Sunday, May 15, 2022

मैं मीडिया का 12 मई सीमांचल बुलेटिन

Must read

Main Mediahttps://mainmedia.in
This story has been done by collective effort of Main Media Team.

पूर्णिया बाल सुधार गृह से 11 बच्चे फरार


सबसे पहले सबसे बड़ी खबर। बुधवार सुबह पूर्णिया के बाल सुधार गृह से 11 बच्चे फरार हो गये। बताया जा रहा है कि सभी बच्चों ने सुरक्षाकर्मी को बंधक बनाकर गेट की चाबी ले ली और 11 बच्चे चारदीवारी फांद कर फरार हो गये। वहीं एक बच्चा दीवार ऊंची होने के कारण फांद नहीं पाया। घटना की खबर मिलते ही गार्ड की आवाज पर अन्य सुरक्षा कर्मी मौके पर पहुंचे और उस बच्चे को पकड़ लिया। उल्लेखनीय हो कि बाल अपराधियों को सुधारने के लिए बाल सुधार गृह मे रखा जाता है। सुरक्षा गार्ड ने कहा कि बच्चों ने उनके चेहरे पर चादर लपेट दी और हमला कर उनका दांत तोड़ दिया, इसके बाद चाबी लेकर फरार हो गये। फरार बच्चों में से एक बच्चे की मां बेचैन होकर अपने बच्चे को तलाशते हुए बाल सुधार गृह पहुंची, उन्होंने कहा कि 10 दिनों में ही उसे छुट्टी मिलने वाली थी, फिर वह क्यों भागेगा। गौरतलब हो कि चाइल्ड प्रोटेक्टर अधिकारी पहले से ही कहते रहे हैं कि यहां और अधिकारी व सुरक्षा कर्मी की जरूरत है।

वहीं कटिहार जिले की पुलिस ने पूर्णिया पर्यवेक्षण गृह से फरार बाल कैदियों को अपनी कस्टडी में लिया है। कटिहार नगर थाना पुलिस ने सिविल ड्रेस में इन सभी बाल कैदियों को गुप्त सूचना के आधार पर रोहित पूरा, विक्रमपुर से अपनी कस्टडी में लिया। बताया जा रहा है कि इन बाल कैदियों में कई हत्या और लूट जैसी संगीन वारदात में भी आरोपित हैं। इन बाल बंदियों को नियम अनुसार पूर्णिया पुलिस के हवाले किया जाएगा।

किशनगंज के नए डीएम ने किया पदभार ग्रहण


किशनगंज के नए डीएम के रूप में बुधवार को श्रीकांत शास्त्री ने पदभार ग्रहण कर लिया। पदभार ग्रहण करने के उपरांत डीएम एक्शन में नजर आये। उन्होंने जिले के सभी विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक कर जिले में चल रही योजनाओं का निरीक्षण किया और फीडबैक भी लिया। डीएम ने कहा कि उनकी पहली प्राथमिकता शिक्षा, स्वास्थ्य और जिले में कानून व्यवस्था बनाए रखना और सरकारी योजनाओं का सही क्रियान्वयन कराना है। आपको बता दें कि शनिवार को बड़े पैमाने पर बिहार में IAS अफसरों का तबादला किया गया था, जिसमें किशनगंज, अररिया और पूर्णिया के डीएम भी शामिल थे। अररिया के नए डीएम के रूप में इनायत खान ने सोमवार को ही पदभार ग्रहण कर लिया था। वहीं पूर्णिया के नए डीएम सुहर्ष भगत ने मंगलवार को पदभार ग्रहण किया।

नेपाल में नगर निकाय चुनाव को लेकर सुरक्षा एजेंसी चौकस


नेपाल में 13 मई को नगर निकाय चुनाव है। चुनाव को लेकर न केवल नेपाल बल्कि नेपाल से सटे भारतीय इलाकों में भी सुरक्षा एजेंसी चौकस है। नेपाल नगर निकाय चुनाव के मद्देनजर बुधवार को अररिया के सिकटी से सटे नेपाल के सीमा क्षेत्र में सदर SDPO पुष्कर कुमार के नेतृत्व में फ्लैग मार्च किया गया, जिसमे बिहार पुलिस के अधिकारी और जवान सहित सीमा पर तैनात एसएसबी के जवानों ने भी भाग लिया। नेपाल से सटे एसएसबी के 20 बॉर्डर आउट पोस्ट इलाके में फ्लैग मार्च किया गया। सीमाई इलाकों में नेपाल की तरफ नेपाली पुलिस की ओर से भी फ्लैग मार्च में सहयोग किया गया और नेपाल पुलिस के अधिकारियोंं ने एसडीपीओ से मुलाकात कर चुनाव के दौरान विधि व्यवस्था बनाये रखने और लोगों की आवाजाही को लेकर अपील की गई। एसडीपीओ पुष्कर कुमार ने बताया कि नेपाल में होने वाले चुनाव के मद्देनजर इंडो नेपाल सीमा को 72 घंटों के लिए सील कर दिया गया है। नेपाल की विभिन्न नगर पालिकाओं के लिए शुक्रवार को होने वाले चुनाव को लेकर बुधवार को इंडो नेपाल सीमांत सिलीगुड़ी के पानीटंकी को बंद कर दिया गया है।

कटिहार में यातायात प्रशासन द्वारा सदर अस्पताल रोड, विनोदपुर एमजी रोड, मंगल बाजार सहित विभिन्न सड़कों पर अतिक्रमण मुक्त अभियान चलाया। इस दौरान बताया गया कि सड़कों के किनारे कई वाहन चालकों द्वारा अपनी बाइक खड़ी कर दी जाती है, जिससे जाम की समस्या शहर में उत्पन्न हो जाती है। इसी को लेकर यातायात प्रशासन द्वारा यह अतिक्रमण मुक्त अभियान चलाया जा रहा है। अभियान के दौरान मंगल बाजार से दो बाइक को जब्त किया गया और लगभग 10,000 से अधिक रुपए का जुर्माना वसूला गया।

उत्तर दिनाजपुर की इस्लामपुर नगरपालिका ने सरकारी जमीन पर अवैध रूप से स्थायी ढांचा का निर्माण कर चल रही दुकानों को हटाया। बुधवार को इस्लामपुर बस टर्मिनस के पास PWD की जमीन पर चल रहे रेस्टोरेंट और चाय की दुकान को दोबारा शुरु की जा रही थी, क्योंकि मंगलवार को दुकान का मकान आंधी में ढह गया था। नगरपालिका ने रेस्टोरेंट के मालिक को दूकान मरम्मत करने से रोक दिया। इस्लामपुर नगर पालिका का सख्त निर्देश है कि PWD की जमीन पर कोई स्थायी ढांचा नहीं बनाया जा सकता है। किसी भी अस्थाई दुकान से नगर पालिका को कोई आपत्ति नहीं थी। हालांकि बुधवार को अचानक हुई बेदखली से शहर में कोहराम मच गया। इस्लामपुर नगर पालिका के अध्यक्ष कन्हैयालाल अग्रवाल ने कहा कि “नगर पालिका ने बांस से स्थायी ढांचे के निर्माण के खिलाफ बेदखली का आदेश दिया था।

सिलीगुड़ी में कुछ महीनों पहले बालासन ब्रिज के क्षतिग्रस्त होने के बाद बालासन ब्रिज के अधिकारियों ने लोगों की आवाजाही की सुविधा के मद्देनजर बालासन नदी में हिम पाइप की मदद से एक वेदर ब्रिज का निर्माण किया। इससे लोगों को काफी हद तक राहत मिली | लेकिन पहाड़ी क्षेत्र और समतल में हुई भयानक बारिश से बालासन में बने वेदर ब्रिज के कुछ हिस्से को नुकसान हुआ है | साथ ही वेदर ब्रिज से जुड़ी सड़क के किनारे की जमीन में कटाव की स्थिति बन गई है। जैसे ही इसकी भनक प्रशासन को लगी उसने तत्परता दिखाते हुए मरम्मत शुरू कर दी।

कटिहार में रालोजपा यानी राष्ट्रीय लोकजनशक्ति पार्टी के एक शिष्टमंडल ने जिलाधिकारी को एक मांग पत्र सौंपा और स्वर्गीय राम विलास पासवान की मूर्ति स्थापित करने की मांग की। रालोजपा के जिलाध्यक्ष मोहम्मद जाहिद ने कहा है कि स्वर्गीय रामविलास पासवान का कटिहार से काफी लगाव रहा है और वह हमेशा शोषित वंचितों की आवाज बने हैं।

48 साल के बाद अररिया के बेलवा पुल पर भारी वाहनों का आवागमन ठप हो गया है। इस कारण अररिया होकर बिहार के किशनगंज, पश्चिम बंगाल के सिलीगुड़ी, असम, मणिपुर जाने वाले भारी वाहनों को अररिया से ही पूर्णिया की ओर मोड़ लेना होगा। इससे वाहनों को अतिरिक्त 60 किलोमीटर की दूरी तय करने के साथ कई टोल प्लाजा से गुजरना पड़ेगा। दरअसल राष्ट्रीय उच्च पथ प्रमंडल पूर्णिया ने अपनी जांच में एनएच 327 ई पर स्थित  बेलवा पुल के साथ इस रास्ते के डायवर्शन को कमजोर और क्षतिग्रस्त बताया है। इसी के आलोक में जिला प्रशासन ने इस सड़क पर मालवाहक बड़े वाहनों की आवाजाही पर रोक लगा दी है। सदर एसडीओ शैलेश चंद्र दिवाकर ने बताया कि पुल के क्षतिग्रस्त हो जाने के कारण वरीय अधिकारी के आदेश पर ज़ीरो माईल और जिला सीमा पर चरघरिया के पास हाइट बैरियर लगाया जा रहा है। बड़े मालवाहक वाहनों का परिचालन पूर्णिया के रास्ते होगा।

नेपाल के जलग्रहण क्षेत्रों से होकर बहने वाली कनकई नदी में बुधवार को अचानक जलस्तर बढ़ने से किशनगंज के सिंघीमारी के पलसा घाट पर बना चचरी पुल बह गया। इस दौरान पुल के ऊपर से तेज पानी बहने से कई लोग चचरी पुल में फंस गये। वे किसी तरह नदी से बाहर निकल पाये। दोपहर बाद धीरे धीरे नदी का जलस्तर घटने पर नदी पार के लोगों ने राहत की सांस ली। हालांकि चचरी पुल के बहने से लोगों को नाव का सहारा लेना पड़ा। बताते चलें कि बुधवार को दोपहर बाद कुछ लोग चचरी पुल पार कर रहे थे कि अचानक से नदी का जलस्तर तेजी से बढ़ने लगा। उस समय पुल पर कई लोग थे, जो नदी पार कर रहे थे। सभी लोगों ने भागते भागते किसी तरह पुल पार किया। पलसा निवासी फन्नु लाल ने बताया कि नेपाल में हुई बारिश से कनकई नदी में ग्यारह बजे के बाद पानी बढ़ने लगा। हालांकि एक बजे के बाद से नदी का पानी धीरे धीरे घटने लगा। अचानक नदी का जलस्तर बढ़ने से चचरी पुल कई जगह टूट गया है।

- Advertisement -spot_img

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img

Latest article