बिहार विधानसभा चुनावो को लेकर प्रचार प्रसार के दौर में नेताओं की ओर से वादों की झड़िया लगाई जा रही हैं। घोषणाओं के इस दौर में अब एक बड़ी घोषणा जन अधिकार पार्टी के मुखिया और प्रोग्रेसिव डेमोक्रेटिक एलायंस की ओर से सीएम कैंडिडेट पप्पू यादव की ओर से आई है।

जन अधिकार पार्टी के मुखिया ने ऐलान किया है कि अगर उनकी सरकार बनी तो बिजनेसमैन से इनकम टैक्स नहीं लिया जाएगा। इसके अलावा उन्होंने कहा कि राज्य में उद्योग को बढ़ावा देने के मकसद से उन्होंने यह घोषणा की है। पप्पू यादव ने कैमूर जिले के भभुआ में भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर के साथ एक रैली को संबोधित करते हुए इस बात का ऐलान किया।

बता दें कि बिहार विधानसभा चुनाव 2020 को लेकर पप्पू यादव ने चंद्रशेखर की पार्टी के साथ गठबंधन किया है। वे भभुआ में चुनावी रैली को संबोधित कर रहे थे। इसी दौरान उन्होंने यह घोषणा करते हुए कहा कि जब भी कोई मुसीबत आई, तब मैं जनता के बीच मदद के लिए मौजूद था। पिछले साल की पटना बाढ़ का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि उस वक्त सुशील मोदी हाफ पैंट पहन कर अपने परिवार के साथ भाग खड़े हुए लेकिन मैं लोगों के बीच था। सिर्फ बाढ़ ही नहीं, कोरोना, चमकी बुखार या कोई अन्य मुसीबत, मैंने हमेशा बिहार के लोगों की मदद की है।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि नीतीश राज में ही मुजफ्फरपुर शेल्टर होम में बच्चियों के साथ यौन शोषण हुआ। जिसको लेकर अभी तक कोई कठोर कार्रवाई नहीं हुई है। जाप मुखिया ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार देश में आरक्षण समाप्त करने की दिशा में काम कर रही है। नीतीश कुमार भी उसी गठबंधन का हिस्सा है। पप्पू यादव ने कहा कि इस बार बिहार की जनता नीतीश कुमार के 15 साल का हिसाब कर देगी।