Subscribe Now

* You will receive the latest news and updates on your favorite celebrities!

Donate

By using our website, you agree to the use of our cookies.

Blog Post

चुनाव से पहले फिर बनमनखी चीनी मिल खुलने की उम्मीद, मंत्री बोलीं – चुनाव का मुद्दा नहीं
Breaking News

चुनाव से पहले फिर बनमनखी चीनी मिल खुलने की उम्मीद, मंत्री बोलीं – चुनाव का मुद्दा नहीं 

चुनावी साल आ गया है, नेता जी के पास वक्त कम है। लिहाजा अब उन मुद्दों को उठाने लगे हैं, जो दशकों से चुनाव में चुनावी मुद्दा बनता रहा है। ऐसा ही एक मुद्दा पूर्णिया का बनमनखी चीनी मिल का है।

पूर्णिया के बनमनखी चीनी मिल को बंद हुए वर्षों बीत गए और उसमें काम करने वाले कई कर्मी अब नहीं रहे। लेकिन, खंडहरनुमा चीनी मिल हर चुनाव में बड़ा मुद्दा बन जाती है।

Punria Banmankhi Sugar Mill Bima Bharti Karisna Kumar Rishi Raheja And Prasad

अब सूबे के दो मंत्रियों ने एक टीम के साथ चीनी मिल का दौड़ा किया है। लेकिन, उनके हिसाब से ये चुनावी मुद्दा नहीं है।

बिहार की गन्ना विकास मंत्री बीमा भारती कहती हैं,

ये चुनाव का मुद्दा नहीं है। ये हमलोगों का सपना है। मिल चल जाने के बाद हज़ारों मज़दूरों का बाहर पलायन रुक जाएगा और बिहार में रोज़गार मिलेगा।

बीमा भारती, गन्ना विकास मंत्री

मिल चलाने का काम अब मुंबई की रहेजा एंड प्रसाद कंपनी को मिला है।

Bima Bharti

मंत्री बीमा भारती ने जानकारी दी,

चीनी मिल बहुत दिनों से बंद पड़ी है। पटना की बैठक में तय हुआ था की काम रहेजा एंड प्रसाद कंपनी को दिया जाए। विजिट के बाद एस्टीमेट बनेगा।

बीमा भारती, गन्ना विकास मंत्री

वहीं, पर्यटन मंत्री सह स्थानीय विधायक कृष्ण कुमार ऋषि ने कहा,

कंपनी वाले इसे देख कर संतुष्ट हैं। देख कर लगता है बहुत जल्द सीमांचल के लोगों को लाभ मिलेगा। मुंबई की कंपनी रहेजा एंड प्रसाद यहां चीनी, एथेनॉल और बिजली का उत्पादन करेगी। बिहार में एक जगह इनकी फैक्ट्री चल भी रही है।

कृष्ण कुमार ऋषि, पर्यटन मंत्री सह स्थानीय विधायक
Krishna Kumar RIshi Banmankhi MLA

सूबे के दोनों ही मंत्री स्थानीय विधायक भी हैं और इस बार जनता में भ्रम नहीं फैले, इसके लिए पटना की एक टीम भी साथ आयी है और जमीन अधिग्रहण करने तक इंतजार करने की बात कह रही है।

वहीं, रहेजा एंड प्रसाद कंपनी के गोपाल प्रसाद कहते हैं,

अभी हमें ज़मीन ही नहीं मिली है। मंत्रीजी ने बताया है कि कल या परसों से कैबिनेट की बैठक होनेवाली है। ज़मीन मिलने के बाद अधिकतम 12 महीने का समय चाहिए।

गोपाल प्रसाद, रहेजा एंड प्रसाद कंपनी

बहरहाल, लोकतंत्र के महापर्व से पहले नेताजी का वायदा जनता के गले नहीं उतर रहा है। लेकिन, नेता जी विश्वास दिलाने के लिए कहते फिर रहे हैं कि इस बार चुनावी मुद्दा नहीं, बल्कि हक़ीक़त में बंद चीनी मिल नये स्वररूप में खुलेगी।

Related posts

Leave a Reply

Required fields are marked *