Main Media

Seemanchal News, Kishanganj News, Katihar News, Araria News, Purnea News in Hindi

Support Us

बरसात मे निर्माण, सड़क की जगह नाव से जाने को विवश हैं ग्रामीण

सीमांचल में ग्रामीण कार्य विभाग के संवेदक की निष्क्रियता की वजह से कैसे ग्रामीण परेशान होते हैं, इसका जीता जागता उदहारण इन दिनों पूर्णिया ज़िले के बायसी प्रखंड में देखने को मिल रहा है। बायसी प्रखंड की हरिनतोड़ पंचायत और खपरा पंचायत के बीच माला-सकरबलिया पथ पर संवेदक ने बरसात से ठीक पहले निर्माण कार्य शुरू कर दिया।

‘मरम्मत कर तटबंध और कमज़ोर कर दिया’

कटिहार जिले के कदवा प्रखंड अंतर्गत शेखपुरा गांव में महानंदा नदी पर बने तटबंध को लेकर स्थानीय ग्रामीण भयभीत हैं। लोगों का दावा है कि इसी साल मई-जून महीने में करोड़ों की लागत से तटबंध की मरम्मत की गई, लेकिन तटबंध और कमज़ोर हो गया है। यहाँ तक कि 40 साल पहले तटबंध पर बने […]

अररिया: 50 लाख से बना शवदाह गृह खंडहर में तब्दील

अररिया जिले में सरकारी फंड से एक शवदाह गृह बनाया गया था। यह जिले का एकमात्र शवदाह गृह था, लेकिन सरकारी लापरवाही और उदासीनता के कारण यह खंडहर में तब्दील हो गया है। दरअसल, इस मुक्तिधाम शवदाह गृह के बनाने का उद्देश्य था कि मृत्यु के बाद हिन्दू रीति रिवाजों के अनुसार अंतिम समय में […]

अब भी खुले में शौच करने को मजबूर इस स्कूल के बच्चे

2 अक्टूबर 2019 को मोदी सरकार ने देश सहित बिहार को बड़े ही धूमधाम के साथ खुले में शौच से मुक्त घोषित कर दिया। लेकिन, राज्य के किशनगंज जिला अंतर्गत पोठिया प्रखंड की परलाबाड़ी पंचायत के छगलिया मध्य विद्यालय के बच्चे आज भी खुले में ही शौच करने को मजबूर हैं। इतना ही नहीं यह […]

अररिया: अल्पसंख्यकों के लिए बनाये छात्रावास खंडहर में तब्दील

अल्पसंख्यक विभाग द्वारा छात्रों के लिए अररिया जिले में बनाए गए छात्रावासों की सुध लेने वाला कोई नहीं है। इन छात्रावासों की देखरेख नहीं हो रही है जिससे ये भवन खंडहर में तब्दील होते जा रहे हैं। दरअसल सरकार का उद्देश्य था कि अल्पसंख्यक बहुल जिलों में एमएसडीपी योजना से छात्रों के लिए हॉस्टल बनाया […]

Purnea Airport: किसानो ने कहा – जान दे देंगे, लेकिन जमीन नहीं

देश की राजधानी के नज़दीक उत्तर प्रदेश के जेवर में बन रहे नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के लिए किसानों की ज़मीन अधिग्रहण की खबर आपने तमाम छोटे बड़े मीडिया संस्थानों में देखी-पढ़ी होगी। लेकिन राजधानी दिल्ली से लगभग 1400 किलोमीटर दूर बिहार के पूर्णिया ज़िले में एयरपोर्ट बनाने के लिए कैसे सरकार किसानों की खेतिहर ज़मीन […]

कटिहार: नगर पंचायत बनने के बाद भी जर्जर बारसोई बाज़ार की सड़क

बारसोई अनुमंडल से लगभग 1 किलोमीटर की दूरी पर नीम तल्ला चौक और डकैत पूजा गांव है। 2017 में यह इलाका सरकार द्वारा नगर पंचायत घोषित कर दिया था गया था। इसके बाद यहां के लोगों में उम्मीद जगी थी कि नगर पंचायत होने से क्षेत्र में विकास होगा। लेकिन कार्यकाल के पूरे 5 साल बीत जाने के बाद भी बारसोई डकैत पूजा का क्षेत्र अत्यंत पिछड़ा हुआ है।

बालू घाट में स्वीकृत सीमा से ज़्यादा खनन ने छीन लीं तीन जिंदगियाँ?

बीते 23 मई को किशनगंज जिले के ठाकुरगंज-पोठिया प्रखंड सीमा पर स्थित खरखरी-भरभरी महानंदा नदी घाट में तीन युवकों की डूबने से मौत हो गई। मृतकों में पौआखाली थाना क्षेत्र की खारुदह पंचायत अंतर्गत बारहमनी गाँव के रहने वाले 16 वर्षीय तौफीक, 18 वर्षीय इसकार आलम और 20 वर्षीय शौकत अली उर्फ़ चांद बाबू शामिल […]

पुल कहीं और, नदी कहीं और… अररिया में सरकार को चकमा देता विकास

बिहार के सीमांचल इलाके में सालों साल आने वाली बाढ़ और निरंतर नदी कटान से होने वाली तबाही कोई नई बात नहीं है। ऐसे में सरकार जब किसी नदी पर एक अदद पुल बना देती है, तो लोगों की उम्मीदें जाग जाती हैं। एक दशक पहले अररिया के सिकटी प्रखंड में कुछ ऐसा ही हुआ। […]

60 साल से एक अदद ओवरब्रिज के लिए तरस रहे सहरसा के लोग

“ओवर ब्रिज के बारे में 40 वर्षों से सुन रहे हैं। पूरे शहर में जाम लग जाता है इस ओवरब्रिज की वजह से। कई बार जाम की वजह से एंबुलेंस में लोगों की जान चली जाती है। कई बार नेताओं का आंदोलन देखा, शिलान्यास देखा, नेता लोग बनाने की कसम खाते हैं। सब सुनिए रहे […]

कटिहार में 16 साल की लड़की से ‘गैंगरेप’ और हत्या का सच क्या है?

बिहार के कटिहार जिले की एक 16 वर्षीय लड़की की कथित अपहरण, गैंगरेप और हत्या का मामला इन दिनों सीमांचल में तूल पकड़ने लगा है।

कटिहार: एक छोटी ग्रामीण सड़क के लिए इतनी जद्दोजहद, हाय रे विकास

कटिहार जिले के कदवा प्रखंड के खाड़ी अलहंडा गांव के लोग गांव तक जाने वाली कच्ची सड़क को पक्का करने की मांग को लेकर भूख हड़ताल पर हैं।

EXCLUSIVE: बिजली बिल में लाखों का घोटाला! 1800 से ज़्यादा उपभोक्ता परेशान

किशनगंज जिले (Kishanganj) के पोठिया प्रखंड (Pothia Block) अंतर्गत परलाबाड़ी पंचायत के लगभग 1800 बिजली उपभोगता 5 महीने से अपना बिल का भुगतान करने के लिए परेशान हैं।

सीमांचल में बढ़ रहा हाथियों का उत्पात, घरों और फसलों को पहुंचा रहे नुकसान

किशनगंज में हाथियों का उत्पात जारी है। सोमवार की अहले सुबह हाथियों के झुंड ने जिले की दिघलबैंक पंचायत अंतर्गत रामपुर काॅलोनी बस्ती में उत्पात मचाया। हाथियों ने रामपुर काॅलोनी के लखीराम सोरेन, बुध रॉय, राजू दास, लक्ष्मी देवी सहित कुल छह परिवारों के कच्चे घरों को तोड़ दिया है जबकि घर अंदर रखा अनाज जिसमें चावल, धान, सब्जी आदि को बर्बाद कर दिया। हाथियों ने फसलों को भी नुकसान पहुंचाया।

ग्राउंड रिपोर्ट: तो क्या अब खाद के लिए मरेंगे बिहार के किसान?

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि साल 2022 तक देश के किसानों की कमाई दोगुनी हो जाएगी, लेकिन अब खेती के लिए सबसे जरूरी चीज खाद खरीदना ही किसानों के लिए एक जंग बन गया है।

Latest Posts

Ground Report

क़र्ज़, जुआ या गरीबी: कटिहार में एक पिता ने अपने तीनों बच्चों को क्यों जला कर मार डाला

त्रिपुरा से सिलीगुड़ी आये शेर ‘अकबर’ और शेरनी ‘सीता’ की ‘जोड़ी’ पर विवाद, हाईकोर्ट पहुंचा विश्व हिंदू परिषद

फूस के कमरे, ज़मीन पर बच्चे, कोई शिक्षक नहीं – बिहार के सरकारी मदरसे क्यों हैं बदहाल?

आपके कपड़े रंगने वाले रंगरेज़ कैसे काम करते हैं?

‘हमारा बच्चा लोग ये नहीं करेगा’ – बिहार में भेड़ पालने वाले पाल समुदाय की कहानी