पश्चिम बंगाल (West Bengal) के विधानसभा चुनाव से पहले बीजेपी (BJP) ने तृणमूल कांग्रेस के नेताओं को बड़े-बड़े सपने दिखाकर अपने कुनबे में शामिल करने में कामयाबी हासिल की थी। लेकिन चुनाव में इतनी बड़ी हार के बाद अब वो कुनबा तितर-बितर होना शुरू हो गया है। इस कुनबे में से 11 जून, शुक्रवार को बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मुकुल राय और उनके बेटे सुभ्रांशु राय ने अलग होने का फैसला कर लिया। दोनों का स्वागत ममता के भतीजे और टीएमसी के राष्ट्रीय महासचिव अभिषेक बनर्जी ने प्रेस कांफ्रेंस में गले लगाकर किया। जिसका वीडियों ममता बनर्जी के फेसबुक पेज पर भी शेयर किया गया। वैसे तो बड़े-बड़े बीजेपी नेताओं ने मुकुल और बेटे के बाहर जाने पर तो कुछ खास नहीं कहा लेकिन बंगाल बीजेपी में डर साफ दिख रहा है। क्योंकि भाजपा के प्रदेश महासचिव सायंतन बसु ने कह दिया है कि अब अनुशासनात्मक कार्रवाई समिति बनाई जाएगी। जिससे उन लोगों के खिलाफ कार्रवाई होगी जो पार्टी के खिलाफ जा रहे है।

मुकुल रॉय ने साफ किया कि बीजेपी में कोई नहीं बचेगा

करीब 14 मिनट की शुरुआत मुकुल रॉय और उनके बेटे सुभ्रांशु रॉय के टीएमसी ज्वाइन करने से हुई। इसके बाद मुकुल रॉय और ममता बनर्जी ने पत्रकारों के सवालों का जवाब देना शुरु किया। मुकुल रॉय से जब सवाल किया गया कि टीएमसी छोड़कर आपने ममता बनर्जी और अभिषेक पर बहुत हमले किए, फिर अब आप वापस आ रहे है, आपकी विचारधारा क्या है? इस पर मुकुल रॉय ने बोला कि मैं तो बीजेपी छोड़कर टीएमसी में आ गया हूं और जो स्थिति अभी बंगाल में बीजेपी की है उसमें कोई बीजेपी में नहीं रहेगा। हालांकि ममता बनर्जी ने भी माना कि और लोग टीएमसी में आ रहे है।

सुवेंदु अधिकारी की बाते आते ही ममता ने कह दिया प्रेस कांफ्रेंस अब खत्म

ममता बनर्जी से जब फिर से विचारधारा को लेकर सवाल किया गया तो ममता पत्रकारों पर भड़क गई। ममता ने साफ लब्जों में बोला दिया कि मुझसे विचारधारा के बारे में सवाल मत करो। मुकुल रॉय ने पार्टी ज्वाइन की है यही फाइनल है और हम इसका स्वागत करते है। बीजेपी जो करती है, वो हम नहीं करते है, हम जो करते है वो सबके सामने है। ये मुकुल रॉय की स्वंय की इच्छा है कि वो बीजेपी के साथ नहीं रह सकते है। फिर इसके बाद प्रेस कांफ्रेंस में मुकुल रॉय से एक और सवाल किया गया कि आपके साथ चार पांच लोग आने वाले थे वो कब आएंगे? इस पर मुकुल रॉय ने कहा कि आगे देखते है कितने और लोग आते है। इसके तुरंत बाद जैसे ही सुवेंदु अधिकारी की बात आई, ममता ने माइक उठाया और बोल दिया कि प्रेस कांफ्रेस खत्म हुई।

मुकुल रॉय ने 4 साल और सुभ्रांशु राय ने 2 साल बाद की वापसी

मुकुल रॉय ने अपने बेटे सुभ्रांशु के साथ टीएमसी में शामिल होने से पहले ममता बनर्जी, अभिषेक बनर्जी और कई सारे बड़े नेताओं के साथ मुलाकत की थी। हालांकि मुकुल रॉय के टीएमसी छोड़ने की अटकले बंगाल विधानसभा चुनाव होने के बाद से ही चल रही है, क्योंकि वो बीजेपी से दूरी बनाकर चलते नजर आ रहे थे और हाल ही में अभिषेक बनर्जी, मुकुल रॉय से खुद मिलने भी गए थे। इसके बाद 11 जून शाम साढ़े चार बजे के बाद पक्का हो गया कि दोनों नेता टीएमसी में वापस आ रहे है। मुकुल रॉय ने बताया कि वो लिखित में जारी करके बताएंगे कि उन्होंने बीजेपी क्यों छोड़ दी। आपकों याद दिला दे कि 2016 में नारदा घूस खोरी ममाले के सामने के बाद मुकुल रॉय ने 2017 में बीजेपी ज्वाइन करी ली थी। फिर इसके बाद 2019 में उनके बेटे ने भी बीजेपी का दामन थाम लिया।