसमांदा मुस्लिम महाज़ के संस्थापक अली अनवर से उनके मतभेद समेत अन्य मुद्दों पर विस्तार से बातचीत की गई।

Tanzil Asif is founder and CEO of Main Media Reported By Tanzil Asif |
Published On :

भारतीय संविधान का अनुच्छेद 341 (Article 341) राष्ट्रपति को किसी राज्य या केंद्र शासित प्रदेश के भीतर विशिष्ट जातियों और वर्गों को अनुसूचित जाति के रूप में नामित करने का अधिकार देता है। हालाँकि, यह स्पष्ट रूप से निर्धारित करता है कि हिंदू, सिख या बौद्ध के अलावा किसी अन्य धर्म को मानने वाले व्यक्तियों को अनुसूचित जाति का सदस्य नहीं माना जाएगा।

यही वजह है कि मुसलमानों की दलित जातियों को इस आरक्षण का लाभ नहीं मिल पाता है। पूर्व राज्यसभा सांसद डॉ. एजाज़ अली करीब तीन दशकों ये ‘दलित मुस्लिम’ के हक़ की लड़ाई लड़ रहे हैं। उनका मानना है, “मुसलमानों में दलित की तकरीबन वो सभी जातियां हैं, जो हिन्दुओं में हैं।”

Also Read Story

कटिहार से कांग्रेस प्रत्याशी तारिक अनवर का इंटरव्यू: क्या छठी बार पहुंच पाएंगे लोकसभा?

“जीते तो सीमांचल को इंसाफ दिलाएंगे” – किशनगंज से AIMIM प्रत्याशी अख्तरुल ईमान का Interview

“किशनगंज को विकास की नई ऊंचाई तक ले जाऊंगा” – किशनगंज से जदयू प्रत्याशी मुजाहिद आलम

“टीएमसी और भाजपा एक ही है” – रायगंज लोकसभा से कांग्रेस प्रत्याशी अली इमरान रम्ज़ विक्टर

अररिया से भाजपा सांसद प्रदीप सिंह का इंटरव्यू

Katihar Loksabha से JD(U) MP Dulal Chandra Goswami का Interview

सीमांचल में जन विश्वास यात्रा के दौरान तेजस्वी यादव का इंटरव्यू

Interview: RJD MLA शाहनवाज़ ने किया AIMIM के ओवैसी पर पलटवार

किशनगंज के लोग कांग्रेस सांसद मो. जावेद के ‘व्यवहार’ से खुश नहीं: जदयू जिला अध्यक्ष मुजाहिद

पेशे से सर्जन डॉ. एजाज़ अली आल इंडिया यूनाइटेड मुस्लिम मोर्चा के संस्थापक हैं और 2008 से 2010 के बीच जदयू कोटे से राज्यसभा सांसद भी रहे हैं। हमने उनके पटना स्थित आवास पर एक इंटरव्यू किया, जिसमें दलित मुस्लिम, अनुच्छेद 341, नीतीश कुमार, लालू यादव, बिहार जातीय गणना और पूर्व सांसद व पसमांदा मुस्लिम महाज़ के संस्थापक अली अनवर से उनके मतभेद समेत अन्य मुद्दों पर विस्तार से बातचीत की गई। देखिए इंटरव्यू…


सीमांचल की ज़मीनी ख़बरें सामने लाने में सहभागी बनें। ‘मैं मीडिया’ की सदस्यता लेने के लिए Support Us बटन पर क्लिक करें।

Support Us

तंजील आसिफ एक मल्टीमीडिया पत्रकार-सह-उद्यमी हैं। वह 'मैं मीडिया' के संस्थापक और सीईओ हैं। समय-समय पर अन्य प्रकाशनों के लिए भी सीमांचल से ख़बरें लिखते रहे हैं। उनकी ख़बरें The Wire, The Quint, Outlook Magazine, Two Circles, the Milli Gazette आदि में छप चुकी हैं। तंज़ील एक Josh Talks स्पीकर, एक इंजीनियर और एक पार्ट टाइम कवि भी हैं। उन्होंने दिल्ली के भारतीय जन संचार संस्थान (IIMC) से मीडिया की पढ़ाई और जामिआ मिलिया इस्लामिआ से B.Tech की पढ़ाई की है।

Related News

“दलित-पिछड़ा एक समान, हिंदू हो या मुसलमान”- पसमांदा मुस्लिम महाज़ अध्यक्ष अली अनवर का इंटरव्यू

सड़क, शिक्षा में सुधार करना चाहती हैं बहादुरगंज की मुख्य पार्षद साहेरा तहसीन

मुख्य पार्षद सिकंदर पटेल – “ठाकुरगंज को देना चाहते हैं अपने जीवन का सर्वश्रेष्ठ”

“मेरा कोई पूंजीपति मित्र नहीं, स्वतंत्र रूप से काम करूँगा” – इंद्रदेव पासवान

ज़ीरो बजट इलेक्शन मेरा लक्ष्य था: इम्तियाज़ नसर

Video: परिवार पर भ्रष्टाचार के सवाल पर भड़के तारकिशोर प्रसाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest Posts

Ground Report

मूल सुविधाओं से वंचित सहरसा का गाँव, वोटिंग का किया बहिष्कार

सुपौल: देश के पूर्व रेल मंत्री और बिहार के मुख्यमंत्री के गांव में विकास क्यों नहीं पहुंच पा रहा?

सुपौल पुल हादसे पर ग्राउंड रिपोर्ट – ‘पलटू राम का पुल भी पलट रहा है’

बीपी मंडल के गांव के दलितों तक कब पहुंचेगा सामाजिक न्याय?

सुपौल: घूरन गांव में अचानक क्यों तेज हो गई है तबाही की आग?