बिहार के सहरसा ज़िले के लाल शहीद आर्मी GD जवान कुन्दन कुमार आज पंचतत्व में विलीन हो गए। पटना से देर रात कुन्दन कुमार का पार्थिव शरीर उनके पैतृक गांव सहरसा ज़िले के सत्तरकटैया प्रखंड के आरण गांव लाया गया। शुक्रवार सुबह करीब 11 बजे राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया गया।

शहीद के पांच वर्षीय बड़े पुत्र रौशन कुमार ने अपने पिता को मुखाग्नि देकर नम आंखों से विदाई दी। इससे पूर्व असम के जवानों ने शहीद के पार्थिव शरीर को गार्ड ऑफ ऑनर और शस्त्र सलामी दी।

इस दौरान ज़िला पदधिकारी कौशल कुमार, कोसी रेंज के डीआईजी सुरेश प्रसाद, एसपी राकेश कुमार सहित जिले के कई आलाधिकारी मौके पर मौजूद रहे।

अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए बिहार के पीएचईडी मंत्री विनोद नारायण झा, अनुसूचित जाति सह-जनजाति मंत्री रमेश ऋषिदेव, मधेपुरा सांसद दिनेशचंद्र यादव, राजद विधायक अरुण यादव सहित कई जनप्रतिनिधि शहीद के गांव आरण पहुंचे। वहां सभी ने एक-एक कर शहीद को श्रद्धांजलि दी। इसके बाद डीएम कौशल कुमार, डीआईजी सुरेश प्रसाद, एसपी राकेश कुमार सहित ज़िले के कई आलाधिकारियों ने भी उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की।

शहीद के अंतिम दर्शन के लिए लोगों का जनसैलाब उमड़ पड़ा और ‘शहीद कुन्दन कुमार अमर रहे’ के नारों से पूरा इलाका गूंज उठा।