बिहार के किशनगंज से मोहब्बत की एक ऐसी बदरंग दास्तान सामने आई है जिसने मानवता को शर्मसार कर दिया है। जहां नाबालिग युवती को अपने प्रेमजाल में फंसा कर एक हैवान ने उसके साथ दुष्कर्म के बाद बेरहमी से गला दबाकर उसकी हत्या कर दी, लेकिन उसकी हैवानियत यहीं नहीं रुकी, हैवान ने सुबूत मिटाने के लिए नाबालिग के शव को ज़मीन में दफना दिया।

विचलित करती प्रेम प्रसंग की ये कहानी पोठिया थाना क्षेत्र मिर्जापुर पंचायत अंतर्गत हरि पोखर गांव की है।जहां एक नाबालिग दो दिनों से अपने घर से लापता थी।अपनी गुमशुदा नाबालिग बेटी की तलाश में बेचैन परिवार ने दो दिनों के इंतज़ार के बाद पोठिया थाने में शिकायत दर्ज कराई।

परिजनों की शिकायत के बाद पुलिस के द्वारा अनुसंधान के क्रम में आरोपी युवक प्रशंजित  को गिरफ्तार किया गया।पुलिस द्वारा पूछ ताछ के क्रम में गिरफ्तार आरोपी ने राज से पर्दा उठाया।पुलिस ने आरोपी युवक की निशानदेही पर नाबालिग के शव को कब्र से खोदकर बाहर निकाला और पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेजा।

पुलिस की पूछताछ में आरोपी युवक ने बताया कि नाबालिग युवती से उसकी दोस्ती मोबाइल फोन के जरिए हुई। फोन पर प्यार का खेल रचाने के कुछ दिनों बाद उसने युवती को शादी का झांसा देकर घर से बाहर बुलाया फिर युवती के साथ बलात्कार किया। जब नाबालिग द्वारा शादी का दवाब डाला गया तो प्रेमी प्रशंजित ने अपनी प्रेमिका नेहा की गला दवा कर हत्या कर दिया और हत्या के बाद सबूत मिटाने के लिए पोठिया थाना क्षेत्र के मागुरजान रेलवे स्टेशन के समीप हरि पोखर गांव के पास एक बांस के झाड़ में नाबालिग के शव को दफन कर दिया।

वही मामले में अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी ने बताया कि प्रथमदृष्टया गला दबाकर हत्या की बात सामने आयी है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद सच्चई पता लगेगी। उन्होने बताया कि उसके साथ रेप भी किया गया होगा उसी दिशा में अनुसंधान किया जा रहा है।

कहते हैं प्यार अंधा होता है लेकिन डिजिटल इंडिया में मोबाइल और ऑनलाइन प्यार के चलन ने शायद इस अंधेपन को और बढ़ा दिया है।