Main Media

Seemanchal News, Kishanganj News, Katihar News, Araria News, Purnea News in Hindi

Support Us

मदरसा शिक्षा प्रणाली को प्रभावी बनाये जाने की आवश्यकता – राज्यपाल

खुदा बख्श लाइब्रेरी की निदेशक डॉ. शाइस्ता बेदार ने कार्यक्रम में शरीक होने के लिए राज्यपाल राजेंद्र विश्वनाथ आर्लेकर को धन्यवाद दिया और कहा कि खुदाबख्श लाइब्रेरी को हमेशा राज्यपाल का आशीर्वाद मिलता…

बिहार के कॉलेजों में लागू होने वाला CBCS आधारित चार वर्षीय स्नातक पाठ्यक्रम क्या है?

च्वाइस बेस्ड क्रेडिट सिस्टम यानी सीबीसीएस छात्रों को निर्धारित पाठ्यक्रमों, जिनमें मेजर, माइनर, स्किल एनहैंसमेंमेंट, एबिलिटी एनहैंसमेंट व अन्य शामिल हैं, में से विषयों को चुनने का विकल्प प्रदान करता है।

पूर्णिया विश्वविद्यालय में सीनेट की बैठक, राज्यपाल का साथ मिलकर काम करने का आह्वान

पूर्णिया विश्वविद्यालय (पीयू) के सीनेट हॉल में शनिवार को राज्यपाल व कुलाधिपति राजेंद्र विश्वनाथ आर्लेकर की अध्यक्षता में सीनेट की तीसरी बैठक आयोजित की गई।

पीयू सीनेट की आगामी तीसरी वार्षिक बैठक में राज्यपाल होंगे शामिल

पीयू के सीनेट की तीसरी वार्षिक बैठक आगामी 18 मार्च को सीनेट हॉल में प्रस्तावित है। बैठक की अध्यक्षता कुलाधिपति सह बिहार के राज्यपाल राजेन्द्र विश्वनाथ आर्लेकर करेंगे।

सात विश्वविद्यालय के कुलसचिवों के कार्यों व कर्तव्य निर्वहन पर रोक

बिहार के राज्यपाल के प्रधान सचिव ने सात विश्वविद्यालय के कुलसचिवों के कार्य व कर्तव्य निर्वहन पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी है।

क्या विश्वविद्यालयों की लचर शिक्षा व्यवस्था सुधारेंगे नए राज्यपाल

29 नवम्बर 2022 को सुनवाई करते हुए पटना हाईकोर्ट ने तो यह तक कह दिया था कि जब तक सत्र नियमित नहीं हो जाते हैं, तब तक विश्वविद्यालय का प्रशासन बिहार सरकार को…

राजेंद्र विश्वनाथ आर्लेकर ने ली बिहार के 41वें राज्यपाल की शपथ

बिहार के नए राज्यपाल राजेंद्र विश्वनाथ आर्लेकर का आज पटना में शपथ ग्रहण हुआ।समारोह में सीएम नीतीश कुमार और डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव भी मौजूद थे।

Latest Posts

Ground Report

क़र्ज़, जुआ या गरीबी: कटिहार में एक पिता ने अपने तीनों बच्चों को क्यों जला कर मार डाला

त्रिपुरा से सिलीगुड़ी आये शेर ‘अकबर’ और शेरनी ‘सीता’ की ‘जोड़ी’ पर विवाद, हाईकोर्ट पहुंचा विश्व हिंदू परिषद

फूस के कमरे, ज़मीन पर बच्चे, कोई शिक्षक नहीं – बिहार के सरकारी मदरसे क्यों हैं बदहाल?

आपके कपड़े रंगने वाले रंगरेज़ कैसे काम करते हैं?

‘हमारा बच्चा लोग ये नहीं करेगा’ – बिहार में भेड़ पालने वाले पाल समुदाय की कहानी