Thursday, October 6, 2022

शिक्षा मंत्री ने दिया शिक्षकों के ट्रांसफर को प्राथमिकता देने का आश्वासन

Must read

Ariba Khan
अरीबा जामिया मिलिया इस्लामिया से पत्रकारिता में ग्रेजुएट और NFI की मल्टीमीडिया फेलो (2021) हैं। फिलहाल, वह ‘मैं मीडिया’ में वॉइस ओवर आर्टिस्ट और एंकर के रूप में कार्यरत हैं।

“बिहार में महिला शिक्षकों के स्थानांतरण पर सरकार प्रमुखता से लगातार काम कर रही है”

अररिया दौरे पर आए बिहार सरकार के शिक्षा मंत्री प्रोफेसर चंद्रशेखर ने ‘मैं मीडिया’ से बात करते हुए महिला शिक्षकों के स्थानांतरण पर यह बयान दिया है।

बता दें कि बिहार में लाखों ऐसी शिक्षिकाएं हैं जो ट्रांसफर न मिलने के कारण वर्षों से अपने मायके में रहने को मजबूर हैं, क्योंकि उनकी नौकरी तब लगी थी जब वह मायके में थीं, लेकिन शादी के बाद ससुराल के स्कूलों में उन्हें ट्रांसफर नहीं मिला है।

जबकि शिक्षा विभाग की 2020 की नई नियोजन नियमावली के तहत शादी के बाद महिला शिक्षकों और विकलांग शिक्षकों को राज्य के अंदर एक बार अपनी मर्जी की जगह पर तबादला देने का प्रावधान है।

ज्ञात हो कि पिछले महीने, 4 अगस्त को मैं मीडिया ने इस विषय पर एक विस्तृत स्टोरी पब्लिश की थी, जिसका थोड़ा बहुत प्रभाव यह देखने को मिला है कि शिक्षा विभाग में अब इस समस्या को प्रमुखता से लिया जा रहा है।


यह भी पढ़ें: ट्रांसफर नहीं मिलने से हजारों शिक्षिकाएं वर्षों से मायके में रहने को मजबूर


बुधवार 7 सितंबर को अररिया दौरे पर आए शिक्षा मंत्री चंद्रशेखर से जब इस बारे में सवाल किया गया तो उन्होंने कुछ इस तरह जवाब दिया –

“जाहिर सी बात है कि यह एक बड़ा संकट है। सरकार स्थानांतरण नीति पर काम कर रही है, जल्द ही आपको इसका पता चल जाएगा। आप यह जान लीजिए कि फिलहाल विभाग और सरकार पूर्ण रूप से स्थानांतरण नीति पर काम कर रही है जिसमें महिलाएं भी शामिल हैं। महिलाओं से तो माननीय मुख्यमंत्री जी का एक कमिटमेंट भी है।”

शिक्षा मंत्री ने आगे कहा, “लेकिन मेरा मानना है कि महिलाओं के अलावा भी जो शिक्षक स्थानांतरण चाहते हैं, वह कानून में शामिल हो जाए। इस पर हम विभाग के लोगों से बात भी की है, लेकिन अभी उसका अंतिम स्वरूप तैयार नहीं हुआ है।”

इस विषय पर बात करते हुए अंत में शिक्षा मंत्री ने कहा, “निश्चित रूप से मैं समझता हूं कि यह शिक्षकों की जायज मांग है और उसमें निश्चित रूप से हमें कोई आपत्ति नहीं है।”


शिक्षकों से गैर शैक्षणिक कार्य क्यों करवाती है बिहार सरकार? पढ़िए बिहार के शिक्षा मंत्री चंद्रशेखर का जवाब

स्कूलों में शुक्रवार को छुट्टी: आधी हकीकत, आधा फसाना

स्कूल में घुसकर दलित प्रधानाध्यापिका से मारपीट, 20 दिन बाद भी गिरफ्तारी नहीं


- Advertisement -spot_img

More articles

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img

Latest article