Main Media

Seemanchal News, Kishanganj News, Katihar News, Araria News, Purnea News in Hindi

Support Us

कटिहार: आईपीएल मैच के दौरान सट्टेबाजी करने वाले पांच गिरफ्तार

पुलिस ने गुप्त सूचना मिलने पर कटिहार सहायक थाना क्षेत्र के कई इलाकों में सर्च अभियान शुरू किया था, जिसमें ललियाही मोहल्ले से दो सट्टेबाज़ों को पकड़ा गया। इसके बाद डेहरिया और अरगड़ा चौके से भी सट्टेबाज़ों की गिरफ्तारी हुई।

shadab alam Reported By Shadab Alam |
Published On :

कटिहार पुलिस ने रविवार की शाम आईपीएल मैच के दौरान सट्टाबाजी करने के आरोप में पांच लोगों को गिरफ्तार किया है।

पुलिस ने गुप्त सूचना मिलने पर कटिहार सहायक थाना क्षेत्र के कई इलाकों में सर्च अभियान शुरू किया था, जिसमें ललियाही मोहल्ले से दो सट्टेबाज़ों को पकड़ा गया। इसके बाद डेहरिया और अरगड़ा चौके से भी सट्टेबाज़ों की गिरफ्तारी हुई।

Also Read Story

दिल्ली में किशनगंज के 17 वर्षीय युवक की चाकू मारकर हत्या

सुपौल: थानेदार कह रहे थाने में बिना घूस दिए कोई काम नहीं होता, वीडियो वायरल

कटिहार: आधार कार्ड बनवाने आई महिला का बच्चा चुराकर एक लाख में बेच दिया, 4 महिलाएं गिरफ्तार

अररिया: थाने में जीजा-साली ने की थी आत्महत्या, सीसीटवी फुटेज से ख़ुलासा

अररिया: पुलिस कस्टडी में जीजा-साली की मौत, आक्रोशित ग्रामीणों ने थाने में लगाई आग

सहरसा में छापेमारी के दौरान पुलिस पर फायरिंग, AK-47 के साथ एक गिरफ्तार

अररिया: कुख्यात लॉरेंस बिश्नोई गैंग का शूटर भारत-नेपाल सीमा से गिरफ़्तार

सुपौल लोकसभा चुनाव: चुनाव से दो दिन पहले प्रत्याशी कलीम खान का अपहरण कर पेड़ से लटकाने का आरोप

कटिहार: खेत से मिली 54 वर्षीय स्कूल गार्ड की लाश, जांच में जुटी पुलिस

पुलिस ने बताया कि इन जगहों पर आईपीएल के दौरान बड़े पैमाने पर सट्टेबाज़ी का धंधा चलाया जा रहा था। फ़िलहाल कटिहार पुलिस ने 5 सट्टेबाज़ों की गिरफ्तारी की है। पुलिस को सट्टेबाज़ों की एक बड़े रैकेट के सक्रिय होने का अंदेशा है, जिसके लिए सर्च ऑपेरशन जारी है।


गिरफ्तार सट्टेबाज़ों के पास से 3 लैपटॉप, 16 मोबाइल फ़ोन, 2 टैब और 4 लाख 65 हज़ार रुपये नक़द बरामद किए गए हैं। इसके अलावा उनके अड्डे से 11 पासबुक, 8 एटीएम कार्ड, दो क्रेडिट कार्ड भी मिले हैं। पुलिस को कई नोटबुक भी मिले हैं जिनमें सट्टेबाजों का हिसाब किताब लिखा हुआ था। पुलिस इन सभी चीज़ों को खंगालने में लग गई है।

जानकारी के मुताबिक, जिले में सट्टेबाजों का एक बड़ा रैकेट काम कर रहा है और इस रैकेट के शहर से लेकर ग्रामीण इलाकों तक फैले होने की आशंका है।

सट्टेबाज़ों की गिरफ्तारी की जानकारी देते हुए एसडीपीओ ने कहा कि शहर और आसपास के इलाकों में सट्टेबाजी में कई युवा लिप्त हैं। इसकी सूचना पुलिस को मिलते ही सहायक थाना क्षेत्र अंतर्गत ललियाही व नगर थाना क्षेत्र अंतर्गत डेहरिया व अरगड़ा चौक पर छापेमारी अभियान चलाकर सट्टेबाज के मास्टरमाइंड के साथ अन्य को गिरफ्तार किया गया है।

एसडीपीओ ने बताया कि शुरुआती छापेमारी में दुर्गा साह, अमित पासवान, नारायण तिवारी, चुनना नायक सहित 5 सट्टेबाजों को गिरफ्तार किया गया है। इसमें कई और नाम सामने निकल कर आए हैं। पुलिस उन सभी लोगों की तलाश में जुटी हुई है।

एसडीपीओ ने आगे बताया कि इस मामले की छानबीन को लेकर एक टीम गठित की गई है जिसमें नगर थाना अध्यक्ष राघवेंद्र कुमार सिंह, आलोक कुमार, शिव शंकर कुमार, साहेब कुमार, स्नेहा कुमारी, मनीष कुमार और राहुल कुमार शामिल हैं। पुलिस को शक है कि इन सट्टेबाज़ों के तार राज्य के बाहर भी जुड़े हो सकते हैं।

‘मैं मीडिया’ ने अपनी पड़ताल में क्या पाया

पुलिस द्वारा सट्टेबाज़ों की गिरफ्तारी के बाद ‘मैं मीडिया’ की टीम ने यह पता लगाने के लिए कि आखिर ये सट्टेबाज काम कैसे करते हैं, जिले के कई मोहल्लों का दौरा किया, तो पाया कि कई युवा मैच के दौरान मोबाइल पर सट्टेबाजी कर रहे हैं। पड़ताल में यह बात सामने निकल कर आई कि सट्टेबाजी के जाल में 15 साल तक के युवा भी फंस रहे हैं।

सट्टेबाजी की प्रक्रिया जानने के लिए हमने कुछ युवाओं से बात की। पता चला कि सट्टा लगाने के लिए सबसे पहले एक आईडी लेनी पड़ती है जिसे लेने के लिए ₹1000 रुपये चुकाने पड़ते है। इस आईडी की शुरुआत ₹1000 से लेकर एक लाख रुपये तक होती है। जिसकी जितनी क्षमता होती है, वह उसके हिसाब से आईडी खरीद लेता है।

आईडी बनाने के लिए आईडी लेने वाले का नंबर बैंक से जुड़ा होना चाहिए। ऐसा होने पर उसके नाम से इंट्री होती है। पैसा मिलने के बाद पेशेवर सट्टेबाज उसे एक आईडी बनाकर देते हैं। मैच शुरू होने के बाद सट्टा लगाया जाता है और हर एक गेंद, चौके छक्के, विकेट, रन, कौन सा ख़िलाड़ी 50 या 100 बनाएगा, कौन टीम जीतेगी, जैसी क्रिकेट मैदान पर होने वाली घटनाओं पर जमकर सट्टे लगते हैं। सट्टेबाज आईडी लेने वाले के ई-वॉलेट में पैसे भेजते हैं जिसका इस्तेमाल कर युवा मैच के दौरान सट्टा लगाते हैं ।

सीमांचल की ज़मीनी ख़बरें सामने लाने में सहभागी बनें। ‘मैं मीडिया’ की सदस्यता लेने के लिए Support Us बटन पर क्लिक करें।

Support Us

सय्यद शादाब आलम बिहार के कटिहार ज़िले से पत्रकार हैं।

Related News

सोने की तस्करी करते किशनगंज का व्यापारी दिनेश पारीक समेत तीन लोग गिरफ्तार

किशनगंज: पुलिस ने मवेशी तस्करों के गिरोह को पकड़ा, 8 वाहन समेत 22 गिरफ्तार

पश्चिम बंगाल: दंपति के हाथ-पांव बांध लाखों के गहने लूटकर 6 बदमाश फरार

पूर्णिया में साइबर ठगों ने व्यवसाई के बैंक खाते से उड़ाये साढ़े पांच लाख रुपये, एक महीने में दर्ज नहीं हुई एफआईआर

हथियार के बल पर बंधन बैंक कर्मी से 1.68 लाख रुपये की लूट

कटिहार के आजमनगर में भीषण डकैती, फायरिंग और बम धमाकों से दहला गांव

किशनगंज: पेड़ से लटका मिला 17 वर्षीय युवती का शव, परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest Posts

Ground Report

किशनगंज के इस गांव में बढ़ रही दिव्यांग बच्चों की तादाद

बिहार-बंगाल सीमा पर वर्षों से पुल का इंतज़ार, चचरी भरोसे रायगंज-बारसोई

अररिया में पुल न बनने पर ग्रामीण बोले, “सांसद कहते हैं अल्पसंख्यकों के गांव का पुल नहीं बनाएंगे”

किशनगंज: दशकों से पुल के इंतज़ार में जन प्रतिनिधियों से मायूस ग्रामीण

मूल सुविधाओं से वंचित सहरसा का गाँव, वोटिंग का किया बहिष्कार