किस बॉलीवुड सिंगर को सीमांचल बुलाना चाहते थे तस्लीमुद्दीन? क्या हुआ जब समाजवादी पार्टी छोड़ कर अपने विधायक समधी के साथ राजद का दामन थाम लिए थे तस्लीमुद्दीन? और तस्लीमुद्दीन के जन्मदिन पर द सजल शो में देखिए, ‘सीमांचल गाँधी’ पर लिखी एक ख़ास कविता गुर सियासत का जहाँ सबने सीखा, सियासत का वो स्कूल उजड़ गया। याद आएंगे चचा तस्लीम ‘सजल’, वो खुशबू बनकर यूँ बिखर गया।