Main Media

Seemanchal News, Kishanganj News, Katihar News, Araria News, Purnea News in Hindi

Support Us

नीतीश के साथ फिर से जाने के सवाल पर बोले लालू- नीतीश के लिए दरवाजा हमेशा खुला ही रहता है

लालू यादव ने साफ कहा कि नीतीश कुमार के लिए राजद का दरवाजा हमेशा खुला ही रहता है। पटना में पत्रकारों ने नीतीश कुमार के फिर से साथ आने के बारे में जब लालू से पूछा तो उन्होंने कहा कि आयेंगे तो देखेंगे।

Nawazish Purnea Reported By Nawazish Alam |
Published On :

नीतीश कुमार महागठबंधन छोड़ एनडीए में शामिल होकर भले ही बिहार में सरकार चला रहे हों, लेकिन राजद का मोह नीतीश कुमार के लिए कम नहीं हुआ है। राष्ट्रीय जनता दल सुप्रीमो लालू प्रसाद के शुक्रवार को दिए बयान इसी ओर इशारा कर रहे हैं।

लालू यादव ने साफ कहा कि नीतीश कुमार के लिए राजद का दरवाजा हमेशा खुला ही रहता है। पटना में पत्रकारों ने नीतीश कुमार के फिर से साथ आने के बारे में जब लालू से पूछा तो उन्होंने कहा कि आयेंगे तो देखेंगे।

Also Read Story

बिहार : राजद ने प्रत्याशियों की सूची जारी की, लालू की दो बेटियां चुनाव मैदान में उतरीं

पूर्णिया: राजद प्रत्याशी बीमा भारती ने निर्दलीय पप्पू यादव को बताया बीजेपी का एजेंट

कटिहार: पूर्व विधायक हिमराज सिंह ने नामांकन लिया वापस, जदयू को करेंगे समर्थन

अररिया: पुलिस की गाड़ी पर बैठ रील बनाने वाले दो युवक गिरफ्तार

नीतीश के मंत्री महेश्वर हजारी के पुत्र सन्नी कांग्रेस में शामिल, समस्तीपुर से लड़ सकते हैं चुनाव

हम लोगों के आने के बाद बिहार में हिंदू-मुस्लिम झगड़ा बंद हो गया: नीतीश कुमार

पूर्णिया: पप्पू यादव-बीमा भारती के बाद संतोष कुशवाहा ने भी की उदय सिंह से मुलाक़ात

किशनगंज: शिक्षिका से 3 लाख रुपये लूटने वालों के घर छापेमारी में ढाई लाख बरामद, दो आरोपी फरार

पूर्णिया: मधुमक्खियों के डंक से कई बच्चे घायल, अस्पताल में भर्ती

दरअसल, लालू प्रसाद शुक्रवार को वैशाली जिला के जंदाहा में एक कार्यक्रम में भाग लेने के लिए जा रहे थे, इसी दौरान उन्होंने यह बात कही। जब उनसे पूछा गया कि क्या नीतीश कुमार के लिए दरवाजा खुला है, तब उन्होंने कहा कि दरवाजा हमेशा खुला ही रहता है, दरवाजा में क्या है।


उल्लेखनीय है कि गुरुवार को विधानसभा परिसर में राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की मुलाकात हुई थी। इस दौरान दोनों नेताओं ने एक दूसरे से कुशल क्षेम भी जाना था।

(आईएएनएस इनपुट के साथ)

सीमांचल की ज़मीनी ख़बरें सामने लाने में सहभागी बनें। ‘मैं मीडिया’ की सदस्यता लेने के लिए Support Us बटन पर क्लिक करें।

Support Us

नवाजिश आलम को बिहार की राजनीति, शिक्षा जगत और इतिहास से संबधित खबरों में गहरी रूचि है। वह बिहार के रहने वाले हैं। उन्होंने नई दिल्ली स्थित जामिया मिल्लिया इस्लामिया के मास कम्यूनिकेशन तथा रिसर्च सेंटर से मास्टर्स इन कंवर्ज़ेन्ट जर्नलिज़्म और जामिया मिल्लिया से ही बैचलर इन मास मीडिया की पढ़ाई की है।

Related News

बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी को कैंसर, नहीं करेंगे चुनाव प्रचार

किशनगंज: तालाब में डूबने से सिंघिया गांव के तीन बच्चों की मौत

पूर्णिया: मछलियों से लदी गाड़ी खंभे से टकराई, सड़क पर रेंगती दिखीं मछलियां

पूर्णिया में राजद-कांग्रेस घमासान के बीच उदय सिंह से मिले पप्पू यादव और बीमा भारती

चुनावी प्रचार का अनोखा अंदाज़, ऑटो चलाते दिखे कटिहार सांसद दुलाल चंद्र गोस्वामी

अररिया: टीका लगाने के बाद डेढ़ माह की बच्ची की मौत, अस्पताल में परिजनों का हंगामा

सुपौल: स्कूल की छत से गिरकर छात्र की मौत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest Posts

Ground Report

सुपौल: देश के पूर्व रेल मंत्री और बिहार के मुख्यमंत्री के गांव में विकास क्यों नहीं पहुंच पा रहा?

सुपौल पुल हादसे पर ग्राउंड रिपोर्ट – ‘पलटू राम का पुल भी पलट रहा है’

बीपी मंडल के गांव के दलितों तक कब पहुंचेगा सामाजिक न्याय?

सुपौल: घूरन गांव में अचानक क्यों तेज हो गई है तबाही की आग?

क़र्ज़, जुआ या गरीबी: कटिहार में एक पिता ने अपने तीनों बच्चों को क्यों जला कर मार डाला