पूर्णिया के सरसी थाना के पास शुक्रवार की शाम पूर्व जिला परिषद सदस्य विश्वजीत कुमार सिंह उर्फ रिंटू सिंह की गोली मारकर हत्या को लेकर उनकी पत्नी और वर्त्तमान जिला परिषद सदस्य अनुलिका सिंह ने सनसनीखेज आरोप लगाया है।

उन्होंने कहा है कि बिहार की मंत्री व जदयू विधायक लेशी सिंह के इशारे पर हत्या को अंज़ाम दिया गया है।

अनुलिका सिंह ने कहा कि इस घटना के पीछे नीतीश सरकार की मंत्री लेशी सिंह का हाथ है और एक-एक कर वे अपने राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों की हत्या करवा रही हैं ।

रिंटू सिंह की हत्या शुक्रवार की शाम कर दी गई थी। घटना इलाके में लगे CCTV कैमरे में कैद हो गई है। CCTV कैमरे में रिकार्ड वीडियो में साफ तौर पर दिख रहा है कि एक व्यक्ति आता है और एक शख्स को गोली मार देता है, उसी समय हत्यारे का साथ देने एक और व्यक्ति आता है और दोबारा रिंटू सिंह को गोली मार कर दोनों फरार हो जाते हैं

इस घटना से आक्रोशित लोगों और अनुलिका सिंह ने सरसी थाने के पास एनएच 107 को जाम कर दिया और अपराधियों की गिरफ्तारी तक लाश को नहीं उठाने पर अड़े रहे। आक्रोशित लोगों ने थाना परिसर में आगजनी भी की। मौके पर बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात है।

घटना के बाद पूर्णिया पुलिस अधीक्षक दयाशंकर ने परिजनों को समझा कर मृत शरीर को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। घटना के बाबत पुलिस अधीक्षक दयाशंकर ने कहा कि इस घटना में सरसी थाने के थाना प्रभारी को निलंबित किया गया है। घटना में संलिप्त अपराधियों को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

गौरतलब हो कि रिंटू सिंह पर पिछले दिनों गोली चलाई गई थी और पिछले ही वर्ष चुनाव के दिन इनके परिजन की हत्या कर दी गई थी।

स्थानीय कांग्रेस नेता इंदू सिन्हा ने इस घटना को लेकर बिहार सरकार और पुलिस पर हमला किया। उन्होंने फेसबुक पर लिखा कि अगर कानून व्यवस्था नहीं संभल पा रही, तो पुलिस कप्तान को इस्तीफा दे देना चाहिए। उन्होंने नीतीश सरकार से अनुलिका सिंह को न्याय दिलाने की मांग की।

अनुलिका सिंह का कहना है कि उनके पति रिंटू सिंह लेशी सिंह के विधानसभा क्षेत्र धमदाहा से अगले चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे थे, इसलिए लेशी सिंह ने उनकी हत्या करा दी है।

अनुलिका सिंह के आरोपों पर प्रतिक्रिया के लिए लेशी सिंह को फोन किया गया, लेकिन उन्होंने फ़ोन नहीं उठाया।

एसपी से जब लेशी सिंह पर आरोप को लेकर पूछा गया तो उन्होंने कहा कि हमलोग बयान ले रहे हैं। बयान लेने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।