Main Media

Seemanchal News, Kishanganj News, Katihar News, Araria News, Purnea News in Hindi

Support Us

India Today ने Assam के युवक की Kishanganj में हत्या की अफ़वाह फैलायी?

किशनगंज पुलिस द्वारा 16 मई को जारी एक प्रेस रिलीज़ में कहा गया है कि 14 मई को किशनगंज रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर 1 पर हमसफ़र एक्सप्रेस ट्रेन की चपेट में आने से एक व्यक्ति की मृत्यु हो गई थी।

Tanzil Asif is founder and CEO of Main Media Reported By Tanzil Asif |
Published On :

बीते 14 मई को India Today की North East केंद्रित इंग्लिश न्यूज़ वेबसाइट indiatodayne.in पर एक खबर चली – “किशनगंज में असम के युवक की बेरहमी से हत्या, परिवार न्याय मांग रहा है।” इस खबर में सूत्रों के हवाले से लिखा गया कि असम के गोहपुर निवासी बाबुल बरुआ, दादरा और नगर हवेली में पिछले छह सालों से काम करता था। ट्रेन से अपने घर असम जाते हुए उसने किशनगंज स्टेशन पर दो यात्रियों की हत्या होते देखी। उसने डर से अपनी पत्नी से फोन पर संपर्क किया और घटना की जानकारी दी। खबर में आगे लिखा गया है, “बदमाशों ने अंततः बाबुल को पकड़ लिया और उसे भी क्रूर तरीके से मार डाला।”

यह खबर सबसे पहले India Today में चली। उसके बाद News18 Assam / Northeast के साथ-साथ असम के कई स्थानीय वेबसाइट जैसे Pratidin Time, Sentinel Assam और Assam Tribune पर भी यह खबर चली। इन ख़बरों को परिवार के आरोपों और सूत्रों के आधार पर चलाया गया। India Today देश के सबसे बड़े मीडिया समूहों में से एक है। India Today चैनल और मैगज़ीन के साथ-साथ ‘आज तक’, ‘लल्लनटॉप’ और ‘बिहार तक’ इसी समूह का हिस्सा हैं। इनका नेटवर्क पूरे देश में फैला है। फिर भी India Today ने ट्रेन में कथित तीन हत्याओं से जुड़ी इस खबर को चलाने से पहले रेलवे पुलिस से कोई पुष्टि नहीं की। इनकी इस लापरवाही के बाद असम के लोगों ने इस ख़बर को हमारे कमेंट बॉक्स में डालना शुरू किया। मंगलवार को हमने इस खबर की तहकीकात की।

Also Read Story

बिहार में राहुल गांधी के भाषण का एडिटेड वीडियो गलत दावों के साथ वायरल

Fact Check: क्या सच में तेजस्वी की पत्नी ने जदयू विधायकों के गायब होने का दावा किया?

Fact Check: क्या बिहार के स्कूलों में हिन्दू पर्वों का अवकाश घटाकर मुस्लिम त्यौहारों की छुट्टियां बढ़ा दी गई हैं?

Fact Check: BPSC शिक्षक बहाली को लेकर News18 ने किशनगंज के इस गाँव के बारे में किया झूठा दावा

पूर्णिया: पाकिस्तानी झंडे की अफवाह के बाद मीडिया ने महिला को किया प्रताड़ित

सीमांचल में पलायन नहीं कर रहे हिन्दू, दैनिक जागरण के झूठ का पर्दाफाश

Fact Check: क्या दुनिया में सबसे ज्यादा बच्चे किशनगंज, अररिया में पैदा होते हैं?

स्कूलों में शुक्रवार को छुट्टी: आधी हकीकत, आधा फसाना

अभियान किताब दान: पूर्णिया में गांव गांव लाइब्रेरी की हकीकत क्या है?

किशनगंज पुलिस द्वारा 16 मई को जारी एक प्रेस रिलीज़ में कहा गया है कि 14 मई को किशनगंज रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर 1 पर हमसफ़र एक्सप्रेस ट्रेन की चपेट में आने से एक व्यक्ति की मृत्यु हो गई थी। इस संबंध में कांड दर्ज़ कर शव की पहचान की प्रक्रिया शुरू की गई। इसी दौरान असम पुलिस द्वारा किशनगंज रेल पुलिस से संपर्क कर उक्त व्यक्ति की गुमशुदगी की बात बताई गई। पूछताछ में मृतक की पत्नी ने बताया कि बाबुल बरुआ मुंबई लोकमान्य तिलक टर्मिनस एक्सप्रेस से गुवाहाटी आ रहा था। ट्रैन में अन्य लोगों से बहस होने के कारण वह किशनगंज स्टेशन पर उतर गया था।


किशनगंज जीआरपी थाना अध्यक्ष नितेश कुमार बताते हैं, लोकमान्य तिलक टर्मिनस एक्सप्रेस में कोई हत्या नहीं हुई है। गलत ख़बरें चलाई जा रही हैं। बाबुल की पत्नी द्वारा लगाए गए आरोप गलत हैं। ट्रेन में अन्य दो हत्याओं की बात को भी पुलिस ने अफवाह बताते हुए कहा है कि लोकमान्य तिलक टर्मिनस एक्सप्रेस ट्रेन में न्यू जलपाईगुड़ी और गुवाहाटी तक पता किया गया, लेकिन कोई अन्य शव नहीं मिला है।

वहीं मृतक के शव को लेने किशनगंज आए परिजनों के मुताबिक, बाबुल बरुआ दादरा और नगर हवेली में सिक्युरिटी गार्ड की नौकरी करता था। मां के बीमार पड़ने के चलते 12 मई को नासिक से लोकमान्य तिलक एक्सप्रेस ट्रेन पर सवार होकर असम लौट रहा था। परिजनों ने बताया कि मृतक ने मौत से पूर्व 14 मई की सुबह को अपनी पत्नी को फ़ोन कर बताया था कि कुछ लोग उसे जान से मारना चाहता है, बाद में उसका फ़ोन स्विच ऑफ हो गया।

सीमांचल की ज़मीनी ख़बरें सामने लाने में सहभागी बनें। ‘मैं मीडिया’ की सदस्यता लेने के लिए Support Us बटन पर क्लिक करें।

Support Us

तंजील आसिफ एक मल्टीमीडिया पत्रकार-सह-उद्यमी हैं। वह 'मैं मीडिया' के संस्थापक और सीईओ हैं। समय-समय पर अन्य प्रकाशनों के लिए भी सीमांचल से ख़बरें लिखते रहे हैं। उनकी ख़बरें The Wire, The Quint, Outlook Magazine, Two Circles, the Milli Gazette आदि में छप चुकी हैं। तंज़ील एक Josh Talks स्पीकर, एक इंजीनियर और एक पार्ट टाइम कवि भी हैं। उन्होंने दिल्ली के भारतीय जन संचार संस्थान (IIMC) से मीडिया की पढ़ाई और जामिआ मिलिया इस्लामिआ से B.Tech की पढ़ाई की है।

Related News

सदमे से नहीं, कैंसर से हुई है चार दिन से बेहोश सुशांत सिंह की चचेरी-चचेरी भाभी की मौत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest Posts

Ground Report

किशनगंज के इस गांव में बढ़ रही दिव्यांग बच्चों की तादाद

बिहार-बंगाल सीमा पर वर्षों से पुल का इंतज़ार, चचरी भरोसे रायगंज-बारसोई

अररिया में पुल न बनने पर ग्रामीण बोले, “सांसद कहते हैं अल्पसंख्यकों के गांव का पुल नहीं बनाएंगे”

किशनगंज: दशकों से पुल के इंतज़ार में जन प्रतिनिधियों से मायूस ग्रामीण

मूल सुविधाओं से वंचित सहरसा का गाँव, वोटिंग का किया बहिष्कार