अररिया के जोगबनी बॉर्डर पर एनआरसी और नागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ हजारों की संख्या में लोगों ने सरकार के खिलाफ विरोध मार्च निकालकर प्रदर्शन किया। यह मार्च नेताजी चौक स्थित महमूदिया मदरसा से प्रारंभ होकर मुख्य मार्ग होते हुए इंडो नेपाल सीमा गांधी चौक पहुंची। लोगों ने सामुहिक रूप से कहा कि केंद्र सरकार द्वारा धर्म के आधार पर कानून बनाया जाना संविधान की हत्या है। केंद्र सरकार उक्त कानून को वापस ले वर्ना हमारा आंदोलन तथा सरकार की मुखालिफत जारी रहेगी। वहीं विरोध मार्च के दौरान लोगों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह के खिलाफ मुर्दाबाद तथा यह काला कानून वापस लो के नारे लगाये।