बिहार विधानसभा चुनाव में अब LJP अध्यक्ष चिराग पासवान और बीजेपी के नेताओं के बीच बयानी जंग छिड़ गई है। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर के बयान पर चिराग पासवान ने बीजेपी को घेरा है। आजतक को दिए अपने एक इंटरव्यू में चिराग ने कहा कि अगर हम वोट कटवा हैं तो बीजेपी ने 2014 से क्यों साथ रखा है? उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार के दबाव में बीजेपी ऐसे बयान दे रही है। चिराग ने बीजेपी को नसीहत दी कि वो अपने विवेक का इस्तेमाल करे। वहीं चिराग पासवान ने इस बात को लेकर साफ—साफ कह दिया कि अगर बिहार के सीएम के तौर पर नीतीश कुमार की वापसी हुई तो वे और उनकी पार्टी पूरी तरह से NDA से अलग हो जाएंगे।

इस इंटरव्यू में चिराग ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मेरे पिता (रामविलास पासवान) को बहुत सम्मान दिया. मैं पीएम के साथ हूं और उनका सम्मान करता हूं। चुनाव होली की तरह है. इसमें कई रंग दिखते हैं. होली की तरह चुनाव के बाद भी लोग नहा-धोकर तैयार हो जाते हैं। चिराग ने कहा कि 143 सीटों पर चुनाव लड़ने का फैसला मेरा है. हम जेडीयू के खिलाफ उम्मीदवार उतारेंगे. कुछ बीजेपी के नेता नीतीश कुमार के इशारे पर बयान दे रहे हैं, लेकिन बिहार में बीजेपी और एलजेपी की सरकार बनेगी।

आपको बताते चलें कि शुक्रवार को केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा था कि LJP बिहार के चुनावों में कोई प्रभाव नहीं डाल पाएगी। LJP बिहार के चुनावों में सिर्फ एक वोट कटवा पार्टी बनकर रह जाएगी। प्रकाश जावड़ेकर ने स्पष्ट किया कि बिहार में केवल चार पार्टियां (बीजेपी, जदयू, हम और वीआईपी) ही साथ मिलकर चुनाव लड़ रही हैं।

उन्होंने कहा था कि चिराग बिहार में एक अलग रास्ते पर हैं। वह बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं का नाम लेकर लोगों को गुमराह कर रहे हैं। उन्होंने स्पष्ट कहा कि बीजेपी की कोई B या C टीम बिहार में नहीं है। वहीं जावड़ेकर के अलावा बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने भी एलजेपी पर खुलकर निशाना साधा था। संबित पात्रा ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा कि बीजेपी की कोई बी, सी या डी टीम नहीं है. एलजेपी बिहार की जनता को गुमराह करने की कोशिश कर रही है।

 

पापा ने किया था 143 सीटों पर लड़ने का फैसला

इससे पहले आजतक को दिए इंटरव्यू में चिराग ने इस बात से भी पर्दा उठाया था कि लोजपा के 143 सीटों पर चुनाव लड़ने का फैसला उनका नहीं बल्कि उनके पापा रामविलास पासवान का था। उन्होंने कहा कि एक बेटे के तौर पर मैं बुरी तरह से आहत था, जब मेरे पिता का नीतीश कुमार द्वारा बार-बार अपमान किया गया था। चिराग ने कहा कि 10 नवंबर को नीतीश कुमार सीएम नहीं बनेंगे।