मोदी सरकार को सत्ता में आए हुए 30 मई, रविवार को 7 साल पूरे हो गए इसलिए बीजेपी और उसके नेताओं ने उपलब्धियां गिनाने में कोई कमी नहीं छोड़ी। लेकिन सरकार की आलोचना करने में विपक्ष ने भी अपनी तरफ से कोई कसर नहीं छोड़ी। कांग्रेस ने कहा कि मोदी विश्व में अपनी छवि चमकाने में इतने मशगूल हो गए कि देश की छवि को ही दांव पर लगा दिया। बिहार में आरजेडी ने तो बकायदा पोस्टर जारी करके बोला मोदी तेरे सात साल में जनता हुई बेहाल, इसके साथ ही आलोचनाओं की लिस्ट बनाकर जारी कर दी। पप्पू यादव और कन्हैया कुमार भी पीछे नहीं रहे उन्होंने सरकार को बधाई देते हुए अपने ही जाने पहचाने अंदाज में हंसी उड़ाई।

आरजेडी ने इस मौके पर एक पोस्टर जारी किया जिसमें उन्होंने एक बड़ी सी हेड लाइन दी – ‘मोदी तेरे सात साल में जनता हुई बेहाल’। इसके बाद उन्होंने पोस्टर में लिखा कि केंद्र सरकार ने सात साल में रेल, भेल, गेल, बीएसएनएल, एलआईसी को पूंजीपतियों के हाथ में सौंप दिया। पार्टी ने कहा कि बीजेपी सरकार में सरसों का तेल 200 रुपये, एलपीजी 960 रुपये, पेट्रोल 100 रुपये और डीजल 93 रुपये हो गए हैं। आपने हमारे भारत को एशिया का गरीब देश बना दिया है। युवाओं को 2 करोड़ नौकरी देने का वाद किया था, लेकिन नौकरी नहीं बल्कि उनको ठगने का काम किया है।

2 करोड़ जॉब के मुद्दे पर तो कांग्रेस ने भी मोदी सरकार को घेरा और बोला 45 साल में बेरोगारी दर सबसे ऊपर है।

पप्पू यादव वैसे तो जेल में हैं, लेकिन उनकी टीम ट्वीटर पर खूब एक्टिव रहते है। उन्होंने सरकार की आलोचना में अपने ट्वीटर हैंडल पर लिखा ‘दिन-रात जगमगाता श्मशान लगातार खोदा जाता कब्रिस्तान…. और कितनी तरक्की चाहते हो बे!’

पप्पू यादव ने एक और ट्वीट किया जिसमें वो केन्या से भारत को 12 टन खाद्ध पदार्थ की मदद पर मजाक उड़ाते दिखे। असल में केन्या करीब 5 करोड़ की आबादी का एक छोटा सा अफ्रीकी देश है जिसने हाल ही में भारत को मदद भेजी है। इसी पर पप्पू यादव तंज कसते हुए नजर आए कि क्या भारत के इतने बुरे दिन आ गए है कि हम छोटे-छोटे देश युगांडा, रवांडा से मदद का इंतजार कर रहे हैं।

बिहार से आने वाले कन्हैया कुमार जो बीजेपी के बड़े विरोधी है, उन्होंने कहा कि सरकार की मूर्खता और महंगाई में भारी कम्पटीशन चल रहा है। दोनों बराबर बढ़त बनाए हुए है।

बीजेपी की ओर से स्वास्थ मंत्री हर्षवर्धन ने 45 सेंकेड का वीडियों जारी किया, जिसमें उन्होंने सरकार के सात साल में सात बड़े फैसले गिनाएं। उन्होंने 2016 में हुई नोटबंदी, 2016 की सर्जिकल स्ट्राइक, 2017 में लागू हुआ GST, 2018 में तीन तलाक़, 2019 में जम्मू में धारा 370 हटी, 2020 में राष्ट्रीय चिकित्सा आयोग की स्थापना और 2020 में CAA लागू करने को सरकार की सफलता बताई।

जबकि कांग्रेस ने एक पोस्टर में बताया कि भारत हंगर इडेक्स में 107 देशों की लिस्ट में 94 पर है, शांति में 163 के बीच भारत का स्थान 139 वां है, हेल्थकेयर में हम 195 देशों के बीच 145 वें नंबर आते है, प्रेस की आजादी में हम 180 देशों के बीच में 142 वें स्थान पर आते है। ऐसे ही कई और सूचियों के साथ कांग्रेस ने बोला कि भारत की स्थिति शर्मनाक बनाने का श्रेय मोदी जी को जाता है। पीएम मोदी विश्व में अपनी छवि चमकाने में इतन मशगूल हो गए कि देश की छवि को ही दांव पर लगा दिया।