Main Media

Seemanchal News, Kishanganj News, Katihar News, Araria News, Purnea News in Hindi

Support Us

खबर का असर : मैं मीडिया की ग्राउंड रिपोर्ट के बाद जिलाधिकारी ने किया विद्यालय का औचक निरीक्षण

किशनगंज के जिलाधिकारी श्रीकांत शास्त्री ने किशनगंज शहरी क्षेत्र के डे मार्केट स्थित आशालता मध्य विद्यालय का औचक निरीक्षण किया।

Main Media Logo PNG Reported By Main Media Desk | Kishanganj |
Updated On :

किशनगंज के जिलाधिकारी श्रीकांत शास्त्री ने किशनगंज शहरी क्षेत्र के डे मार्केट स्थित आशालता मध्य विद्यालय का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के क्रम में डीएम ने विद्यालय संचालन के समय विद्यार्थियों और शिक्षकों की उपस्थिति को देखा। वर्ग संचालन की जानकारी ली और प्रधानाचार्य से शिक्षकों की उपस्थिति की सूचना लेने के बाद आवश्यक निर्देश दिए।

इस मौके पर डीएम ने विभिन्न कक्षाओं में जाकर शिक्षकों द्वारा पढ़ाए जा रहे अध्याय के बारे में छात्रों से पूछताछ भी की।

Also Read Story

दो कमरे के स्कूल में चल रहा स्मार्ट क्लास, कक्षाएं और कार्यालय, शौचालय नदारद

सीमांचल में चल रहा 3 दिन का तालिमी कारवां

स्कूल जर्जर, छात्र जान हथेली पर लेकर पढ़ने को विवश

महानंदा नदी निगल गई स्कूल, अब एक ही भवन में चल रहे दो स्कूल

तीन साल बाद भी बुनियादी सुविधाओं से वंचित पूर्णिया विश्वविद्यालय की लाइब्रेरी

सीमांचल में कैसे लाइब्रेरी कल्चर विकसित कर रहे युवा

मनचलों के डर से स्कूल जाने से कतराती हैं छात्राएं, स्कूल में सुविधाएं भी नदारद

शिक्षा मंत्री ने दिया शिक्षकों के ट्रांसफर को प्राथमिकता देने का आश्वासन

शिक्षकों से गैर शैक्षणिक कार्य क्यों करवाती है बिहार सरकार? पढ़िए बिहार के शिक्षा मंत्री चंद्रशेखर का जवाब

इस निरीक्षण के दौरान विद्यालय में शिक्षण कार्य, आधारभूत संरचना और अन्य मूलभूत सुविधाओं की उपलब्धता को लेकर जिलाधिकारी काफी गंभीर दिखे।

बता दें कि मैं मीडिया ने 22 नवम्बर की सुबह ही किशनगंज के दो विद्यालयों, आशालता मध्य विद्यालय और राजकीय कन्या मध्य विद्यालय की जर्जर स्थिति के बारे में एक ग्राउंड रिपोर्ट ‘स्कूल जर्जर, छात्र जान हथेली पर लेकर पढ़ने को विवश’ पब्लिश की थी।

इस खबर का असर इतनी तेजी से हुआ कि 22 नवंबर को ही किशनगंज जिले के जिला अधिकारी श्रीकांत शास्त्री विद्यालय का औचक निरीक्षण करने पहुंच गए और उन्होंने विद्यालय भवन के नए सिरे से निर्माण की आवश्यकता महसूस की और इसके मद्देनजर जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारियों को निर्देश भी दिए।

निरीक्षण के समय डीएम से श्रीकांत शास्त्री ने आशालता मध्य विद्यालय के प्रधानाध्यापक को शिक्षण कार्य समेत नियमित रूप से विद्यालय परिसर की साफ-सफाई, पर्याप्त रोशनी हेतु बिजली बल्ब, पंखा, बेंच डेस्क उपलब्धता, नियमित वर्ग संचालन जारी रखने हेतु निर्देश दिया।

निरीक्षण में जिलाधिकारी ने विद्यालय में पठन-पाठन और कार्यालय कार्य में सभी शिक्षक और लिपिक को अपनी निर्धारित भूमिका अदा करने का निर्देश दिया।

सीमांचल की ज़मीनी ख़बरें सामने लाने में सहभागी बनें। ‘मैं मीडिया’ की सदस्यता लेने के लिए Become A Member बटन पर क्लिक करें।

Become A Member

This story has been done by collective effort of Main Media Team.

Related News

शिक्षक बहाली के लिए अभ्यर्थियों का प्रदर्शन, मंत्री ने दिया जल्द बहाली का आश्वासन

स्कूल में घुसकर दलित प्रधानाध्यापिका से मारपीट, 20 दिन बाद भी गिरफ्तारी नहीं

छात्राओं का जीएनएम प्रिंसिपल पर गंभीर आरोप, अपनी सुरक्षा को लेकर भी चिंतित

मारवाड़ी कॉलेज में खुलेगा MANUU का सेंटर

मारवाड़ी कॉलेज में होगी 16 विषयों में पीजी की पढ़ाई

स्कूलों में शुक्रवार को छुट्टी: आधी हकीकत, आधा फसाना

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latests Posts

सहरसा का बाबा कारू खिरहर संग्रहालय उदासीनता का शिकार

Ground Report

स्कूल जर्जर, छात्र जान हथेली पर लेकर पढ़ने को विवश

सुपौल: पारंपरिक झाड़ू बनाने के हुनर से बदली जिंदगी

गैस कनेक्शन अब भी दूर की कौड़ी, जिनके पास है, वे नहीं भर पा रहे सिलिंडर

ग्राउंड रिपोर्ट: बैजनाथपुर की बंद पड़ी पेपर मिल कोसी क्षेत्र में औद्योगीकरण की बदहाली की तस्वीर है

मीटर रीडिंग का काम निजी हाथों में सौंपने के खिलाफ आरआरएफ कर्मी