बिहार में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर प्रचार प्रसार का दौर शुरू हो चुका है। कई पार्टियों के शीर्ष नेता अब रैली और आमसभा को संबोधित कर रहे हैं। वे जनता से अपील कर रहे हैं कि उनके उम्मीदवारों को जीताकर विधानसभा भेजें। इसी कड़ी में भाकपा माले के राष्ट्रीय महासचिव दीपांकर भट्टाचार्या भी आरा पहुंचे थे। जहां उन्होंने एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि बिहार का यह चुनाव देश में तानाशाही के खिलाफ होनेवाला चुनाव है। दीपांकर भट्टाचार्या ने महागठबंधन की ओर से आयोजित नागरिक सम्मेलन में हिस्सा लेते हुए लोगों को संबोधित करते हए एनडीए पर जमकर निशाना साधा।

सम्मेलन के बाद मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार की तानाशाही रवैया से देश भर में लोकतंत्र खतरे में है। जिसका परिणाम इस बार के बिहार विधानसभा चुनाव में भी देखने को मिलेगा। पूरे बिहार में एनडीए के खिलाफ जबरदस्त निर्णायक गठबंधन बना है जिसमें भाकपा माले राजद कांग्रेस समेत कई पार्टियां एक साथ मिलकर चुनाव लड़ रही है। उन्होंने कहा कि निश्चित तौर पर बिहार में फिर से बदलाव होगा और यहां नई सरकार बनेगी। इस दौरान पिछले चुनाव की याद दिलाते हुए दीपांकर भट्टाचार्या ने कहा कि जैसे 2015 में भोजपुर विधानसभा में एनडीए का खाता भी नहीं खुला था ठीक उसी तरह इस बार भी भाजपा और एनडीए गठबंधन का यहां खाता खोलना मुश्किल होगा।

हाथरस के मामले को लेकर एनडीए सरकार को घेरते हुए दीपांकर ने कहा कि हाथरस व मुजफ्फरपुर कांड बताती है कि हमारी देश की बेटियां इतनी असुरक्षित कभी नहीं थी जीतनी आज हैं। इस सरकार ने देश की जनता को ठगने का काम किया है। कोरोना काल में देश के मजदूर रोजी रोटी के लिए तरस रहे थे, युवा बेरोज़गार हो गए हैं और यहाँ की बेटियां असुरक्षित हैं। हमारा अहम मुद्दा यही है और इसी को लेकर हम लोग लागातार संघर्ष कर रहे है और हमारा चुनाव का एजेंडा भी यही होगा।

बीजेपी और उसके गठबंधन पर निशाना साधते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी सत्ता के लुलुपता के चलते उनका गठबंधन टुट रहा है। मीडिया कर्मियों ने जब दीपांकर से छात्र नेता कन्हैया कुमार को स्टार प्रचारक के तौर पर चुनाव में उतारने की बात पूछा तो उन्होंने कन्हैया कुमार को सीपीआई का नेता बताते हुए उनके स्टार प्रचारकों के लिस्ट को नहीं देखने की बात कह कर चुप्पी साध ली। वहीं जब उनसे महागठबंधन के नेता और सीएम कंडिडेट के बारे में पुछा गया तो दीपांकर भट्टाचार्या ने कहा कि निश्चित तौर पर महागठबंधन के बड़े घटक दल के तौर पर राजद है और सीएम कैंडिडेट के तौर पर तेजस्वी यादव चेहरा हो सकते है। बता दें कि इस जनसभा से पहले दीपांकर आरा शहर स्थित जेपी स्मारक स्थल पहुंचे थे ओर वहां उन्होंने जेपी की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया।