कोरोना वायरस के रोकथाम को लेकर देश भर में लाॅक डाउन लागू है। गरीब मजदूर असहाय लोग जिनके आय का श्रोत खत्म हो गया है, खाने पीने को मोहताज हैं। सामाजिक संस्था या सरकार की ओर से खाने पीने का सामान बांटा जा रहा है। कोरोना वायरस संक्रमण फैलने से रोकने के लिए मास्क और सेनेटाइजर भी दिया जा रहा है।

लेकिन बिहार की सत्ताधारी पार्टी जदयू के एक विधायक के साथ जो हुआ उसे जान कर आप सोचने पर मजबूर हो जाएंगे। किशनगंज जिला अंतर्गत ठाकुरगंज विधानसभा के विधायक नौशाद आलम अपने क्षेत्र में एक चचरी पूल का उद्घाटन करने पहुंचे थे। नूरीचौक पर विधायक अपने समर्थकों से मिल रहे थे तभी प्रिंस खान सूर्जापूरी नामक एक स्थानीय युवक ने लोगों के बीच विधायक नौशाद आलम को मास्क सेनेटाइजर सहित कलम और कॉपी भेंट कर दिया।

चचरी पूल का उद्घाटन करते विधायक नौशाद आलम / Image: Special arrangement

प्रिंस से जब मैं मीडिया ने संपर्क किया, तो उसने बताया कि

विधायक जी अपने विधानसभा में कुछ दे ही नहीं पा रहे हैं, इसीलिए हम आम जनता की जिम्मेदारी बनती है कि हम ही उन्हें कुछ दे दें

कलम और कॉपी के बारे में पूछे जाने पर उसने बताया कि

मैंने विधायक जी को कलम-कॉपी, मास्क और सेनेटाइजर इसीलिए दिया ताकि कलम कॉपी के इस्तेमाल से जनता की समस्याओं को लिख कर याद रख सकें। विधायक जी जनता के लिए कुछ नहीं बांट पा रहे हैं, इसीलिए हमारा कर्तव्य बनता है कि उन्हें उनका कर्तव्य याद दिलाया जाए

भेंट स्वीकार करने के लिए युवक ने विधायक नौशाद आलम का शुक्रिया अदा किया है।

मैं मीडिया ने विधायक नौशाद आलम का पक्ष जानने के उन्हें कई बार फ़ोन किया, लेकिन उनका फ़ोन आउट ऑफ़ रीच आ रहा है। हमने उन्हें सवाल मैसेज कर दिया है। विधायक नौशाद आलम का पक्ष आते ही खबर को अपडेट कर दिया जाएगा।