एक पत्नी के लिए सबसे कीमती अगर दुनिया में कुछ है तो वो है सुहाग। लेकिन किशनगंज के एक कलयुगी पत्नी ने अपने आशिक को हासिल करने के लिए अपने सुहाग को ही मौत के घाट उतार दी। पुलिस को गुमराह करने के लिए मृतक की पत्नी ने अपने पुराने दुश्मनों के नाम पुलिस को दर्ज करवाया था।

किशनगंज पुलिस के सामने हिरासत में खड़ी महिला का नाम सुनीता देवी है और ठीक उसके बगल में खड़ा सुनीता देवी का आशिक महेंद्र है। दोनों के बीच पिछले छः वर्षो से अवैध संबंध था। सुनीता देवी पर इतना संगीन आरोप है जिसे जानकर जल्दी आपको यकीन नहीं होगा। प्रेम प्रसंग में रोड़ा बन रहे पति लाल चंद को उसकी पत्नी सुनीता देवी ने अपने आशिक महेंद्र उर्फ मेन के संग मिलकर ऐसा घिनौना साजिश रचा जिसे सुनकर आपका होश उड़ जाएगा। क्योंकि पति पत्नी का पवित्र रिश्ता अग्नि के सात फेरे लेते वक्त सात जन्मों तक साथ रहने की सौगंध खायी जाती हैं। वही आशिक के साथ मिलकर पत्नी ने 23 मई की देर रात अपने पति लाल चंद को मौत के घाट उतार दिया। मृतक की पत्नी सुनीता देवी के फर्दबयान के आधार पर तीन नामजद एवं दो अज्ञात के विरूद्ध बहादुरगंज थाना काण्ड सं0-147/21 दिनांक-24.05.2021 धारा-302/34 भा0द0वि0 एंव 3(2)(v) SC/ST Act के अन्तर्गत दर्ज किया गया। 

घटना के बाद पुलिस अधीक्षक, किशनगंज द्वारा इस घटना को गंभीरता से लेते हुए अनुमण्डल पुलिस पदाधिकारी, अनवर जावेद के नेतृत्व में एक SIT का गठन किया गया। उक्त टीम द्वारा तकनीकी अनुसंधान के माध्यम से साक्ष्य संकलन करते हुए दिनांक-02/06/2021 के अहले सुबह महेन्द्र लाल उर्फ मेन को गिरफ्तार किया गया। पुलिस द्वारा पूछताछ के क्रम में हत्या के राज पर से पर्दा उठा।

पुलिस को दिए बयान के मुताबिक महेंद्र का पिछले पाँच-छः वर्षों से मृतक की पत्नी सुनीता देवी से अवैध संबंध रहा है, जिसकी जानकारी मृतक को थी। जिसको लेकर मृतक द्वारा इस अवैध संबंध का निरन्तर विरोध किया जा रहा था तथा अपनी पत्नी को गाली-गलौज एवं मारपीट करता था। घटना के एक दिन पूर्व इसी अवैध संबंध को लेकर मृतक एवं महेन्द्र उर्फ मेन के बीच गाली-गलौज की घटना हुई थी। तत्पश्चात दिनांक-23/05/2021 के संध्या में महेन्द्र एवं सुनीता के बीच घटना कारित करने के संबंध में योजना को अंतिम रूप दिया गया। योजनानुसार 23/05/2021 की रात्रि महेन्द्र उर्फ मेन केवल जांघिया पहने हुए चाकू के साथ मृतक के घर आया तथा योजनानुसार मृतक की पत्नी ने दरवाजे के एक किवाड़ को बन्द एवं दूसरे को सटा कर रखा था। महेन्द्र उर्फ मेन अन्दर घुसकर गहरे नींद में सोये हुए लालचंद के गले पर चाकू से वार करके उसकी हत्या कर फरार हो गया। गिरफ्तार महेन्द्र उर्फ मेन की निशानदेही पर घटना में प्रयुक्त चाकू को घर से बरामद किया गया।

पुलिस ने आरोपी महिला और उसके आशिक को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। दोनों ने अपना अपराध भी स्वीकार कर लिया है।