केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान की अंतिम यात्रा शुरू हो चुकी है। इस यात्रा में उनके परिजनों के साथ साथ हजारों की संख्या में कार्यकर्ता और उनके सर्मथक भी शामिल हुए। बता दें कि पटना के दीघा घाट पर रामविलास पासवान का अंमित संस्कार किया जाएगा। एसके पुरी स्थित उनके आवास से उनके पार्थिव शरीर को लेकर बेटे चिराग निकल चुके हैं।

रामविलास पासवान के पार्थिव शरीर को अंतिम संस्कार के लिए ले जाया जा रहा है। इस दौरान राजनीतिक नेता और समर्थक जुटे हुए हैं। उनकी अंमित यात्रा में उनके कई चाहनेवाले रोते हुए भी नज़र आए। बता दें कि लगातार राम विलास के पार्थिव शरीर का अंतिम दर्शन के लिए लोगों की हुजूम जमा हो रही है। ऐसे में उम्मीद लगाई जा रही है कि 2 बजे तक उनका अंतिम संस्कार हो सकेगा। पटना के दीघा स्थित जनार्दन घाट में अंतिम संस्कार किया जाना है. इस दौरान बेटे चिराग पासवान पिता राम विलास पासवान को मुखाग्नि देंगे।

बता दें कि 74 साल के केन्द्रीय मंत्री रामविलास पासवान का देहांत 08 तारीख की रात में हुआ था। बता दें कि वो लंबे समय से बीमार चल रहे थे। हाल में उनके हॉर्ट की सर्जरी भी हुई थी। उनके जाने के बाद से बिहार समेत देश की राजनीति में एक शून्य की स्थित बन गई है। उनके सम्मान में कल राष्ट्रपति भवन में राष्ट्रीय ध्वज को भी झुकाया गया था।