1985 (उपचुनाव) और 1991 में किशनगंज से जीत कर संसद पहुंचे सैय्यद शहाबुद्दीन जब विकास के मापदंड पर फेल हुए, तो किशनगंज लोकसभा की अवाम ने 1996 में सैय्यद शहाबुद्दीन का जमानत जब्त कर दिया, द सजल शो में देखिये सैय्यद शहाबुद्दीन और किशनगंज लोकसभा के अजीब सम्बन्ध की कहानी.