किशनगंज के खगड़ा स्थित रेड लाइट एरिया के दलाल लक्ष्मी देवी के चंगुल से एक युवती हुयी फरार, दलाल पिछले पांच महीने से युवती को बंधक बनाकर मारपीट कर देह व्यापार का धंधा करवाती थी।

घटना के बारे में बताया जाता है कि पीड़ित लड़की देर शाम दलाल को चकमा देकर पास के कालू चौक मोहल्ले में पहुचकर शोर मचाने लगी। जिसके बाद भीड़ इकट्ठा हो गयी और पीड़ित लड़की को ग्रामीणों ने शरण दिया, घटना कि सुचना पाकर मौके पर पहुची पुलिस पीड़ित लड़की को अपने साथ थाने लायी।लड़की के बयान पर किशनगंज थाने में दो दलालों पर मामला दर्ज करने की प्रक्रिया चल रही है। पीड़ित युवती ने बताया कि वो  मुजफ्फरपुर की निवासी है, पांच माह पूर्व माँ से झगड़ा के बाद अपने घर से निकलकर आत्महत्या करने जा रही थी कि इसी बीच कृष्णा नामक दलाल ने उसे पहले तो समझाया और बाद में नौकरी का झांसा देकर किशनगंज ले आया। जहां शहर के खगड़ा स्थित रेड लाइट में एक महिला दलाल के पास बेच दिया।

दलाल के चंगुल से फरार हुई लड़की, बंधक बनाकर करवाया जाता था देह व्यापार

पीड़ित ने बताया कि पहले तो कृष्णा उसे मारपीट और डरा धमका कर रेप करता रहा, फिर देह व्यापार के दलदल में ढकेल दिया। स्थानीय लोगो का कहना है कि आये दिन इस रेड लाइट एरिया से लड़की भागकर शरण लेने ग्रामीणों के पास पहुचती है, ग्रामीणों के मुताबिक जिला प्रशासन के नाक के नीचे ये रेड लाइट एरिया चल रहा है। लोग इस रेड लाइट एरिया को बंद करवाने की मांग पुलिस से कर रहे है। वही स्वं सेवी संस्था चाइल्ड लाइन के कोऑर्डिनेटर का कहना है कि गर्ल्स ट्रेफिकिंग का धंधा इस क्षेत्र में फलफूल रहा है, बाहर से गरीब और मजबूर लडकियों को शादी का झांसा देकर इस रेड लाइट में लाकर बिक्री कर दिया जाता है, जिसके बाद लड़की की जिंदगी नर्क बन जाती है।

पुलिस ने बताया कि थाना अध्यक्ष के सुचना पर लड़की को अपने साथ थाना ले जाने पहुचे है, लड़की से मामले की पूछताछ के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।