नीति आयोग ने सतत विकास लक्ष्यों Sustainable Development Goals (SDG) पर अपनी तीसरी रिपोर्ट 3 जून, गुरुवार को जारी कर दी। इस साल 2020-21 की रिपोर्ट जारी होने पर केरल ने जहां 75 अंको के साथ एक बार फिर पहला स्थान हासिल किया तो बिहार राज्यों की रैकिंग में 52 अंको के साथ सबसे फिस्सडी रहा हैं। वहीं केंद्र शासित प्रदेशों की लिस्ट में चण्डीगढ़ ने 79 अंकों के साथ सबसे अच्छा प्रदर्शन किया। इस रिपोर्ट के जारी होते ही बिहार में तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) को नीतिश सरकार को घेरने का सुनहरा मौका मिल गया। इसलिए इस रिपोर्ट के आधार पर उन्होंने राज्य सरकार को अपने ही अंदाज में घेर लिया। तेजस्वी यादव ने अपने ट्वीटर एकांउट पर नीतिश कुमार को बधाई देते हुए कहा दो इंजनों की ताकत वाले डबल इंजन सरकार के ड्राइवर, नीतिश जी आपको सबसे खराब प्रदर्शन के लिए बधाई!

किस आधार पर बताया गया बिहार को फिसड्डी

सतत विकास लक्ष्य की लिस्ट में केरल ने 100 अंकों में से 75 अंक हासिल करके सभी राज्यों में सबसे अच्छा किया। हिमाचल प्रदेश और तमिलनाडू दोनों 74 अंकों के साथ दूसरे स्थान पर रहे। इनके बाद आंधप्रदेश 72 अंकों के साथ तीसरे स्थान पर रहा है। जबकि सूचकांक में नीचे से असम 57 नंबर के साथ तीसरे, झारखंड 56 नंबर के साथ दूसरे और मात्र 52 अंकों के साथ बिहार पहले नंबर रहा है।

आपको बता दें कि इस सूचकांक में किसी राज्य या केंद्र शासित प्रदेश को स्वास्थ, शिक्षा, लिंग, आर्थिक विकास, पर्यावरण, और जलवायु परिवर्तन के आधार पर आकलन करके नंबर दिये जाते है। बिहार की स्थिति इतनी खराब इसी वजह से है क्योंकि बिहार इन्हीं पैरामीटर पर फेल हो गया। बिहार की आलोचना इस वजह से भी ज्यादा हो रही है क्योंकि जब पिछली बार रिपोर्ट जारी हुई थी तब भी बिहार ने सबसे खराब प्रदर्शन किया था।

तेजस्वी ने कहा नीतीश जी सबसे खराब प्रदर्शन के लिए बधाई!

आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने SDG रिपोर्ट में बिहार के खराब प्रदर्शन को चुनाव परिणामों से जोड़कर सरकार पर तंज कस दिया। तेजस्वी ने कहा कि केरल में जहां बीजेपी को केवल 0 सीट मिली तो उसने रैकिंग में टॉप कर दिया, बिहार में 40 में 39 सीटें मिली तो सबसे खराब प्रदर्शन है। आपको याद दिला दे कि तेजस्वी यादव 2019 के बिहार लोकसभा चुनाव परिणामों की बात कर रहे है क्योंकि बिहार में एनडीए ने भाजपा, जेदयू और लोजपा के साथ कुल मिलाकर 39 सीटें जीते थी। इसलिए चुनावी आकड़ों को रिपोर्ट में मिले नंबर से जोड़कर तेजस्वी ने दो इंजनों की ताकत वाले डबल इंजन सरकार के ड्राइवर, नीतिश कुमार पर तंज कसते हुए सबसे खराब प्रदर्शन के लिए उनको बधाई दी।

क्या है सतत विकास लक्ष्य सूचकांक

इस सूचकांक की शुरुआत दिसंबर 2018 में हुई थी जिसको भारत में युनाईटेड नेशन के साथ मिलकर तैयार किया जाता है। इसके अंतर्गत राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को 0 से 100 के बीच स्कोर दिया जाता है। राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को जो स्कोर मिलता उसके बाद उन्हें चार कैटेगरी में विभाजित किया जाता है। जिसमें 0-49, 50-64, 65-99 और 100 आती है। इस तरह से देखा जाए तो किसी ने 100 में से 100 अंक हासिल नहीं किए है। लेकिन इस सूचकांक में राज्यों और केंद्र शासित को लाने से उनके बीच एक कम्पटीशन बना रहता है जिससे सभी एक-दूसरे से बेहतर करने की कोशिश करते रहे। इस तरह से भारत खुद में अच्छा विकास करेगा और ग्लोबल स्तर पर दूसरे देशों में अच्छा मैसेज भी जाएगा।