बिहार में बहार है नीतीशे कुमार हैं लेकिन उन्हीं की पार्टी के नेता लाचार हैं। सुशासन का दावा करने वाले नीतीश कुमार की पार्टी JDU के नेता ही अब कानून व्यवस्था पर सवाल उठा रहे हैं।

 

 

आलम ये है कि पटना के सबसे पॉश इलाके बोरिंग रोड में एक JDU नेता की जमकर पिटाई कर दी गई और वो फूटा हुआ सिर लेकर इधर से उधर भागते रहे, मां-बहन की गालियां बकते रहे और अंत में पुलिस पर कार्रवाई न करने का आरोप लगाते हुए बीच सड़क धरने पर बैठ गए।

 

 

https://www.youtube.com/embed/StjADTtqQ1s

 

 

दरअसल युवा JDU के प्रदेश उपाध्यक्ष संजय कुमार उर्फ पप्पू सिंह का आरोप है कि कुछ गुंडों ने उनके घर में घुसकर पिटाई की और मौके पर पहुंची पुलिस मूक दर्शक बनी रही। घटना राजधानी पटना के एसके पुरी थाना इलाके की है। जहां सोमवार दोपहर JDU नेता की जमकर पिटाई हुई है, तस्वीरों में देखा जा सकता है कि पप्पू सिंह का सिर फटा हुआ है और वो पुलिस पर दूसरे पक्ष से सांठगांठ का आरोप लगा रहे हैं।

 

 

 

संजय कुमार उर्फ़ पप्पू सिंह का दावा है कि वे अपने घर में पूजा करवा रहे थे। इस प्रॉपर्टी को उन्होंने हाल ही में खरीदा था लेकिन कब्जा करने के इरादे से कुछ गुंडों ने घर में घुसकर पिटाई कर दी।

JDU नेता ने मारपीट का आरोप बीडी सिंह नाम के शख्स पर लगाया है। पप्पू सिंह पुलिस पर बीडी सिंह से पैसे लेने का भी आरोप लगा रहे हैं। JDU नेता की फेसबुक प्रोफाइल पर रविवार को दो वीडीओ पोस्ट किए गए हैं। जिसमें कुछ गार्ड डंडे और हथौड़ी लिए हुए नज़र आ रहे हैं। वीडियो में आरोप लगाया गया है कि बीडी सिंह के कहने पर ये गार्ड पप्पू सिंह के अपार्टमेंट का ताला तोड़ने आए थे।

फेसबुक प्रोफाइल देखकर ये भी पता चलता है कि सोमवार को युवा JDU के कार्यालय का उद्घाटन होना था और उसी प्रॉपर्टी पर पिछले कुछ दिनों से विवाद चल रहा था। हालांकि इस मामले में अभी तक बीडी सिंह या पुलिस का पक्ष सामने नहीं आ पाया है। लेकिन जिस तरह से JDU नेता पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं उससे इतना तो साफ है कि खुद सत्ताधारी दल के नेताओं को भी बिहार पुलिस पर भरोसा नहीं रहा।