Main Media

Seemanchal News, Kishanganj News, Katihar News, Araria News, Purnea News in Hindi

Support Us

IPL में धुंवाधार बैटिंग करने वाले ईशान किशन का बिहार से क्या रिश्ता है

इंडियन प्रीमियर लीग सीजन 13 के दसवें मुकाबले में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलौर ने भले ही सुपर ओवर में रोमांचक तरह से मुंबई इंडियंस को हरा दिया हो। लेकिन अपनी टीम की हार के बावजूद ईशान किशन (Ishan Kishan) हीरो बनकर उभरे है।

Seemanchal Library Foundation founder Saquib Ahmed Reported By Saquib Ahmed |
Updated On :

[vc_row][vc_column][vc_column_text]इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) सीजन 13 के दसवें मुकाबले में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलौर ने भले ही सुपर ओवर में रोमांचक तरह से मुंबई इंडियंस को हरा दिया हो। लेकिन अपनी टीम की हार के बावजूद ईशान किशन (Ishan Kishan) हीरो बनकर उभरे है।

बतादे कि दुबई इंटरनैशनल क्रिकेट स्टेडियम में खेले गए इस मुकाबले में RCB ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 3 विकेट के नुकसान पर 201 रन बनाये। जिसके जवाब में मुंबई इंडियंस ने भी 20 ओवर में पांच विकेट पर 201 रन बनाए। मुंबई इंडियंस ने सुपर ओवर में एक विकेट पर 7 रन बनाए, जबकि आरसीबी ने सुपर ओवर में 8 रन बनाकर मैच जीत लिया। हालाँकि सुपर ओवर में ईशान किशन को न उतरने को लेकर हुई आलोचना के बाद रोहित शर्मा ने कहा कि हमने पहले सोचा था कि किशन को सुपर ओवर में बल्लेबाज़ी के लिए भेजेंगे। लेकिन इतनी देर बल्लेबाज़ी करने की वजह से वह फ्रेश महसूस नहीं कर रहा था। इसीलिए हमने हार्दिक को भेजा।

Also Read Story

किशनगंज: उत्तर बिहार ग्रामीण बैंक के तत्कालीन मैनेजर पर 1 लाख रुपए से ज़्यादा के गबन का आरोप

अनियंत्रित हाइवा ट्रक की चपेट में आने से 13 वर्षीय छात्र की मौत, सड़क जाम

बिहार नगरपालिका चुनाव 18 और 28 दिसंबर को

असर: आपदा मंत्री शाहनवाज़ आलम ने दिलाया नदी कटान से स्थाई हल का भरोसा

किशनगंज: आदिवासी समुदाय के नाइट गार्ड की संदिग्ध अवस्था में मौत, हंगामा

अररिया के आजाद एकेडमी मैदान में होगा इमारत शरिया का ‘अजीमुश्शान जलसा’

कटिहार: ग्रामीण किसान बदमाशों के तांडव का शिकार , कहीं हत्या, तो कहीं मारपीट की खबर

दिघलबैंक में गलगलिया-अररिया रेललाइन मुआवज़े का विवाद थमा, निर्माण कार्य को हरी झंडी

खबर का असर : मैं मीडिया की ग्राउंड रिपोर्ट के बाद जिलाधिकारी ने किया विद्यालय का औचक निरीक्षण

 

हीरो बन कर उभरे ईशान किशन

22 वर्षीय ईशान किशन (Ishan Kishan) जब बल्लेबाजी करने उतरे उस वक्त मुंबई ने तीसरे ओवर में ही 16 रन पर दो विकेट गंवा दिए थे। शुरू में तो ईशान ने संभलकर खेलना शुरू किया। लेकिन बाद में अपना विस्फोटक रूप दिखाते हुए 58 गेंदों में 99 रन बनाकर मुंबई इंडियंस को जीत के मुहाने पर ला कर खड़ा कर दिया। लेकिन मैच जीते नही पाए। हालाँकि टीम के हार के बावजूद किशन के इस उम्दा पारी की तारीफें हो रही है।

 

कौन है ईशान किशन

बतादे कि विकेटकीपर बल्लेबाज़ ईशान किशन का जन्म 18 जुलाई 1998 को बिहार के पटना में हुआ था। उनके पिता का नाम प्रणव पांडे है वह पेशे से बिल्डर है। किशन ने अपनी शुरुआती पढ़ाई दिल्ली पब्लिक स्कूल, पटना से जबकि कॉलेज की पढ़ाई कॉलेज ऑफ कॉमर्स पटना से की है।

महेंद्र सिंह धोनी और एडम गिलक्रिस्ट को अपना आइडियल मानने वाले किशन ने अपने घरेलू क्रिकेट की शुरुआत बिहार के बजाये झारखंड की थी, क्योंकि बिहार राज्य बोर्ड की बीसीसीआई के साथ संबद्धता समाप्त हो गई थी। वर्तमान में भी किशन घरेलू क्रिकेट झारखंड के तरफ से ही खेलते है।

ईशान किशन पहली बार चर्चा में तब आए जब 2016 अंडर 19 वर्ल्ड कप के लिए उन्हें टीम का कप्तान नियुक्त किया गया। ईशान किशन इस टूर्नामेंट में कुछ खास नही कर पाए लेकिन अगले 2016-17 के रणजी सीजन में झारखंड की तरफ से 799 रन बनाने में कामयाब रहे। इतना ही नहीं उन्होंने झारखंड की तरफ से खेलते हुए दिल्ली के खिलाफ 273 रन की पारी खेली जो आज भी इस राज्य के किसी खिलाड़ी का इस टूर्नामेंट में सर्वश्रेष्ठ स्कोर है।

 

ईशान किशन की आईपीएल में एंट्री

2017 में गुजरात लॉयंस ने किशन को खरीदा। ईशान ने निचले क्रम में बड़े हिट लगाकर सभी टीमों का ध्यान खुद की तरफ खींच लिया। 2018 के आईपीएल नीलामी में ईशान किशन का बेस प्राइस 40 लाख रुपया रखा गया था, लेकिन मुंबई इंडियंस ने इन्हें 5. 5 करोड़ में खरीदा है।

[/vc_column_text][/vc_column][/vc_row][vc_row][vc_column][vc_separator border_width=”4″ css_animation=”bounceInUp”][/vc_column][/vc_row][vc_row][vc_column][vc_single_image image=”3718″ img_size=”full” alignment=”center” onclick=”custom_link” img_link_target=”_blank” link=”https://pages.razorpay.com/support-main-media”][/vc_column][/vc_row]

सीमांचल की ज़मीनी ख़बरें सामने लाने में सहभागी बनें। ‘मैं मीडिया’ की सदस्यता लेने के लिए Become A Member बटन पर क्लिक करें।

Become A Member

स्वभाव से घुमंतू और कला का समाज के प्रति प्रतिबद्धता पर यकीन। कुछ दिनों तक मैं मीडिया में काम। अभी वर्तमान में सीमांचल लाइब्रेरी फाउंडेशन के माध्यम से किताबों को गांव-गांव में सक्रिय भूमिका।

Related News

सीमांचल में चल रहा 3 दिन का तालिमी कारवां

कटिहार: खंडहरनुमा जर्जर इंदिरा आवास कभी भी बन सकता है बड़े हादसे की वजह

किशनगंज: वार्ड सदस्यों ने पंचायती राज मंत्री मुरारी प्रसाद गौतम का फूंका पुतला

हर साल कटाव का कहर झेल रहा धप्परटोला गांव, अब तक समाधान नहीं

किशनगंज: जदयू के नए प्रखंड अध्यक्षों का अभिनंदन समारोह, पोठिया और दिघलबैंक का चुनाव स्थगित

JD(U) के प्रखंड अध्यक्ष चुनाव में जमकर बवाल, हाथापाई

72 घन्टे तक सील रहेगा भारत-नेपाल बॉर्डर, सीमा पर चौकसी बढ़ाई गई

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latests Posts

सहरसा का बाबा कारू खिरहर संग्रहालय उदासीनता का शिकार

Ground Report

स्कूल जर्जर, छात्र जान हथेली पर लेकर पढ़ने को विवश

सुपौल: पारंपरिक झाड़ू बनाने के हुनर से बदली जिंदगी

गैस कनेक्शन अब भी दूर की कौड़ी, जिनके पास है, वे नहीं भर पा रहे सिलिंडर

ग्राउंड रिपोर्ट: बैजनाथपुर की बंद पड़ी पेपर मिल कोसी क्षेत्र में औद्योगीकरण की बदहाली की तस्वीर है

मीटर रीडिंग का काम निजी हाथों में सौंपने के खिलाफ आरआरएफ कर्मी