Main Media

Seemanchal News, Kishanganj News, Katihar News, Araria News, Purnea News in Hindi

Support Us

चक्रवात मिचौंग : बंगाल की मुख्यमंत्री ने बेमौसम बारिश से प्रभावित किसानों के लिए मुआवजे की घोषणा की

पश्चिम बंगाल विधानसभा में विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी ने बेमौसम बारिश से प्रभावित किसानों के लिए मुआवजे की मांग को लेकर मुख्य सचिव एच.के. द्विवेदी को पत्र लिखा था। इसके एक दिन बाद सीएम ने यह घोषणा की है।

Main Media Logo PNG Reported By Main Media Desk |
Published On :

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने रविवार को चक्रवात मिचौंग के प्रभाव के कारण असामयिक वर्षा के कारण नुकसान का सामना कर रहे किसानों के लिए मुआवजे, राहत और सहायता का ऐलान किया है।

पश्चिम बंगाल विधानसभा में विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी ने बेमौसम बारिश से प्रभावित किसानों के लिए मुआवजे की मांग को लेकर मुख्य सचिव एच.के. द्विवेदी को पत्र लिखा था। इसके एक दिन बाद सीएम ने यह घोषणा की है।

मुख्यमंत्री ने घोषणा की कि राज्य के 1.20 करोड़ किसानों को दो चरणों में मुआवजे के रूप में 10,000 रुपये प्रदान किए जाएंगे।


सीएम अलीपुरद्वार जिले में एक सार्वजनिक बैठक को संबोधित करते हुए यह घोषणा की। सीएम ममता बनर्जी ने कहा कि राज्य की अपनी किसान बीमा योजना के तहत प्रदान की जाने वाली राशि सीधे किसानों के बैंक खातों में जमा की जाएगी।

सीएम ममता ने कहा, ”हमने कृषि भूमि पर उपकर वापस ले लिया है। वे सभी किसान जो किसान बीमा योजना के तहत नामांकित हैं, उन्हें मुआवजे के रूप में पैसा निश्चित रूप से मिलेगा। जिन लोगों ने अभी तक नामांकन नहीं किया है, उन्हें तुरंत राज्य सरकार द्वारा आयोजित शिविरों में भाग लेना चाहिए।”

Also Read Story

कटिहार में गेहूं की फसल में लगी भीषण आग, कई गांवों के खेत जलकर राख

किशनगंज: तेज़ आंधी व बारिश से दर्जनों मक्का किसानों की फसल बर्बाद

नीतीश कुमार ने 1,028 अभ्यर्थियों को सौंपे नियुक्ति पत्र, कई योजनाओं की दी सौगात

किशनगंज के दिघलबैंक में हाथियों ने मचाया उत्पात, कच्चा मकान व फसलें क्षतिग्रस्त

“किसान बर्बाद हो रहा है, सरकार पर विश्वास कैसे करे”- सरकारी बीज लगाकर नुकसान उठाने वाले मक्का किसान निराश

धूप नहीं खिलने से एनिडर्स मशीन खराब, हाथियों का उत्पात शुरू

“यही हमारी जीविका है” – बिहार के इन गांवों में 90% किसान उगाते हैं तंबाकू

सीमांचल के जिलों में दिसंबर में बारिश, फसलों के नुकसान से किसान परेशान

बारिश में कमी देखते हुए धान की जगह मूंगफली उगा रहे पूर्णिया के किसान

शनिवार को मुख्य सचिव को लिखे अपने पत्र में विपक्ष के नेता ने कहा था कि लगातार बूंदाबांदी के कारण आलू किसानों को कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है, क्योंकि उनके खेत जलमग्न हो गए हैं और संभावना है कि उनकी उपज पानी में सड़ जाएगी।

उन्होंने ने किसानों को हुए वित्तीय नुकसान को ध्यान में रखते हुए ऋण के पुनर्मूल्यांकन और पुनर्भुगतान प्रक्रियाओं में छूट का सुझाव दिया।

(आईएएनएस इनपुट के साथ)

सीमांचल की ज़मीनी ख़बरें सामने लाने में सहभागी बनें। ‘मैं मीडिया’ की सदस्यता लेने के लिए Support Us बटन पर क्लिक करें।

Support Us

Main Media is a hyper-local news platform covering the Seemanchal region, the four districts of Bihar – Kishanganj, Araria, Purnia, and Katihar. It is known for its deep-reported hyper-local reporting on systemic issues in Seemanchal, one of India’s most backward regions which is largely media dark.

Related News

ऑनलाइन अप्लाई कर ऐसे बन सकते हैं पैक्स सदस्य

‘मखाना का मारा हैं, हमलोग को होश थोड़े होगा’ – बिहार के किसानों का छलका दर्द

पश्चिम बंगाल: ड्रैगन फ्रूट की खेती कर सफलता की कहानी लिखते चौघरिया गांव के पवित्र राय

सहरसा: युवक ने आपदा को बनाया अवसर, बत्तख पाल कर रहे लाखों की कमाई

बारिश नहीं होने से सूख रहा धान, कर्ज ले सिंचाई कर रहे किसान

कम बारिश से किसान परेशान, नहीं मिल रहा डीजल अनुदान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest Posts

Ground Report

सुपौल: देश के पूर्व रेल मंत्री और बिहार के मुख्यमंत्री के गांव में विकास क्यों नहीं पहुंच पा रहा?

सुपौल पुल हादसे पर ग्राउंड रिपोर्ट – ‘पलटू राम का पुल भी पलट रहा है’

बीपी मंडल के गांव के दलितों तक कब पहुंचेगा सामाजिक न्याय?

सुपौल: घूरन गांव में अचानक क्यों तेज हो गई है तबाही की आग?

क़र्ज़, जुआ या गरीबी: कटिहार में एक पिता ने अपने तीनों बच्चों को क्यों जला कर मार डाला