Main Media

Seemanchal News, Kishanganj News, Katihar News, Araria News, Purnea News in Hindi

Support Us

पश्चिम बंगाल: दंपति के हाथ-पांव बांध लाखों के गहने लूटकर 6 बदमाश फरार

घटना की सुबह पीड़ित परितोष कुमार दास ने एक पड़ोसी की मदद से घर का दरवाज़ा खुलवाया और फिर घटना की शिकायत पुलिस में की गई। दोपहर 1.30 बजे डालखोला एसडीपीओ दलबल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे और पीड़ितों से बात कर मामले का जायज़ा लिया।

isare jamil akhtar Reported By Isare Jamil Akhtar |
Published On :

पश्चिम बंगाल के उत्तर दिनाजपुर जिले में अपराधियों ने देर रात घर में घुसकर लाखों की लूट को अंजाम दिया। मामला चाकुलिया थानाक्षेत्र के बाजिसौर गांव का है जहां बुधवार देर रात करीब 1 बजे कुछ लुटेरे बाजिसौर निवासी परितोष कुमार दास के घर में घुस आए। लुटेरों ने घर में मौजूद दंपति को जबरन नशीला पदार्थ पिलाया और 40,000 रुपये कैश सहित लाखों के जेवर लेकर फरार हो गये।

परितोष दास ने बताया कि उनका परिवार घर में सो रहा था तभी छह लुटेरे लोहे की खिड़की तोड़कर घर में दाखिल हुए। परितोष, उनकी पत्नी और छोटी बेटी को सोता देख लूटेरे उनके कमरे में घुस गए। अपराधियों ने परितोष और उनकी पत्नी को हथियार दिखाकर डराया और उनके हाथ, पैर बांध कर जबरन नशीला पदार्थ पिलाकर लूट को अंजाम दिया। पीड़ित दंपति की बेहोशी का फायदा उठाकर लुटेरों ने 40,000 रुपये कैश और आभूषणों की लूटपाट की और रात के अंधेरे में फरार हो गए।

परितोष की पत्नी स्वीटी दास ने अपनी आपबीती सुनाते हुए कहा, “हम लोग सो रहे थे। आंख खुली तो देखे कि 5 से 6 लोग खड़े हैं और उनके मुंह में मास्क लगा हुआ है। उनको पहचान नहीं पाए। उनके हाथ में तलवार थी और उन लोगों ने हम लोगों के हाथ पांव बांध दिये और पता नहीं गिलास में घोलकर क्या पिला दिया। धमकी दे रहा था कि नहीं पीने से मार देंगे तो हम पी लिए। बहुत देर तक वो लोग ऊपर नीचे हर जगह तलाश किया।”


वह आगे कहती हैं, “वो लोग मेरी आलमारी की तरफ देख रहा था तो हम बोले उसमें कुछ भी नहीं है। उसमें मेरा गहना था, सब ले गया और सोना, चांदी, अंगूठी और जितना भी सामान था सब ले गया। रात को करीब डेढ़ बजे यह घटना हुई।”

घटना की सुबह पीड़ित परितोष कुमार दास ने एक पड़ोसी की मदद से घर का दरवाज़ा खुलवाया और फिर घटना की शिकायत पुलिस में की गई। दोपहर 1.30 बजे डालखोला एसडीपीओ दलबल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे और पीड़ितों से बात कर मामले का जायज़ा लिया।

मौके पर मौजूद पुलिस अधिकारी ने बताया कि घटनास्थल से मिली जानकारी के अनुसार कुछ गहने और कैश की लूट हुई है। अभी छानबीन की जा रही है आगे जो सुराग मिलेंगे, उनके आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

Also Read Story

किशनगंज: पुलिस ने मवेशी तस्करों के गिरोह को पकड़ा, 8 वाहन समेत 22 गिरफ्तार

पूर्णिया में साइबर ठगों ने व्यवसाई के बैंक खाते से उड़ाये साढ़े पांच लाख रुपये, एक महीने में दर्ज नहीं हुई एफआईआर

हथियार के बल पर बंधन बैंक कर्मी से 1.68 लाख रुपये की लूट

कटिहार के आजमनगर में भीषण डकैती, फायरिंग और बम धमाकों से दहला गांव

किशनगंज: पेड़ से लटका मिला 17 वर्षीय युवती का शव, परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप

ओडिशा से आया था नीरज पासवान हत्याकांड का शूटर, कटिहार एसपी ने और क्या क्या बताया

कटिहार: भाजपा विधायक कविता पासवान के भतीजे की गोली मारकर हत्या, एक गिरफ्तार

कटिहार: स्कूल की छत गिरने से दो मजदूरों की मौत

अरवल में मिनी गन फैक्ट्री का भंडाफोड़, 14 गिरफ्तार

सीमांचल की ज़मीनी ख़बरें सामने लाने में सहभागी बनें। ‘मैं मीडिया’ की सदस्यता लेने के लिए Support Us बटन पर क्लिक करें।

Support Us

Isare Jamil Akhtar is a graduate from Samsi College under University of Gour Banga. He has two years of experience in doing ground reports from Uttar Dinajpur district of West Bengal.

Related News

अररिया: बेख़ौफ अपराधियों ने हथियार दिखाकर बैंक कर्मी से लूटे 12 लाख रुपये

कटिहार में पत्नी के कर्ज को लेकर विवाद में पति ने तीन बच्चों समेत खुद को लगाई आग

अररिया में मूर्ति विसर्जन से आता ट्रैक्टर कैसे हुआ दुर्घटना का शिकार?

अररिया में सरस्वती विसर्जन से लौटता ट्रैक्टर दुर्घटनाग्रस्त, चार लोगों की मौत

गोपालगंज के AIMIM नेता हत्याकांड में तीन मुख्य अभियुक्त गिरफ्तार

बिहार के गोपालगंज में AIMIM जिला अध्यक्ष अब्दुल सलाम की गोली मारकर हत्या

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest Posts

Ground Report

सुपौल: देश के पूर्व रेल मंत्री और बिहार के मुख्यमंत्री के गांव में विकास क्यों नहीं पहुंच पा रहा?

सुपौल पुल हादसे पर ग्राउंड रिपोर्ट – ‘पलटू राम का पुल भी पलट रहा है’

बीपी मंडल के गांव के दलितों तक कब पहुंचेगा सामाजिक न्याय?

सुपौल: घूरन गांव में अचानक क्यों तेज हो गई है तबाही की आग?

क़र्ज़, जुआ या गरीबी: कटिहार में एक पिता ने अपने तीनों बच्चों को क्यों जला कर मार डाला