किशनगंज नगर परिषद प्रशासन की ओर से शहर में सूअर पकड़ने का अभियान चलाया गया। नगर परिषद के द्वारा शहर के खगड़ा मोहल्ला और टाउन थाना परिसर सहित कई अन्य हिस्सों में अभियान चलाकर दर्जनों आवारा सूअरों को पकड़ा गया।

अभियान के बाद सूअर पालकों में हड़कंप मच गया। सूअर पलकों ने इसका विरोध जताया। हालांकि, बाद में सूअर पालकों की मांगों को ध्यान में रखते हुए सात दिन की मोहलत देते हुए अभियान को रोक दिया गया है।

हम आपकों बताते चलें कि शहर वासी आवारा सूअरों से काफी परेशान थे। आवारा सूअर शहर में गंदगी और बीमारी फैला रहे थे। यहां तक कि आवारा सूअर टाउन थाना कैम्पस में शरण लेने से पुलिसकर्मी भी परेशान थे। शहर के लोगों के द्वारा इसकी शिकायत जिला पदाधिकारी से करने के बाद नगर परिषद की नींद खुली और आज शहर में सूअर पकड़ने का अभियान चलाया गया।

सूअर पालकों ने इनका विरोध जताते हुए अपनी समस्याएं भी बताई और दस से पंद्रह दिनों की मोहलत मांगी। 

सूअर पालक मनोज मलिक ने कहा

हम 15 दिन तक सारा सुअर हम हटा लेंगे। हमारा है तेघरिया में है, मनोरंजन क्लब में है। सिर्फ 150 से 200 सुअर होंगें। बाकी लोगों के बारे में हम नहीं कह सकते

दरोगा शशी भूषण ने बताया


थाना में इतना ना सुअर सब अत्याचार करता है, जिसके चलते हमलोग बहुत परेशान थे। अब हमलोगों को बहुत यहाँ राहत मिलेगा और रहने में भी सुविधा होगी

किशनगंज नगर परिषद के कार्यपालक अभियंता दीपक कुमार ने बताया

आवारा सुअरों की समस्या किशनगंज के लिए बहुत पुरानी है। पूर्व में भी कई बार अभियान चलाया गया था, लेकिन सफलता नही मिली थी। चुकी इससे लॉ एंड आर्डर की समस्या भी उत्त्पन्न हो सकती थीं। कभी मन्दिर में कभी मस्जिद में, सुअर जाने का खतरा बना रहता था। दूसरी तरफ लोगों को तरह तरह का बीमारी का भी खतरा रहता था। हमलोगों ने जिला पदाधिकारी के निर्देश पे हमलोगों ने टीम बनाकर अभियान चलाया है, शहर से पूरे सुअरो को पकड़ करके यहां से कही ओर जाकर के शिफ्ट करवाया जाएगा। उसी संदर्भ में ये कार्य कर रहे है। इनके द्वारा कहा जा रहा है कि हमलोगों को कुछ समय दिया जाय, ताकि हमलोग स्वयं पकड़ करके इनको यहां से हटा दिया जाएगा। इसके लिखित अनुशासन पे इनको समय दिया जाएगा। अगर फिर भी हटाया तो प्राथमिकी दर्ज करेंगे इनलोगों पे