Tuesday, May 17, 2022
- Advertisement -spot_img

CATEGORY

Ground Report

नीतीश कुमार ने स्कूल को शराब का गोदाम बना दिया

पिछले दिनों अररिया टोल प्लाजा के समीप उत्पाद विभाग ने तीन ट्रक अंग्रेज़ी शराब ज़ब्त की, जिसे वहां मौजूद स्कूल कैम्पस में रखा दिया गया। फिलहाल कोरोना की वजह से स्कूल बंद है, लेकिन प्लस टू में पढ़ने वाले बच्चे फॉर्म भरने के लिए स्कूल आ रहे हैं। वीडियो में आप साफ़ देख सकते हैं कि स्कूल कैंपस में कैसे शराब रखी हुई है और आस-पास छात्र-छात्राएं आ जा रहे हैं। शराब लदे ट्रक को स्कूल कैंपस में रखे जाने से छात्र व शिक्षक परेशान है। प्रिंसिपल ने आलाअधिकारियों से शिकायत भी की है, लेकिन कोई समाधान नहीं निकला।

जिस गाँव से मोदी ने रोज़गार योजना शुरू की, वहाँ के ज़्यादातर मज़दूर पलायन कर गए

PM मोदी ने बिहार के जिस गाँव से गरीब कल्याण योजना की शुरुआत की थी, वहाँ के ज़्यादातर मज़दूर वापस पलायन कर चुके हैं। CM नीतीश ने जिस मज़दूर से 24 मई को बात की थी, वो आज तक बेरोज़गार है।

बिहार: मुख्य सड़क के क़रीब बसे इस टापूनुमा गाँव को नाव तक नसीब नहीं

बिहार में बाढ़ अभी नहीं आयी है। लेकिन, बारिश के पानी से ही जगह-जगह बाढ़ जैसे हालात हैं। ये पूर्णिया ज़िले में नेशनल हाईवे...

बिहार के इस शहर के लोग जी रहे हैं नाव के सहारे

अररिया शहर की आबादी का एक हिस्सा आज भी आवागमन की असुविधाओं से जूझ रहा है। नगर परिषद वार्ड नबंर 29 के मरया टोला तक जाने के लिए परमान नदी को पार करना होता है, जहाँ आवागमन का एक मात्र सहारा नाव ही है। सरकारी सुविधा से वंचित इस शहरी इलाके में नगर परिषद की कोई सुविधा नहीं है।

मक्का किसानों का दर्द: चार महीने की मेहनत के बाद भी चढ़ गया क़र्ज़

अगर आपका परिवार चार महीने किसी कारोबार में लगा हो, तो आप कितनी कमाई की उम्मीद रखते हैं? चंद हज़ार रुपये तो बिलकुल नहीं, लेकिन 2020 में उम्मीद शब्द बिहार के किसानों के लिए एक मज़ाक है। बिहार के सीमांचल क्षेत्र में मक्के की खेती सबसे ज़्यादा होती है। क्षेत्र के किसान लगभग डेढ़ लाख हेक्टेयर भूभाग में मक्के की खेती करते हैं। लेकिन, लॉकडाउन और मौसम ने किसानों की कमर तोड़ दी है।

बिहार के इस office में helmet पहन कर होती है duty

बिहार में संवेदनहीन सरकारी तंत्र आम लोगों की तो दूर अपने कर्मियीं तक की नहीं सुनती है, सरकार की कुम्भकरण वाली नींद ने कार्यालय आने वाले आम लोगों से लेकर काम कर रहे कर्मियीं और अधिकारीयों तक को अपनी जान बचाए रखने के लिए हेलमेट पहने रहने को मजबूर कर दिया है।

खुले आसमान के नीचे शरण लिए हुए हैं 150 परिवार

https://www.youtube.com/watch?v=uxa3972O2m0 किशनगंज अंतर्गत कोचाधामन के बगलबारी पंचायत के लगभग 150 परिवार महानंदा ब्रिज के नीचे खुले आसमान के नीचे शरण लिए हुए हैं। जिला मुख्यालय...

गोश्त की दुकान में तब्दील हुई लाइब्रेरी की बिल्डिंग

https://www.youtube.com/watch?v=5MQfL5uI9Mo&t=64s किशनगंज के कोचाधामन प्रखंड में विकास बेकाबू हो गया है, हल्दीखोरा पंचायत में सालों पहले बनी लाइब्रेरी की बिल्डिंग गोश्त के दुकान में तब्दील...

नीतीश सरकार के दावों का मज़ाक़ उड़ाते चचरी पुल

नीतीश सरकार का दावा है की बिहार चचरी पुल से मुक्त हो चूका है, लेकिन आज भी किशनगंज के बहादुरगंज प्रखंड में चचरी पुल...

वर्षों से दिल्ली में सिलाई-कढ़ाई का काम कर रहे सीमांचल के लोग

https://www.youtube.com/watch?v=ct0ZCbE_I8I ज़रा सोचिये, अपने घर से हज़ारों किलोमीटर दूर आपको अपनी रोज़ी रोटी के लिए अगर हफ्ते के सात दिन 12 घंटे काम करना पड़े...

Latest news

- Advertisement -spot_img