Main Media

Seemanchal News, Kishanganj News, Katihar News, Araria News, Purnea News in Hindi

Support Us

फुलवारीशरीफ में कथित टेरर मॉड्यूल: कटिहार, अररिया में एनआईए की छापेमारी

Main Media Logo PNG Reported By Main Media Desk |
Updated On :

गुरुवार सुबह दिल्ली से एनआईए (नेशनल इन्वेस्टिगेटिंग एजेंसी) ने कटिहार और अररिया में छापेमारी की। एनआईए भारत में आतंकवाद अवरोध व कानून स्थापित करने वाली संस्था के रूप में काम करती है।

एनआईए की टीम कटिहार में गुरुवार को बरारी प्रखंड कटोथिया गांव के साथ साथ हसनगंज के मुजफ्फर टोले में छापेमारी की।

Also Read Story

Women in Masjid: पूर्णिया के मस्जिद में महिलाओं की नमाज, कहा- मस्जिद जितनी मर्दों की, उतनी ही महिलाओं की भी

सरकारी websites पर लोक उपयोगिता से जुड़ी ज्यादातर सूचनाएँ गलत

क्या पुलिस कस्टडी में हुई शराब कांड के आरोपित की मौत

बांस का गोलपोस्ट, ग्राउंड में टेम्पो: ऐसे फुटबाल के सपने को जी रही लड़कियां

कैश वैन लूट: एसआईएस कर्मचारियों ने ही रची थी साजिश, 8 गिरफ्तार

Fact Check: क्या दुनिया में सबसे ज्यादा बच्चे किशनगंज, अररिया में पैदा होते हैं?

‘मोदी मंदिर’ बनाने वाला गाँव महंगाई पर क्या बोला?

अररिया रेपकांड: हाईकोर्ट ने मेजर को फांसी की सजा रद्द की, दोबारा होगी ट्रायल

यहाँ हिन्दुओं के बनाये ताजिये से पूरा होता है मुस्लिमों का मुहर्रम

दरअसल, 22 जुलाई 2022 को फुलवारीशरीफ में चन्द संदिग्धों के खिलाफ आतंकवादी गतिविधियों की साजिश के आरोप में एफआईआर दर्ज हुई थी। इस पूरे मामले में पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) पर एनआईए की गिरफ्त देखने को मिल रही है।

पीएफआई के प्रदेश अध्यक्ष मुजफ्फर टोला के रहने वाले महबूब आलम नदवी और पीएफआई के एक और सदस्य कटोथिया वासी अब्दुल रहमान के घर गुरुवार सुबह तलाशी ली गई।

एसपी जितेंद्र कुमार ने बताया, “फुलवारीशरीफ मामले में संदिग्धों की तलाशी ली जा रही है।” छापेमारी के बाद एनआईए की टीम ने महबूब आलम नदवी के बड़े भाई मीर जहां को पूछताछ के लिए थाने ले गयी है।

इसी मामले में अररिया के जोकीहाट में एहसान परवेज नामक एक व्यक्ति के घर पर भी छापेमारी की गई। एहसान परवेज एसडीपीआई के प्रदेश महासचिव हैं।

गुरुवार सुबह एनआईए की टीम स्थानीय पुलिस के साथ एहसान परवेज के आवास जोकीहाट क्षेत्र के सिमरिया पंचायत समिति आरतिया गांव पहुंची। सुबह 6 बजे पुलिस और एनआईए का 3 गाड़ियों का काफिला आरतिया गांव पहुंचा। घर पर आरोपी के परिवार का कोई सदस्य नहीं मिला।

करीब 5 घंटे तक चली इस तलाशी में पुलिस और एनआईए टीम ने क्या क्या बरामद किए, इसके बारे में अभी तक कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है।

गांव वासियों के अनुसार, पिछले दिनों पटना में छापेमारी के दौरान ही आरतिया गांव में भी पुलिस आई थी। उसके बाद से एहसान परवेज की माँ अपनी बेटी के घर जाकर रहने लगी।

एनआईए की टीम ने एहसान परवेज़ के बड़े भाई तहसीन परवेज से पूछताछ की।

पिछले 2 महीनों से एनआईए की टीम बिहार के 30 से अधिक जगहों पर छापेमारी कर चुकी है।


भाजपा नेताओं की बैठक, गृह मंत्री अमित शाह के सीमांचल दौरे की तैयारी तेज

स्कूल में घुसकर दलित प्रधानाध्यापिका से मारपीट, 20 दिन बाद भी गिरफ्तारी नहीं


सीमांचल की ज़मीनी ख़बरें सामने लाने में सहभागी बनें। ‘मैं मीडिया’ की सदस्यता लेने के लिए Become A Member बटन पर क्लिक करें।

Become A Member

This story has been done by collective effort of Main Media Team.

Related News

सैलानियों को लुभा रही उत्तर बंगाल की बंगाल सफारी

लोक पर्व मधुश्रावणी शुरू, गूंजने लगे भक्ति गीत

सीमांचल में कागजों पर प्रतिबंधित मैनुअल स्कैवेंजिंग

‘गोरखालैंड’ का जिन्न फिर बोतल से बाहर

SDRF की एक टीम के भरोसे सीमांचल के 1.08 करोड़ लोग

सिलीगुड़ी पंचायत चुनाव: लाल, हरा व गेरुआ पार्टी की इज्जत का सवाल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latests Posts

सहरसा का बाबा कारू खिरहर संग्रहालय उदासीनता का शिकार

Ground Report

स्कूल जर्जर, छात्र जान हथेली पर लेकर पढ़ने को विवश

सुपौल: पारंपरिक झाड़ू बनाने के हुनर से बदली जिंदगी

गैस कनेक्शन अब भी दूर की कौड़ी, जिनके पास है, वे नहीं भर पा रहे सिलिंडर

ग्राउंड रिपोर्ट: बैजनाथपुर की बंद पड़ी पेपर मिल कोसी क्षेत्र में औद्योगीकरण की बदहाली की तस्वीर है

मीटर रीडिंग का काम निजी हाथों में सौंपने के खिलाफ आरआरएफ कर्मी