Main Media

Seemanchal News, Kishanganj News, Katihar News, Araria News, Purnea News in Hindi

Support Us

नदी कटान से कटिहार के गांव का अस्तित्व खतरे में

कटिहार ज़िले के अमदाबाद प्रखंड अंतर्गत लखनपुर पंचायत के बेलगच्छी गाँव के लोग पिछले कुछ सालों में हुए नदी कटान से परेशान हैं।

shadab alam Reported By Shadab Alam | Katihar |
Published On :

कटिहार ज़िले के अमदाबाद प्रखंड अंतर्गत लखनपुर पंचायत के बेलगच्छी गाँव के लोग पिछले कुछ सालों में हुए नदी कटान से परेशान हैं। शेख नईम का 40 साल पुराना पक्का घर पिछले साल गंगा में समा गया है। कभी यहाँ उनका पूरा खानदान बसा करता था, लेकिन आज सब अलग-अलग जगह पलायन कर गए हैं। तीन बेटे प्रवासी मज़दूर हैं। कटान के बाद नदी से दूर पांच कट्ठा ज़मीन का टुकड़ा बचा है। दर-दर भटकने के बाद फिलहाल शेख नईम के परिवार ने वहीं एक कच्चा घर बना लिया है, लेकिन वहां भी चारों तरफ पानी से घिरा है। नईम बताते हैं, पहले यादव टोली पूरा कट गया, अब मुस्लिम टोली नदी के निशाने पर है।

Also Read Story

सहरसा का बाबा कारू खिरहर संग्रहालय उदासीनता का शिकार

FIFA World Cup: मिनी कतर बना दार्जिलिंग, फुटबॉल खिलाड़ियों-झंडों से पटा पहाड़

आजादी से पहले बना पुस्तकालय खंडहर में तब्दील, सरकार अनजान

एप्रोच रोड नहीं बनने से दो साल से बेकार पड़ा पुल

बरसात के मौसम में स्कूल नहीं जाते इस गांव के बच्चे

घास लेने से लेकर मवेशी भगाने तक के लिए नदी पार करने की मजबूरी

एक अदद पुलिया के लिए तरस रहा कटिहार का यह गांव

कटिहार: पुल की एप्रोच सड़क तीन महीने में ही हो गई खस्ताहाल

चाइनीज झालरों ने लाया मिट्टी के दीए के बाजार में अंधेरा

शुकाल देवी के दो बेटे प्रवासी मज़दूर है और एक पढ़ाई कर रहा है। बहु और बच्चों के साथ वह जिस घर में रहती हैं, वह गंगा नदी के मोहाने पर आ चुका है। उन्हें चिंता सता रही है कि अगर इस बार भी बोल्डर पिचिंग का काम नहीं हुआ, तो वह बेघर हो जाएंगी।

पश्चिम बंगाल निवासी दूधवाले राजेंद्र मंडल नाव से अपने गाँव जा रहे हैं। हाथों के इशारे से वह बताते हैं, जो हाल बिहार के गाँव का है, वही पश्चिम बंगाल का भी है।

ग्रामीण शेख अताउल का घर भी नदी में समा चुका है। उनके हिसाब से अगर नदी के बीच से टापू हटा दिया जाए, तो गांव में कटान कम हो सकता है। लेकिन, उसे हटाने के लिए प्रशासन से आश्वासन मात्र ही मिल रहा है।

स्थानीय लखनपुर मुखिया श्वेता राय बताती हैं कि बेलगच्छी गाँव में कटान का विभाग के तरफ से इंस्पेक्शन किया गया है, लेकिन अभी इस पर काम की कोई सूचना नहीं है।

सीमांचल की ज़मीनी ख़बरें सामने लाने में सहभागी बनें। ‘मैं मीडिया’ की सदस्यता लेने के लिए Become A Member बटन पर क्लिक करें।

Become A Member

सय्यद शादाब आलम बिहार के कटिहार ज़िले से पत्रकार हैं।

Related News

कोचाधामन के राजद विधायक और जदयू नेता में जुबानी जंग

10 साल से बिना डॉक्टर चल रहा उप स्वास्थ्य केंद्र

किशनगंज: मद्य निषेध अधिकारियों पर फूटा लोगों का गुस्सा

आयुष्मान भारत योजना: फ्री में 5 लाख का ईलाज, ऐसे चेक करें अपना नाम

DSLR कैमरा की बैटरी खराब होने की वजह एक महीने से पासपोर्ट का काम प्रभावित

आधा दशक पहले बना अस्पताल, मगर अब तक नहीं हुआ चालू

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latests Posts

सहरसा का बाबा कारू खिरहर संग्रहालय उदासीनता का शिकार

Ground Report

स्कूल जर्जर, छात्र जान हथेली पर लेकर पढ़ने को विवश

सुपौल: पारंपरिक झाड़ू बनाने के हुनर से बदली जिंदगी

गैस कनेक्शन अब भी दूर की कौड़ी, जिनके पास है, वे नहीं भर पा रहे सिलिंडर

ग्राउंड रिपोर्ट: बैजनाथपुर की बंद पड़ी पेपर मिल कोसी क्षेत्र में औद्योगीकरण की बदहाली की तस्वीर है

मीटर रीडिंग का काम निजी हाथों में सौंपने के खिलाफ आरआरएफ कर्मी