Main Media

Seemanchal News, Kishanganj News, Katihar News, Araria News, Purnea News in Hindi

Support Us

सीमांचल में 18 तबलीगी जमातियों को मिली राहत

वीजा शर्तों के उल्लंघन के आरोप में ट्रायल का सामना कर रहे तबलीगी जमात से जुड़े 9 मलेशियाई व 9 बांग्लादेशी नागरिकों को पटना उच्च न्यायालय से बड़ी राहत मिली है।

Meraj Reported By Meraj Khan |
Published On :

वीजा शर्तों के उल्लंघन के आरोप में ट्रायल का सामना कर रहे तबलीगी जमात से जुड़े 9 मलेशियाई व 9 बांग्लादेशी नागरिकों को पटना उच्च न्यायालय से बड़ी राहत मिली है।

इस मुकदमा संचालक अधिवक्ता जेड ए मुजाहिद ने बताया कि सभी आरोपी विदेशी नागरिकों के विरुद्ध प्राथमिकी एवं विचारण के संज्ञान को उच्च न्यायालय ने रद्द व अमान्य घोषित कर दिया है।

Also Read Story

पूर्णिया में इजराइल के खिलाफ कथित विवादित पोस्ट ने लिया साम्प्रदायिक रंग

KBC News Katihar ने वीडियो में लगाई पैग़म्बर मोहम्मद की ‘तस्वीर’, FIR दर्ज

पटना में महादलित महिला को निर्वस्त्र करने की पूरी घटना क्या है?

पश्चिम बंगाल में मुस्लिम छात्र बना 12वीं में 2nd Topper, तो लोगों ने लिखा- “आतंकवादी बनेगा”

बिहारशरीफ हिंसा मामले में आरोपियों ने किया सरेंडर

बिहारशरीफ में कैसे और कहां से शुरू हुई सांप्रदायिक हिंसा?

मदरसा अजिजिया: तारीख का एक सुनहरा पन्ना, जो अब राख हो गया

सीमांचल को दूसरा कश्मीर नहीं बनने देंगे: प्रवीण तोगड़िया

कटिहार में मस्जिद के सामने ह्यूमन चेन की वायरल तस्वीर की पूरी कहानी

यहां बता दें कि लॉकडाउन के दौरान अररिया जामा मस्जिद व नरपतगंज के रेवाही मरकज से बीते 14 अप्रैल को 18 विदेशी नागरिकों को पुलिस ने गिरफ्तार किया था। यह सभी विदेशी नागरिक सत्र न्यायाधीश से 9 जून को जमानत पर रिहा हुए थे। परंतु मुकदमे के निष्पादन तक उन्हें भारत छोड़ने की अनुमति नहीं थी।


अधिवक्ता जेड ए मोजाहिद ने बताया कि जमानत के बाद दोनों प्राथमिकी के विरुद्ध संविधान के अनुच्छेद 226 व 227 के अंतर्गत क्रिमिनल रिट याचिका उच्च न्यायालय में दाखिल की गई थी।

कोर्ट से फैसला आने के बाद मलेशिया ओर बांग्लादेश के तबलीगी जमात से जुड़े लोगों ने भारत के न्याय व्वायवस्था पर भरोसा जताया है और खुशी जाहिर की है।

सीमांचल की ज़मीनी ख़बरें सामने लाने में सहभागी बनें। ‘मैं मीडिया’ की सदस्यता लेने के लिए Support Us बटन पर क्लिक करें।

Support Us

Meraj Khan is a trained Lawyer and works as a reporter from Araria district of Seemanchal. In his past life he has worked as a Tailor and aspires to be a Teacher in near future. BBC has appreciated his hyper-local reportage during COVID-19.

Related News

Exclusive: शादी की आतिशबाजी को पाक की जीत से जोड़ने के पीछे बजरंग दल

सीमांचल को साम्प्रदायिक ध्रुवीकरण की प्रयोगशाला बना रहे हिन्दुत्ववादी संगठन!

किशनगंज में हत्या को सांप्रदायिक रंग देने की कोशिश नाकाम

बिहार के मुस्लिम शख्स के लाश को जलाना चाहती है सिक्किम प्रशासन!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest Posts

Ground Report

किशनगंज के इस गांव में बढ़ रही दिव्यांग बच्चों की तादाद

बिहार-बंगाल सीमा पर वर्षों से पुल का इंतज़ार, चचरी भरोसे रायगंज-बारसोई

अररिया में पुल न बनने पर ग्रामीण बोले, “सांसद कहते हैं अल्पसंख्यकों के गांव का पुल नहीं बनाएंगे”

किशनगंज: दशकों से पुल के इंतज़ार में जन प्रतिनिधियों से मायूस ग्रामीण

मूल सुविधाओं से वंचित सहरसा का गाँव, वोटिंग का किया बहिष्कार