Main Media

Seemanchal News, Kishanganj News, Katihar News, Araria News, Purnea News in Hindi

Support Us

पूर्णिया के डीएम, नगर आयुक्त व एसडीएम ने कोर्ट में खड़े होकर लगाई माफी की गुहार

गुरूवार को पूर्णिया के डीएम सुहर्ष भगत, नगर आयुक्त आरिफ अहसन, एसडीएम राकेश कुमार रमण व बिजली विभाग के एलेक्ट्रिकल इंजीनियर न्यायाधीश सत्यव्रत वर्मा के न्यायालय में सदेह उपस्थित होकर अपने गैर संवैधानिक कार्य के लिए माफी की गुहार लगाई।

Novinar Mukesh Reported By Novinar Mukesh |
Published On :

गुरूवार को पूर्णिया के डीएम सुहर्ष भगत, नगर आयुक्त आरिफ अहसन, एसडीएम राकेश कुमार रमण व बिजली विभाग के एलेक्ट्रिकल इंजीनियर न्यायाधीश सत्यव्रत वर्मा के न्यायालय में सदेह उपस्थित होकर अपने गैर संवैधानिक कार्य के लिए माफी की गुहार लगाई। उनकी ओर से एएजी-4 अंजनी कुमार ने न्यायालय को भरोसा दिलाया कि वो मामले पर स्वयं नज़र रखेंगे और जल्द से जल्द म्युनिसिपल बिल्डिंग ट्राइब्यूनल में गणपूर्ति (कोरम) का प्रयास करेंगे ताकि यह अपीलीय प्राधिकार सुचारू रूप से काम कर सके।

न्यायाधीश सत्यव्रत वर्मा के न्यायालय ने म्युनिसिपल बिल्डिंग ट्राइब्यूनल में गणपूर्ति और उसके सुचारू रूप से काम करने की शुरूआत से लेकर छह महीने के अंदर याचिकाकर्ता के मामले का निष्पादन करने का निर्देश जारी किया। न्यायालय ने तब तक नगर आयुक्त, पूर्णिया व एसडीएम पूर्णिया सदर के आदेश को स्थगित कर दिया है।

इससे पहले एएजी-4, अंजनी कुमार ने न्यायालय को भरोसा दिलाया कि वो अपीलीय प्राधिकार के गठन की जानकारी से विद्वान एडवोकेट जेनरल को अपडेट कराते रहेंगे।


न्यायाधीश सत्यव्रत वर्मा के न्यायालय ने याचिकाकर्ता को म्युनिसिपल बिल्डिंग ट्राइब्यूनल के गणपूर्ति अथवा गठन होने पर स्टे की प्रार्थना का विकल्प खुला रखा है।

ज्ञात हो कि जिला स्कूल रोड, पूर्णिया अवस्थित जेएनजे पनोरमा स्क्वायर के चौथे तल पर नगर आयुक्त, आरिफ अहसन द्वारा निगरानी वाद चलाकर दस लाख का जुर्माना लगाने का आदेश पारित किया। अपने आदेश में नगर आयुक्त ने सन्दर्भित चौथे तल को तोड़ने और एक महीने के भीतर संशोधित योजना के साथ पेश होने का आदेश दिया।

Also Read Story

शराबबंदी कानून की धज्जियां उड़ा रहे पुलिस और आबकारी पदाधिकारी

कटिहार जिले के पांच ओपी को मिला थाने का दर्जा

किशनगंज के डे मार्केट सब्जी मंडी को हटाये जाने के विरोध में सब्जी विक्रेता हड़ताल पर

लोकसभा चुनाव को लेकर भारत-नेपाल सीमा क्षेत्र समन्वय समिति की बैठक, लिए गए ये अहम फ़ैसले

बिहार बजट 2024: जानिए राज्य सरकार किस क्षेत्र में कितना खर्च करेगी इस वर्ष

प्रमंडल आयुक्त ने किशनगंज मंडलकारा का किया निरीक्षण, सफाई और बिल्डिंग में सुधार का आदेश

“बच्चा का एक्सीडेंट होगा तो डीएम साहब लाकर देगा?” – किशनगंज डीएम आवास के पास घेराबंदी से स्थानीय लोगों में आक्रोश

अररिया जिले में बैंकों की सुरक्षा भगवान भरोसे

अररिया का तापमान 5 डिग्री पर आया, 29 जनवरी तक स्कूलों के समय में बदलाव

नगर आयुक्त के इस आदेश के खिलाफ डॉक्टर संजीव वैश्यंत्री ने म्युनिसिपल बिल्डिंग ट्राइब्यूनल में अपील दायर किया और इसकी जानकारी नगर आयुक्त को दी। इसके बावजूद नगर आयुक्त के कहने पर बिजली विभाग के एलेक्ट्रिकल एग्जीक्यूटिव इंजीनियर ने विवादित भवन की बिजली काट दी। वहीं, एसडीएम पूर्णिया राकेश कुमार रमण ने चौथे तल के आठ परिवार को घर खाली करने का नोटिस जारी कर दिया। इस दौरान एसडीएम ने कानूनी प्रावधानों को ताक पर रख दिया। उन्होंने 01 अप्रैल, 2023 को नोटिस निर्गत किया, दो दिन के बाद नोटिस का तामिला हुआ और आठ परिवारों को घर खाली करने के लिए महज 04 अप्रैल 2023 तक की मियाद दी गई थी।

सीमांचल की ज़मीनी ख़बरें सामने लाने में सहभागी बनें। ‘मैं मीडिया’ की सदस्यता लेने के लिए Support Us बटन पर क्लिक करें।

Support Us

मधेपुरा में जन्मे नोविनार मुकेश ने दिल्ली से अपने पत्रकारीय करियर की शुरूआत की। उन्होंने दैनिक जागरण, दैनिक भास्कर , एडीआर, सेहतज्ञान डॉट कॉम जैसी अनेक प्रकाशन के लिए काम किया। फिलहाल, वकालत के पेशे से जुड़े हैं, पूर्णिया और आस पास के ज़िलों की ख़बरों पर विशेष नज़र रखते हैं।

Related News

बिहार सरकार ने 478 रेवेन्यू अफसर और अंचल अधिकारियों को बदला

पूर्णिया, अररिया, मधेपुरा, सहरसा के SP बदले, बिहार में 79 IPS अफसरों का तबादला

रवि राकेश बने पूर्णिया के एडीएम, बड़े स्तर पर हुआ प्रशासनिक अधिकारियों का तबादला

बंगाल पुलिस ने 28 जनवरी की न्याय यात्रा से संबंधित सार्वजनिक बैठक को अनुमति देने से क‍िया इनकार

नीतीश कुमार हमारे गार्जियन हैं, वह जो निर्णय लेंगे हमलोग उस पर तैयार हैं: मंत्री ज़मा ख़ान

किशनगंज: नदी कटान में बेघर हुए 15 परिवारों को मिला आवास

‘बिहार लघु उद्यमी योजना’ को कैबिनेट की स्वीकृति, 94 लाख ग़रीब परिवारों को मिलेंगे दो-दो लाख रुपये

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest Posts

Ground Report

क़र्ज़, जुआ या गरीबी: कटिहार में एक पिता ने अपने तीनों बच्चों को क्यों जला कर मार डाला

त्रिपुरा से सिलीगुड़ी आये शेर ‘अकबर’ और शेरनी ‘सीता’ की ‘जोड़ी’ पर विवाद, हाईकोर्ट पहुंचा विश्व हिंदू परिषद

फूस के कमरे, ज़मीन पर बच्चे, कोई शिक्षक नहीं – बिहार के सरकारी मदरसे क्यों हैं बदहाल?

आपके कपड़े रंगने वाले रंगरेज़ कैसे काम करते हैं?

‘हमारा बच्चा लोग ये नहीं करेगा’ – बिहार में भेड़ पालने वाले पाल समुदाय की कहानी