Subscribe Now

* You will receive the latest news and updates on your favorite celebrities!

Donate

[paytmcheckout]

Category: Ground Report

Nitish Kumar made the school a warehouse of liquor
Breaking News, Daily News, Ground Report

नीतीश कुमार ने स्कूल को शराब का गोदाम बना दिया 

पिछले दिनों अररिया टोल प्लाजा के समीप उत्पाद विभाग ने तीन ट्रक अंग्रेज़ी शराब ज़ब्त की, जिसे वहां मौजूद स्कूल कैम्पस में रखा दिया गया। फिलहाल कोरोना की वजह से स्कूल बंद है, लेकिन प्लस टू में पढ़ने वाले बच्चे फॉर्म भरने के लिए स्कूल आ रहे हैं। वीडियो में आप साफ़ देख सकते हैं कि स्कूल कैंपस में कैसे शराब रखी हुई है और आस-पास छात्र-छात्राएं आ जा रहे हैं। शराब लदे ट्रक को स्कूल कैंपस में रखे जाने से छात्र व शिक्षक परेशान है। प्रिंसिपल ने आलाअधिकारियों से शिकायत भी की है, लेकिन कोई समाधान नहीं निकला।

Most of the laborers from the village where Modi started the employment scheme migrated.
Breaking News, Daily News, Ground Report

जिस गाँव से मोदी ने रोज़गार योजना शुरू की, वहाँ के ज़्यादातर मज़दूर पलायन कर गए 

PM मोदी ने बिहार के जिस गाँव से गरीब कल्याण योजना की शुरुआत की थी, वहाँ के ज़्यादातर मज़दूर वापस पलायन कर चुके हैं। CM नीतीश ने जिस मज़दूर से 24 मई को बात की थी, वो आज तक बेरोज़गार है।

Pain of Bihar's Maize Farmers
Breaking News, विकास तुम कहाँ हो?

मक्का किसानों का दर्द: चार महीने की मेहनत के बाद भी चढ़ गया क़र्ज़ 

अगर आपका परिवार चार महीने किसी कारोबार में लगा हो, तो आप कितनी कमाई की उम्मीद रखते हैं? चंद हज़ार रुपये तो बिलकुल नहीं, लेकिन 2020 में उम्मीद शब्द बिहार के किसानों के लिए एक मज़ाक है।

बिहार के सीमांचल क्षेत्र में मक्के की खेती सबसे ज़्यादा होती है। क्षेत्र के किसान लगभग डेढ़ लाख हेक्टेयर भूभाग में मक्के की खेती करते हैं। लेकिन, लॉकडाउन और मौसम ने किसानों की कमर तोड़ दी है।

Library building turned into a meat shop
विकास तुम कहाँ हो?

गोश्त की दुकान में तब्दील हुई लाइब्रेरी की बिल्डिंग 

किशनगंज के कोचाधामन प्रखंड में विकास बेकाबू हो गया है, हल्दीखोरा पंचायत में सालों पहले बनी लाइब्रेरी की बिल्डिंग गोश्त के दुकान में तब्दील हो चुकी है। किशनगंज के कोचाधामन प्रखंड अंतर्गत हल्दीखोरा पंचायत में एक दशक पहले बना लाइब्रेरी की बिल्डिंग गोश्त के दुकान…

Nitish government's lies exposed on bamboo bridges in Bihar
Ground Report, विकास तुम कहाँ हो?

नीतीश सरकार के दावों का मज़ाक़ उड़ाते चचरी पुल 

नीतीश सरकार का दावा है की बिहार चचरी पुल से मुक्त हो चूका है, लेकिन आज भी किशनगंज के बहादुरगंज प्रखंड में चचरी पुल का जाल बिछा है, क्या सरकार किशनगंज को बिहार का हिस्सा नहीं मानती है? बिहार सरकार के पथ निर्माण मंत्री नन्द…

Life of migrant workers from Bihar working in an embroidery factory
Ground Report, दास्तान ए रोज़गार

वर्षों से दिल्ली में सिलाई-कढ़ाई का काम कर रहे सीमांचल के लोग 

ज़रा सोचिये, अपने घर से हज़ारों किलोमीटर दूर आपको अपनी रोज़ी रोटी के लिए अगर हफ्ते के सात दिन 12 घंटे काम करना पड़े तो कैसा लगेगा? क्या इसी रूटीन के साथ आप ज़िन्दगी बिना हिम्मत हारे गुज़ार सकते हैं? इन सवालों के जवाब के…

Kishanganj leaders should drown in these potholes on main road
Ground Report, विकास तुम कहाँ हो?

किशनगंज शहर के इन गड्ढों में यहाँ के नेताओं को डूब मरना चाहिए 

किशनगंज शहर के मुख्य सड़क पर बड़े बड़े गड्ढे हैं, और गड्ढे भी इतने की मारवाड़ी कॉलेज से पश्चिमपाली जाना किसी चुनौती से कम नहीं। ऐसे में आप ही बताएं, क्या इन गड्ढों में किशनगंज के नेताओं को डूब मरना नहीं चाहिए?

Amidst flood in Bihar 150 families take refuge under open sky
Daily News, Ground Report

खुले आसमान के नीचे शरण लिए हुए हैं 150 परिवार 

कोचाधामन के बगलबारी पंचायत के लगभग 150 परिवार महानंदा ब्रिज के पास खुले आसमान के नीचे शरण लिए हुए हैं। जिला मुख्यालय से सटे होने के बावाजूद इन लोगों के पास अभी तक कोई मदद नहीं पहुंचा है।

Kids of an Indian village learn patriotism from Nepal
Ground Report, लोकसभा 2019, विकास तुम कहाँ हो?

भारत के बच्चे सीख रहे हैं नेपाल से देशभक्ति, प्रधानमंत्री को पता है क्या? 

भारत-नेपाल सीमा पर स्थित बिहार के इस गाँव में स्कूल नहीं है, बच्चे नेपाल के स्कूल में पढ़ रहे हैं और नेपाल से देशभक्ति सीख रहे हैं। उनके जुबान पर नेपाल का राष्ट्रगान है, जन गण मन, वन्दे मातरम् कभी सुना नहीं; महात्मा गांधी, नेहरू को नहीं जानते, लेकिन पुष्पकमल दाहाल से वाकिफ़ हैं।

Village without raods in Baisi, Purnia
Ground Report, विकास तुम कहाँ हो?

इस गाँव से दुल्हन बाइक पे जाती है, मरीज चारपाई पे, मय्यत नाव पे 

पूर्णिया ज़िले के बायसी में एक ऐसा गाँव है जहाँ जाने का कोई सड़क नहीं, लोग मकई के खेत से आना जाना करते हैं, दूल्हा-दुल्हन बाइक पर गाँव से जाते हैं, कोई बीमार पड़े तो चारपाई पर हाईवे तक ले जाया जाता है, गाँव का…

स्वतंत्र पत्रकारिता को जिंदा रखने के लिए Donate करें
DONATE
स्वतंत्र पत्रकारिता को जिंदा रखने के लिए Donate करें
DONATE
Send this to a friend