Main Media

Seemanchal News, Kishanganj News, Katihar News, Araria News, Purnea News in Hindi

Support Us

कटिहार: सड़क न बनने से नाराज़ महिलाओं ने घंटों किया सड़क जाम

आक्रोशित महिलाओं ने जल्द से जल्द सड़क निर्माण कराने की मांग की और कहा कि अगर सड़क की हालत दुरुस्त नहीं हुई तो वे दोबारा फिर से आंदोलन करेंगी। उन्होंने अधिकारियों से मांग की कि जब तक सड़क पूरी तरह नहीं बन जाती तब तक कम से कम सड़क को मोटरेबल बना कर उसे चलने लायक बनाया जाए और नियमित रूप से इसका मेंटेनेंस किया जाए।

Mohammad Zaid Reported By Mohammad Zaid |
Published On :

बिहार के कटिहार जिलान्तर्गत मनिहारी नगर पंचायत क्षेत्र की वार्ड संख्या 15 में सड़क निर्माण की मांग को लेकर महिलाओं ने मुख्य सड़क जाम कर दिया। सड़क न बनने से सिमुडीह कुटीघाट की आक्रोशित महिलाएं बस स्टैंड से कुटीघाट जाने वाले मुख्य मार्ग के पास सड़क के बीचोबीच बैठ गईं। करीब 04 घंटों तक सड़क पर लंबा जाम लगा रहा।

प्रदर्शन कर रही महिलाओं ने कहा कि सिमुडीह के लोगों के लिए आवागमन का यह एकमात्र मुख्य सड़क है। इसी सड़क से ग्रामीण बस स्टैंड, मनिहारी बाजार और जिला मुख्यालय आदि जाते हैं। लगातार ट्रक चलने के कारण सड़क काफी जर्जर हो चुकी है। सड़क खराब होने से आय दिन दुर्घटना होती रहती है। बच्चे स्कूल जाने के लिए इसी रास्ते का इस्तेमाल करते हैं जिससे वे लगातार संभावित दुर्घटना के खतरे में रहते हैं।

Also Read Story

अररिया: हाईटेंशन तार की संपर्क में आया मुहर्रम का ताज़िया, करंट से दर्जन भर लोग झुलसे

सिलीगुड़ी व जलपाईगुड़ी में मची जमीन की लूट, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी आग बबूला

कटिहार: अवैध मिट्टी खनन के विरुद्ध पुलिसिया कार्रवाई, जेसीबी मशीन ज़ब्त

किशनगंज के रामपुर चेक पोस्ट से 47 लाख रुपये जब्त, तीन हिरासत में

कटिहार: गंगा किनारे अवैध मिट्टी खनन, जेसीबी सहित एक ट्रैक्टर जब्त 

किशनगंज: पुलिस ने सीएसपी संचालक के क़ातिलों को किया गिरफ़्तार

कटिहार: फर्जी साइबर एसपी बनकर महिलाओं की अश्लील वीडियो बनाने के आरोप में व्यक्ति गिरफ्तार

अररिया: चुनावी ड्यूटी के दौरान मरने वाले होमगार्ड जवानों के आश्रितों को मिला मुआवज़ा

विभागीय रिमाइंडर के बाद भी डीसीएलआर सदर पूर्णिया दायर केस की जानकारी ऑनलाइन करने में पिछड़े

प्रदर्शनकारियों ने आगे कहा कि सबसे अधिक कठिनाई तब होती है जब किसी मरीज को अस्पताल ले जाने की आवश्यकता पड़ती है। टोटो और टेंपू चालक भी जर्जर सड़क होने की वजह से सिमुडिह तक आने से इनकार कर देते हैं।


मुख्य पार्षद व अनुमंडल पदाधिकारी ने सड़क को कराया खाली

सड़क जाम के कारण सड़क की दोनों तरफ दर्जनों ट्रक और अन्य वाहन घटों फंसे रहे। मनिहारी नगर पंचायत वार्ड संख्या 14 के वार्ड पार्षद प्रतिनिधि सहदेव यादव ने महिलाओं की बात मुख्य पार्षद लाखो यादव और अनुमंडल पदाधिकारी कुमार सिद्धार्थ से कराई। पदाधिकारी और जनप्रतिनिधियों ने सड़क निर्माण की प्रक्रिया में पहल करने का आश्वासन दिया जिसके बाद प्रदर्शन कर रही महिलाओं ने सड़क खाली किया।

आक्रोशित महिलाओं ने जल्द से जल्द सड़क निर्माण कराने की मांग की और कहा कि अगर सड़क की हालत दुरुस्त नहीं हुई तो वे दोबारा फिर से आंदोलन करेंगी। उन्होंने अधिकारियों से मांग की कि जब तक सड़क पूरी तरह नहीं बन जाती तब तक कम से कम सड़क को मोटरेबल बना कर उसे चलने लायक बनाया जाए और नियमित रूप से इसका मेंटेनेंस किया जाए।

सीमांचल की ज़मीनी ख़बरें सामने लाने में सहभागी बनें। ‘मैं मीडिया’ की सदस्यता लेने के लिए Support Us बटन पर क्लिक करें।

Support Us

मो० जैद कटिहार जिले के मनिहारी प्रखंड से हैं। 2021 से पत्रकारिता के क्षेत्र में काम कर रहे हैं। अपनी पत्रकारिता के ज़रिए जनता की आवाज बनकर उनके हक के लिए सरकार से लड़ना चाहते हैं।

Related News

बिहार: भीषण गर्मी और लू की वजह से 8 जून तक स्कूल रहेंगे बंद

अररिया: 24 घंटे के अंदर पुलिस ने सीएसपी संचालक से लूटे गये दो लाख रुपये किये बरामद

सुपौल: थानेदार कह रहे थाने में बिना घूस दिए कोई काम नहीं होता, वीडियो वायरल

BPSC TRE-3 के प्रश्न-पत्र लीक मामले का ख़ुलासा, गिरोह का मास्टरमाइंड गिरफ्तार

बिहार की Laapataa Ladies, महीने भर से गुमशुदा है पत्नी

अररिया: पुलिस की गाड़ी पर बैठ रील बनाने वाले दो युवक गिरफ्तार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest Posts

Ground Report

अररिया में भाजपा नेता की संदिग्ध मौत, 9 दिन बाद भी पुलिस के हाथ खाली

अररिया में क्यों भरभरा कर गिर गया निर्माणाधीन पुल- ग्राउंड रिपोर्ट

“इतना बड़ा हादसा हुआ, हमलोग क़ुर्बानी कैसे करते” – कंचनजंघा एक्सप्रेस रेल हादसा स्थल के ग्रामीण

सिग्नल तोड़ते हुए मालगाड़ी ने कंचनजंघा एक्सप्रेस को पीछे से मारी टक्कर, 8 लोगों की मौत, 47 घायल

किशनगंज के इस गांव में बढ़ रही दिव्यांग बच्चों की तादाद