Main Media

Seemanchal News, Kishanganj News, Katihar News, Araria News, Purnea News in Hindi

Support Us

बिहारशरीफ हिंसा मामले में आरोपियों ने किया सरेंडर

नालंदा के बिहारशरीफ में रामनवमी जुलूस के दौरान हुई हिंसा को लेकर पुलिस ने आरोपियों पर कार्रवाई तेज कर दी है। पुलिस ने आरोपियों के घर की कुर्की शुरू कर दी है जिसके बाद से एक-एक कर 6 आरोपियों ने सरेंडर किया।

Navin Kumar Reported By Navin Kumar |
Published On :

नालंदा के बिहारशरीफ में रामनवमी जुलूस के दौरान हुई हिंसा को लेकर पुलिस ने आरोपियों पर कार्रवाई तेज कर दी है। पुलिस ने आरोपियों के घर की कुर्की शुरू कर दी है जिसके बाद से एक-एक कर 6 आरोपियों ने सरेंडर किया।

कुर्की के डर से आरोपियों का सरेंडर

नालंदा मामले को लेकर एसआईटी गठित कर जांच की जा रही है। एसआईटी का नेतृत्व मुख्यालय डीएसपी ममता प्रसाद कर रही हैं। घटना के बाद से आरोपी फरार चल रहे थे। उनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस लगातार छापेमारी कर रही थी। आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होने पर न्यायालय के आदेश पर कुर्की जब्ती की जा रही थी।‌ कुर्की के डर से नालंदा हिंसा के आरोपी और बजरंग दल के संयोजक कुंदन कुमार ने सरेंडर कर दिया। उसके सरेंडर करते ही कुर्की की करवाई रोक दी गई है। बात दें कि रामनवमी जुलूस का नेतृत्व कुंदन कुमार ने ही किया था।

Also Read Story

पूर्णिया में इजराइल के खिलाफ कथित विवादित पोस्ट ने लिया साम्प्रदायिक रंग

KBC News Katihar ने वीडियो में लगाई पैग़म्बर मोहम्मद की ‘तस्वीर’, FIR दर्ज

पटना में महादलित महिला को निर्वस्त्र करने की पूरी घटना क्या है?

पश्चिम बंगाल में मुस्लिम छात्र बना 12वीं में 2nd Topper, तो लोगों ने लिखा- “आतंकवादी बनेगा”

बिहारशरीफ में कैसे और कहां से शुरू हुई सांप्रदायिक हिंसा?

मदरसा अजिजिया: तारीख का एक सुनहरा पन्ना, जो अब राख हो गया

सीमांचल को दूसरा कश्मीर नहीं बनने देंगे: प्रवीण तोगड़िया

कटिहार में मस्जिद के सामने ह्यूमन चेन की वायरल तस्वीर की पूरी कहानी

Exclusive: शादी की आतिशबाजी को पाक की जीत से जोड़ने के पीछे बजरंग दल

पुलिस की कार्रवाई से उपद्रवियों में हरकंप मच गया है और इसके बाद 6 आरोपियों ने सरेंडर कर दिया।


क्या है मामला

रामनवमी जुलूस की आड़ में उपद्रवियों ने नालंदा और सासाराम में जमकर तोड़फोड़ और आगजनी की थी। जुलूस के दौरान दोनों पक्षों में हिंसा हुई जिसमें पत्थरबाजी के साथ कई राउंड फायरिंग भी हुई। हिंसा की आग में कई लोग घायल हो गए और अनेक दुकानों, गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया गया था।

सीमांचल की ज़मीनी ख़बरें सामने लाने में सहभागी बनें। ‘मैं मीडिया’ की सदस्यता लेने के लिए Support Us बटन पर क्लिक करें।

Support Us

नवीन कुमार बिहार के मुजफ्फरपुर जिले के रहने वाले हूं। आईआईएमएससी दिल्ली से पत्रकारिता की पढ़ाई की है। अभी स्वतंत्र पत्रकारिता करते हैं। सामाजिक विषयों में रुचि है। बिहार को जानने और समझने की निरंतर कोशिश जारी है।

Related News

सीमांचल को साम्प्रदायिक ध्रुवीकरण की प्रयोगशाला बना रहे हिन्दुत्ववादी संगठन!

किशनगंज में हत्या को सांप्रदायिक रंग देने की कोशिश नाकाम

बिहार के मुस्लिम शख्स के लाश को जलाना चाहती है सिक्किम प्रशासन!

सीमांचल में 18 तबलीगी जमातियों को मिली राहत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest Posts

Ground Report

किशनगंज के इस गांव में बढ़ रही दिव्यांग बच्चों की तादाद

बिहार-बंगाल सीमा पर वर्षों से पुल का इंतज़ार, चचरी भरोसे रायगंज-बारसोई

अररिया में पुल न बनने पर ग्रामीण बोले, “सांसद कहते हैं अल्पसंख्यकों के गांव का पुल नहीं बनाएंगे”

किशनगंज: दशकों से पुल के इंतज़ार में जन प्रतिनिधियों से मायूस ग्रामीण

मूल सुविधाओं से वंचित सहरसा का गाँव, वोटिंग का किया बहिष्कार