बिहार विधानसभा चुनाव के तारीखों का एलान हो चुका है। 8 अक्टूबर को पहले फेज के नामांकन की आखिरी तारीख है। ऐसे में अब एक दिन का ही वक्त शेष है। ऐसे में पार्टियों ने अपने उम्मीदवारों को उतारना शुरू कर दिया है। इसी कड़ी में मोकामा सीट भी चर्चा में है। यहां से इस बार फिर से अनंत सिंह ने नामांकन भरा है लेकिन राजद के टिकट पर। लेकिन यह सीट एक और कारण से चर्चा में हैं। अनंत सिंह ने सियासी खेल खेलते हुए इस बार अपने नामांकन के साथ ही अपनी पत्नी को भी मैदान में उतार दिया है।

अनंत सिंह की पत्नी नीलम देवी ने निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर अपना नामांकन भरा है। ऐसा माना जा रहा है कि अनंत सिंह ने चुनावी प्लानिंग के तहत ऐसा किया है। बता दें कि अनंत सिंह उन उम्मीदवारों में से हैं जो एक एक कदम फूंक – फूंककर रखते हैं. यही वजह है कि अनंत को इस बात का डर सता रहा है कि कही उनका नामांकन रद्द न हो जाए। इसी डर के कारण उन्होंने अपनी पत्नी का नामांकन करा दिया है। खबर है कि अगर अनंत सिंह का नामांकन रद्द नहीं हुआ तो उनकी पत्नी अपना नामांकन वापस ले लेगीं।

बताते चलें कि मोकामा में अनंत सिंह का पूरा दबदबा है। जिसके कारण वह अपने विरोधियों को कोई भी मौका नहीं देना चाहते। इसी कारण वो हर तरफ से खुद को इस चुनाव में सुरक्षित कर लेना चाहते हैं। बता दें कि जदयू की ओर से इस बार उनके सामने राजीव लोचन होंगे।