बिहार के कटिहार जिले के उदामारहिका के किसान इन दिनों काफी परेशान हैं। कटिहार जिले के सदर विधायक तारकिशोर प्रसाद सूबे के उपमुख्यमंत्री हैं। कभी के किसान के लिए गोभी की फसल काफी लाभदायक हुआ करती थी, लेकिन अब कोभी किसान अपनी किस्मत को रो रहे हैं।

महिला किसान मुन्नी देवी को अपने से काफी उम्मीद थी, लेकिन अब गोभी बाज़ार में छोड़ कर आने की नौबत आ गयी है।

वहीं किसान भागवत सिंह कहते हैं की उन्होंने जो खेती के लिए लागत लगाईं थी, वो भी मिलना मुश्किल है इसीलिए अब अपने खेतों की जुताई करवाया है ताकि दूसरी फसल लगाईं जा सके।

स्थानीय युवा किसान त्रिभुवन सिंह कहते हैं की इस इलाके के दस गाँव किसानो का है, हजारों एकड़ ज़मीन पर किसानो ने गोभी की खेती की है। गोभी को लगाने से लेकर मजदुर खर्च और बाजारों तक पहुंचाने में किसानो को काफी खर्च हो जाता है, लेकिन उचित मूल्य नहीं मिलने से किसान हतास और परेशान हैं।किसान क्षेत्र के विधायक सह बिहार के उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद से भी गुहार लगा रहे हैं की किसानो को मुआवजा मिले।