बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री और लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव ने आज हसनपुर विधानसभा सीट से नामांकन भर दिया है। बता दें कि तेजप्रताप यादव आज अपने लोगों के संग हसनपुर सीट के लिए अना पर्चा भरा। इस दौरान उनके छोटे भाई तेजस्वी यादव भी उनके संग मौजूद रहे। दोनों भाइयों ने एक साथ जाकर निर्वाची पदाधिकारी के सामने पर्चा दाखिल किया। बता दें कि इस दौरान उनके समर्थकों की भी भारी भीड़ देखने को मिली।

बड़े भाई तेजप्रताप यादव के नामांकन के साथ ही तेजस्वी का चुनाव प्रचार अभियान भी शुरू हो गया है। आज तेजस्वी ने इसकी शुरूआत करते हुए बिहार के सीएम नीतीश कुमार पर जमकर हमला बोला। तेजस्वी ने कहा कि वो बीस महीने के लिए बिहार की सरकार में रहे थे। उस समय के कार्यकाल पर कोई ऊंगली उठाकर दिखा दे। तेजस्वी ने मीडिया से बात करते हुए नीतीश कुमार के उस बयान को हास्यस्पद बताया जिसमें नीतीश कुमार ने लालू—राबड़ी दौर में कैबिनेट की बैठक नहीं होने की बात कही थी।

तेजस्वी ने कहा कि उन्हें इस बारे में बयान देना चाहिए कि बिहार का विकास 15 सालों में क्यों नहीं हुआ। बिहार में गरीबी क्यों नहीं मिटी। जिन लोगों ने 15 सालों में कोई काम नहीं किया है। उन्होंने कहा कि 18 महीने हम डीप्टी सीएम रहे हैं हमपर कोई दाग नहीं लगा।

 

हसनपुर में क्या होगा तेजप्रताप का

तेजप्रताप जो कि अभी महुआ सीट से विधायक हैं उन्होंने अपनी सीट बदल ली है। इसके कयास तो बहुत पहले से ही लग रहे थे। अब उम्होने पर्चा भी भर दिया है। लेकिन अभी भी उनकी राह आसान नहीं है। तेजप्रताप के सामने यहां जदयू के राजकुमार राय हैं दो दो बार से विधायक हैं। बता दें कि 1967 से ही इस सीट से यादव जीतते हुए आ रहे हैं। इसी कारण तेजप्रताप को यह सीट सेफ लगी। लेकिन उनके प्रतिद्वंदी भी यादव ही हैं और उस समय भी जदयू की ओर से जीते थे जब जदयू महागठबंधन में थी। यहां की बड़ी आबादी भले ही यादवों की हो लेकिन दोनों ओर मजबूत उम्मीदवार होने के कारण यह वोट एकमुश्त नहीं है।