कोचाधामन के बगलबारी पंचायत के लगभग 150 परिवार महानंदा ब्रिज के पास खुले आसमान के नीचे शरण लिए हुए हैं। जिला मुख्यालय से सटे होने के बावाजूद इन लोगों के पास अभी तक कोई मदद नहीं पहुंचा है।