Main Media

Seemanchal News, Kishanganj News, Katihar News, Araria News, Purnea News in Hindi

Support Us

सहरसा का बाबा कारू खिरहर संग्रहालय उदासीनता का शिकार

बिहार के सहरसा में रक्त काली मंदिर स्थित बाबा कारू खिरहर संग्रहालय का बुरा हाल है। इस संग्रहालय में जितनी भी मूर्तियां रखी हुई थीं, सभी जमींदोज होती जा रही हैं।

Sarfaraz Alam Reported By Sarfraz Alam | Saharsa |
Published On :

बिहार के सहरसा में रक्त काली मंदिर स्थित बाबा कारू खिरहर संग्रहालय का बुरा हाल है। इस संग्रहालय में जितनी भी मूर्तियां रखी हुई थीं, सभी जमींदोज होती जा रही हैं।

बता दें कि संग्रहालय का उद्घाटन तत्कालीन मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव की सरकार में 10 फरवरी 2004 को किया गया था और उद्घाटन करने के लिए कला संस्कृति मंत्री अशोक कुमार सिंह यहां पहुंचे थे।

उद्घाटन के बाद से ही इस संग्रहालय में काफी भीड़ रहने लगी, क्योंकि लोग यहां रखी प्राचीन काल की मूर्तियों को देखने के लिए आते थे।


इस संग्रहालय में भारत के लोग और उनकी संस्कृति गुड़िया के माध्यम से प्रदर्शित की जाती थी। साथ ही यहां बिहार के विभिन्न स्थानों से प्राप्त पुरानी सामग्रियां भी रखी हुई थीं। लेकिन उद्घाटन के 1 साल बाद ही साल 2005 में दुर्भाग्य से इस संग्रहालय से बुद्ध की मूर्ति चोरी हो गई, जिस कारण संग्रहालय बंद हो गया।

लगभग 16 साल बाद 4 अप्रैल 2021 को एनडीए सरकार में कला संस्कृति मंत्री बने आलोक रंजन ने इसे फिर से खुलवाया। लेकिन दोबारा उद्घाटन होने के बाद यहां न तो प्राचीन काल का कोई सामान है और न ही किसी तरह का सौंदर्यीकरण या जीर्णोद्धार कार्य कराया गया है।

यहां मौजूद अनिल कुमार बताते हैं कि यहां ना तो सुरक्षा है ना सफाई है ना सौंदर्यीकरण हैं और ना ही सामान है, सिर्फ संग्रहालय का ढांचा ही है। वह आगे कहते हैं कि यहां की सरकार की उदासीनता व प्रशासन की लापरवाही के कारण यह संग्रहालय उदासीनता का शिकार बन चुका है।

स्थानीय बुज़ुर्ग शंभू प्रसाद यादव को तो मानो अब इस संग्रहालय के जीर्णोद्धार की उम्मीद ही नहीं है। वह कहते हैं कि सरकार इसको अच्छा कर देगी, तो बढ़िया है और अगर नहीं करेगी, तो वही लोग देखेंगे।

स्थानीय MLC अजय कुमार सिंह ने इसको लेकर जिला प्रशासन से बात करने का आश्वासन दिया।

सीमांचल की ज़मीनी ख़बरें सामने लाने में सहभागी बनें। ‘मैं मीडिया’ की सदस्यता लेने के लिए Support Us बटन पर क्लिक करें।

Support Us

एमएचएम कॉलेज सहरसा से बीए पढ़ा हुआ हूं। फ्रीलांसर के तौर पर सहरसा से ग्राउंड स्टोरी करता हूं।

Related News

किशनगंज: कृषि राज्य मंत्री कैलाश चौधरी ने कहा- “शराब माफिया और भूमाफिया चला रहे बिहार”

2024 व 2025 के चुनाव के लिए फिर खुद को मजबूत कर रही AIMIM

अररिया: एक महीने से लगातार इस गांव में लग रही आग, 100 से अधिक घर जलकर राख

कटिहार में महादलितों के लिए बनी आवासीय अंबेडकर कॉलोनी जर्जर

कटिहार: पूर्व मेयर, डिप्टी मेयर पर भ्रष्टाचार का आरोप, पीआईएल दायर

Orange Farming in Darjeeling: संतरे के लिए प्रख्यात दार्जिलिंग में संतरा उत्पादन दम तोड़ रहा

सारण में शराब पीकर ट्रेन में सवार व्यक्ति की ट्रेन में ही मौत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latests Posts

Ground Report

जर्जर भवन में जान हथेली पर रखकर पढ़ते हैं कदवा के नौनिहाल

ग्राउंड रिपोर्ट: इस दलित बस्ती के आधे लोगों को सरकारी राशन का इंतजार

डीलरों की हड़ताल से राशन लाभुकों को नहीं मिल रहा अनाज

बिहार में क्यों हो रही खाद की किल्लत?

किशनगंज: पक्की सड़क के अभाव में नारकीय जीवन जी रहे बरचौंदी के लोग