Main Media

Seemanchal News, Kishanganj News, Katihar News, Araria News, Purnea News in Hindi

Support Us

पीएम मोदी ने किया ऐतिहासिक कोसी रेल महासेतु का उद्घाटन, बोले — आज देश का हर हिस्सा रेल से जुड़ रहा

Reported By Sahul Pandey |
Published On :

[vc_row][vc_column][vc_column_text]प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज बिहार में वर्चुअल रैली कर रहे हैं। इस रैली में उन्होंने बिहार को योजनाओं की चौथी किस्त दी। चौथी किस्त में जिस एक योजना की सबसे ज्यादा चर्चा हो रही है वो है बिहार में हाल ही में तैयार हुआ ऐतिहासिक कोसी रेल महासेतु।

प्रधानमंत्री मोदी ने आज इस महासेतु से ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस योजना के साथ ही पीएम ने यात्री सुविधाओं से जुड़ी 12 रेल परियोजनाओं का भी उद्घाटन किया। मोदी ने जिन 12 रेल परियोजनाओं का उद्घाटन किया उसमें किउल नदी पर एक रेल सेतु, दो नई रेल लाइनें, पांच विद्युतीकरण से संबंधित, एक इलेक्ट्रिक लोकोमोटिव शेड और बाढ़ और बख्तियारपुर में तीसरी लाइन परियोजना शामिल है।

Also Read Story

पप्पू यादव ने मोदी सरकार पर साधा निशाना, कहा, “मंत्रिमंडल में बिहार की जनता के साथ खिलवाड़ क्यों?” 

क्या बिहार को विशेष राज्य का दर्जा देना संभव है?

वायरल ऑडियो: क्या किशनगंज में भाजपा नेताओं ने अपना वोट कांग्रेस के तरफ ट्रांसफर कराया?

पप्पू यादव कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे से मिले, कांग्रेस को दिया अपना समर्थन

पप्पू यादव ने प्रियंका गांधी से की मुलाक़ात, कहा, “इस बार सौ पार, अगली बार कांग्रेस बहुमत पार”

CWC की बैठक में उठी राहुल गांधी को लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष बनाने की मांग

BJP के साथ सरकार में रहते हुए कोई एंटी मुस्लिम मुहिम नहीं चलने देंगे: जदयू

स्टॉक मार्केट के बुरी तरह से गिरने पर बोले राहुल गांधी ‘यह सबसे बड़ा स्कैम है, जेपीसी जांच हो’

लोकसभा चुनाव के बाद अब बिहार की इन सीटें पर होगा उपचुनाव

[wp_ad_camp_1]


आपको बता दें कि साल 1887 में निर्मली और भापतियाही के बीच मीटर गेज लिंक बना था। कोसी क्षेत्र में में बने इस लिंक को 1934 में आए भारी और नेपाल भूकम्प में भारी तबाही झेलनी पड़ी। यह पुल पूरी तरह से तबाह हो गया था। इसके बाद इसके फिर से निर्माण करने की कोशिश हुई लेकिन इस इलाके के लिए अभिशाप बन चुकी कोसी की तेज धार के कारण यह संभंव नहीं हो सका।

[wp_ad_camp_1]

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने 2003—04 में इस परियोजना को हरी झंडी दिखा दी। लेकिन सरकार बदलने के कारण काम अटक गया। केन्द्र में मोदी सरकार के आने के बाद अब यह सेतु बन कर तैयार हो चुका है। इस सेतु की लम्बाई 1.9 किलोमीटर है और इसके निर्माण पर 516 करोड़ रुपये खर्च हुए हैं।

 

पीएम ने एक दर्जन प्रोजेक्ट्स लोकार्पण किया

 

बर्चुअल रैली के दौरान पीएम ने करीब एक दर्जन प्रोजेक्ट्स का लोकार्पण और शुभारंभ किया। इस दौरान पीएम ने अपने संबोधन में कहा — “आज बिहार में रेल कनेक्टिविटी के क्षेत्र में नया इतिहास रचा गया है. कोसी महासेतु और किउल ब्रिज के साथ ही बिहार में रेल यातायात, रेलवे के बिजलीकरण, रेलवे में मेक इन इंडिया को बढ़ावा देने, नए रोज़गार पैदा करने वाले एक दर्जन प्रोजेक्ट्स का आज लोकार्पण और शुभारंभ हुआ है। उन्होंने कहा कि आज आत्मनिर्भरता औऱ आधुनिकता की प्रतीक, वंदे भारत जैसी भारत में बनी ट्रेनें रेल नेटवर्क का हिस्सा बन रही हैं। रेलवे में विकास से आज देश के अनछुए हिस्सों से जुड़ने में मदद हो रही है। पीएम ने कहा कि रेलमार्गों के चौड़ीकरण और बिजलीकरण की व्यवस्था का तेजी से विस्तार हो रहा है”।

[/vc_column_text][/vc_column][/vc_row][vc_row][vc_column][vc_separator border_width=”4″ css_animation=”bounceInUp”][/vc_column][/vc_row][vc_row][vc_column][vc_single_image image=”3718″ img_size=”full” alignment=”center” onclick=”custom_link” img_link_target=”_blank” link=”https://pages.razorpay.com/support-main-media”][/vc_column][/vc_row]

सीमांचल की ज़मीनी ख़बरें सामने लाने में सहभागी बनें। ‘मैं मीडिया’ की सदस्यता लेने के लिए Support Us बटन पर क्लिक करें।

Support Us

Related News

“अग्निवीर और यूसीसी पर विचार विमर्श करने की जरूरत है” – जदयू महासचिव केसी त्यागी

देर रात पूर्णिया के GMCH पहुंचे पप्पू यादव, अस्पताल की खराब व्यवस्था पर जताई चिंता

सुशील कुमार मोदी: छात्र राजनीति से बिहार के उपमुख्यमंत्री बनने तक का सफर

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार व राबड़ी देवी सहित 11 MLC ने ली शपथ

बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी को कैंसर, नहीं करेंगे चुनाव प्रचार

“मुझे किसी का अहंकार तोड़ना है”, भाजपा छोड़ कांग्रेस से जुड़े मुजफ्फरपुर सांसद अजय निषाद

Aurangabad Lok Sabha Seat: NDA के तीन बार के सांसद सुशील कुमार सिंह के सामने RJD के अभय कुशवाहा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest Posts

Ground Report

किशनगंज के इस गांव में बढ़ रही दिव्यांग बच्चों की तादाद

बिहार-बंगाल सीमा पर वर्षों से पुल का इंतज़ार, चचरी भरोसे रायगंज-बारसोई

अररिया में पुल न बनने पर ग्रामीण बोले, “सांसद कहते हैं अल्पसंख्यकों के गांव का पुल नहीं बनाएंगे”

किशनगंज: दशकों से पुल के इंतज़ार में जन प्रतिनिधियों से मायूस ग्रामीण

मूल सुविधाओं से वंचित सहरसा का गाँव, वोटिंग का किया बहिष्कार